Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

गुजरात में शादियां और चुनाव साथ-साथ, लोगों को वोट डालने के लिए कैसे मनाएंगे नेता?

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 8 नवंबर 2022 (11:09 IST)
अहमदाबाद। गुजरात में विधानसभा चुनावों के साथ ही शादियों के मौसम भी शुरू हो गया है। यहां तक कि मतदान के आसपास भी सैकड़ों शादियां है। ऐसे में बड़ी संख्या में लोगों के विवाह आयोजनों और उनकी तैयारियों ले व्यस्त रहने की संभावना है। ऐसे में नेताओं के सामने बड़ी समस्या लोगों को मतदान के लिए प्रेरित करने की है।
 
विवाह आयोजन से जुड़े लोगों के अनुसार, 2, 4 और आठ दिसंबर को शादियों के लिए शुभ मुहुर्त है और इन तारीखों पर सैकड़ों वैवाहिक कार्यक्रम होने की संभावना है। वहीं, गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए मतदान 1 और 5 दिसंबर को दो चरणों में होना है। मतों की गिनती आठ दिसंबर को होगी।
 
कुछ वेडिंग प्लानर्स के अनुसार, 22 नवंबर से शादी का मौसम काफी व्यस्त भरा रहेगा और यह 16 दिसंबर को ‘कामुर्ता’ अवधि की शुरुआत होने तक चलेगा। उन्होंने कहा कि 22 नवंबर से 16 दिसंबर के बीच सैकड़ों शादियों की योजना है, जिसमें दो, चार और आठ दिसंबर को अच्छा मुहुर्त है।
 
उन्होंने कहा कि रात्रि कर्फ्यू और अतिथियों की सीमित संख्या जैसी कोविड-19 पाबंदियां हटने से इस साल सर्दी के मौसम में विवाह कार्यक्रमों में लोगों की संख्या अत्यधिक बढ़ने वाली है।
 
वडोदरा की एक कंपनी ‘शादी प्लानर’ से आनंद ठकरार ने कहा कि शादियों का मौसम है और बड़ी संख्या में ऐसे आयोजन की योजना है। कोविड-19 संबंधी पाबंदियां भी हटी हैं। ऐसे में लोगों की संख्या (आयोजन में मेहमानों की संख्या) 500-1,000 तक बढ़ने की उम्मीद है।
 
अहमदाबाद से पुजारी कमलेश त्रिवेदी ने कहा कि शादी के शुभ मुहूर्त 25 नवंबर और 14 दिसंबर के बीच हैं। इसके बाद 16 दिसंबर से करीब एक महीने की ‘कामुर्ता’ अवधि होगी।
 
कांग्रेस की गुजरात इकाई के प्रवक्ता मनीष दोशी ने कहा कि लोगों ने शादियां तय कर ली हैं और उन्हें चुनाव के लिए टाला नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि हम उन्हें वोट डालने की खातिर कुछ समय निकालने के लिए मनाने की कोशिश करेंगे। शादी निस्संदेह महत्वपूर्ण है, लेकिन वे लोकतंत्र के इस उत्सव में भाग लेने के लिए कुछ समय निकाल सकते हैं।
 
गुजरात आम आदमी पार्टी (आप) के प्रवक्ता करण बरोट ने कहा कि यह लोगों की जिम्मेदारी है कि वे एक अच्छे उम्मीदवार की जीत सुनिश्चित करें, चाहे वह किसी भी राजनीतिक दल का हो।
Edited by : Nrapendra Gupta (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

राजनाथ ने क्यों कहा? कांग्रेस ‘वाइड बॉल’, आप ‘नो बॉल’, केवल भाजपा सही ‘लेंथ की बॉल’