मोदी का राहुल पर हमला, कहा कांग्रेस को मुबारक हो औरंगजेब राज

सोमवार, 4 दिसंबर 2017 (16:07 IST)
धरमपुर (गुजरात)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने गृहराज्य गुजरात में चुनावी प्रचार के दौरान सोमवार को भी कांग्रेस पर तीखे हमलों और 'गुजरात विरोधी' होने का आरोप लगाने का क्रम जारी रखा तथा पार्टी अध्यक्ष पद के चुनाव को भी 'औरंगजेब राज' कहकर इस पर तंज कसा।
 
मोदी ने दक्षिण गुजरात के वलसाड़ जिले के आदिवासी बहुल धरमपुर के मालनपाड़ा मैदान में चुनावी सभा में कहा कि पहले भी देश को एक करने वाले सरदार पटेल से अन्याय कर चुके और वलसाड़ की संतान मोरारजी देसाई को प्रधानमंत्री बनाने के डर से जेल में डाल चुकी कांग्रेस गुजरात की प्रगति, गुजरात के नाम अथवा गुजरात के किसी व्यक्ति को सहन नहीं कर पाती। ऐसा एक भी दिन भी नहीं बीतता, जब कांग्रेस का कोई न कोई नेता गुजरात को गाली न देता हो। उन्हें इसके बिना चैन नहीं आता। यह बिहार, उत्तरप्रदेश अथवा बंगाल या राजस्थान को ऐसे बदनाम नहीं करता था? 

उन्होंने कहा कि गुजरात के लिए इतनी नफरत रखने वालों को एक बार ऐसा सबक सिखाना होगा कि ये राज्य को बेआबरू करना बंद कर दें। चुनाव में इनका सफाया कर देना होगा। गुजरात किसी की मेहरबानी से जिंदा नहीं है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि उनकी 4 पीढ़ियों ने गुजरात को तहस-नहस करने का प्रयास किया, पर इसे कोई आंच नहीं आई, क्योंकि यह गुजरात की ताकत है। 
 
कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव की चर्चा करते हुए मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने लाज-शर्म छोड़ दी है। पार्टी अदालत से जमानत लेने वाले (राहुल) को अध्यक्ष बनाने को मजबूर है। इसका मतलब यह है कि पार्टी का दीवाला निकल गया है। इसके पास कुछ बचा ही नहीं और इसमें कैसे लोग ऊपर आने वाले हैं? यह इसका संकेत देता है। 
 
उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने सोमवार को कहा कि जहांगीर की जगह जब शाहजहां और उनकी जगह औरंगजेब आए तो कहां चुनाव हुआ था? जो बादशाह है, उसकी औलाद को ही सत्ता मिलेगी। कांग्रेस के नेता खुद ही मानते हैं कि सत्ता पर बादशाह की औलाद ही आएगी। यह औरंगजेब राज उन्हें ही मुबारक। हमारे लिए देश और देशवासी बड़े हैं और ये ही हमारे आलाकमान हैं। 
 
मोदी ने अल्पसंख्यकों के मुद्दे पर भी कांग्रेस पर प्रहार करते हुए कहा कि 2007 और 2012 के गुजरात चुनाव में कांग्रेस नेताओं के भाषण में केवल एक ही बात होती थी कि भाजपा सांप्रदायिक है। अल्पसंख्यकों, मुसलमानों की दुश्मन है। 2017 में ऐसा आरोप कांग्रेस नहीं लगा रही, क्योंकि उसने स्वीकार कर लिया है कि यह गलत बात थी और यह सब मुस्लिम वोटबैंक के लिए था। मुस्लिम भी इसकी हकीकत जान गए हैं।
 
मोदी ने कहा कि उत्तरप्रदेश में जहां कांग्रेस की 5 पीढ़ियां पांव जमाकर बैठी थीं, एक के बाद एक प्रधानमंत्री एक ही परिवार से आते थे वहां की जनता इसे पहचान गई और पार्टी वहां साफ हो गई। मोदी का भी 2019 में कुछ हो सकेगा, यह दिखता नहीं। कांग्रेस ने सोचा कि कहीं और कुछ नहीं होता तो गुजरात में ही मोदी को गिरा दो, तो उनकी बात फिर सब मानने लगेंगे। पर गुजरात के विकास में रुकावट डालने वालों को राज्य की जनता माफ नहीं करेगी। 
 
भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि वे इतने साल तक गुजरात के मुख्यमंत्री थे और अब प्रधानमंत्री हैं, पर क्या किसी ने यह खबर पढ़ी है कि वे या उनके परिजन अथवा कोई दामाद इतना पैसा ले गया? कांग्रेस के शासन में 2जी, कोयला घोटाला, हेलीकॉप्टर, पनडुब्बी जैसे लाखों करोड़ के घोटाले सामने आते थे। मोदी ने नोटबंदी को लेकर भी कांग्रेस पर प्रहार जारी रखा।
 
उन्होंने अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा दिलाने में रुकावट डालने के लिए भी कांग्रेस पर हमला बोला। मोदी ने गुजरात में आदिवासी क्षेत्रों का विकास नहीं करने को लेकर भी विपक्षी दल पर प्रहार किए। उन्होंने यह भी बताया कि कांग्रेस सरकार के शासन में बांस के पेड़ अथवा घास होने का दावा करने वाले विरोधाभासी कानून थे। उनकी सरकार बांस को घास मानने वाला अध्यादेश लाई है और अब कानून भी लाएगी। (वार्ता)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख श्रीलंका वन-डे के बाद 'धोनी' लेंगे रिटायरमेंट