दद्दू का दरबार : हॉकी के जादूगर

प्रश्न: दद्दू जी, एक बार फिर देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारतरत्न के लिए मेजर ध्यानचंद की अनदेखी होने से दु:खी हॉकी दिग्गजों ने कहा है कि भारत को खेल मानचित्र पर पहचान दिलाने वाले खेल और खिलाड़ी को यूं नकारना 'दुर्भाग्यपूर्ण' है। क्या आप बता सकते हैं कि अबतक की सरकारों चाहे वे कांग्रेसी हों, भाजपाई हों या फिर मिली-जुली, सभी इस अनदेखी में क्यों शामिल हैं? 
 
उत्तर: देखिए मेजर ध्यानचंद को हॉकी का जादूगर माना जाता है। इस दुर्भाग्य पूर्ण अनदेखी का तो बस एक ही कारण हो सकता है कि देश के इस सर्वोच्च सम्मान के लिए व्यक्ति का चयन करने वाली समिति के सदस्यों ने उनके ‘हॉकी के जादूगर’होने का अर्थ यह लगा लिया हो कि उन्होंने इस खेल क्षेत्र में अपनी सारी उपलब्धियां अपनी मेहनत तथा प्रतिभा के बल पर नहीं बल्कि किसी जादू के दम पर हासिल की।  
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख अगर शाहरुख खान पुलिस ऑफिसर बने तो रणबीर सिंह निभाएंगे कॉन्स्टेबल का किरदार!