Shri Ganesh visarjan 2019 : श्री गणेश को कर रहे हैं बिदा तो यह 1 मंत्र जरूर बोलें

श्री गणेश विसर्जन से पूर्व स्थापित गणेश प्रतिमा का संकल्प मंत्र के बाद षोड़शोपचार पूजन-आरती करें। गणेशजी की मूर्ति पर सिंदूर चढ़ाएं। मंत्र बोलते हुए 21 दूर्वा-दल चढ़ाएं। 21 लड्डुओं का भोग लगाएं। इनमें से 5 लड्डू मूर्ति के पास चढ़ाएं और 5 ब्राह्मण को प्रदान कर दें। शेष लड्डू प्रसाद के रूप में बांट दें। पूजन के समय यह मंत्र बोलें-
 
ॐ गं गणपतये नम:
 
दूर्वा-दल चढ़ाते समय यह मंत्र बोलें 
 
गणेशजी को 21 दूर्वादल चढ़ाई जाती है। दो दूर्वा-दल नीचे लिखे नाममंत्रों के साथ चढ़ाएं। 
 
ॐ गणाधिपाय नम:    
 
ॐ उमापुत्राय नम:
 
ॐ विघ्ननाशनाय नम:    
 
ॐ विनायकाय नम:
 
ॐ ईशपुत्राय नम:    
 
ॐ सर्वसिद्धप्रदाय नम:
 
ॐ एकदन्ताय नम:    
 
ॐ  इभवक्त्राय नम:
 
ॐ मूषकवाहनाय नम:    
 
ॐ कुमारगुरवे नम:    
 
इसके बाद श्रीगणेश की आरती उतारें और विसर्जन स्थल पर ले जाकर पुन: एक बार आरती करें व गणेश प्रतिमा जल में विसर्जित कर दें और यह मंत्र बोलें-
 
यान्तु देवगणा: सर्वे पूजामादाय मामकीम्।
इष्टकामसमृद्धयर्थं पुनर्अपि पुनरागमनाय च ॥
 
यदि नदी या तालाब से थोड़ा जल लेकर गणेश प्रतिमा पर चढ़ा दिया जाए तो यह भी विधिवत विसर्जन ही माना जाएगा, ऐसा धर्म ग्रंथों में उल्लेख है।

ALSO READ: गणेश विसर्जन शुभ मुहूर्त 2019 : यहां मिलेंगे आपको सबसे अच्छे चौघड़िया मुहूर्त

ALSO READ: Ganesh Utsav 2019 : श्री गणेश को कैसे करें बिदा, जानिए सरल और सही विधि

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख आपको भी जानना जरूरी है ये 12 प्रकार के विशेष श्राद्ध, जानिए पुराणों के अनुसार