प्रोटीन, विटामिन तो ठीक है लेकिन क्या सही मात्रा में ले रहे हैं मैग्नीशियम? ऐसे जानें

आपके शरीर में मैग्नीशियम की जरूरत उतनी ही है जितनी किसी अन्य विटामिन या मिनरल की होती है। मैग्नीशियम की सही मात्रा शरीर में पहुंचने पर आपके मसल्स और नर्वस सिस्टम स्वस्थ रहते हैं। हार्ट के फंक्शन ठीक से होते हैं और हड्डियां मजबूत रहती हैं। मैग्नीशियम से आपके शरीर में ग्लूकोज सही मात्रा में रहता है जिससे शरीर में सही मात्रा में प्रोटीन और ऊर्जा बनती रहती है। 
 
क्या आप जानते हैं कि आपके शरीर को मैग्नीशियम की जरूरत करीब 300 बायोकेमिकल रिएक्शन के लिए होती है? हम आपको बता रहे हैं कि ऐसे 6 लक्षण जिनसे आप ये पता कर सकते है कि आप सही मात्रा में मैग्नीशियम ले रहे हैं या आपके शरीर में जरूरत से कम मैग्नीशियम पहुंच रहा है -

ALSO READ: महिलाओं में फर्टिलिटी बढ़ाती हैं ये 5 चीजें, आज से ही शुरू कर दें सेवन
 
1. एनर्जी की कमी : मैग्नीशियम की कमी से आपको एनर्जी की कमी महसूस होगी। आपको आराम करने के बाद भी थकावट लगती रहेगी।
 
2. पैर मुड़ना और नसों में खिंचाव : मैग्नीशियम आपके मसल्स के फंक्शन का नियंत्रण करता है। मसल्स का बढ़ना, सिकुड़ना और उन्हें आराम देने को नियंत्रित करता है। मैग्नीशियम की कमी से आपको पैरों की नसों में खिंचाव और मुड़ने की समस्या हो सकती है।
 
3. बार-बार सिरदर्द होना : आपको बार-बार होने वाले सिरदर्द का कारण समझ नहीं आ रहा? मैग्नीशियम की कमी इसका कारण हो सकती है। मैग्नीशियम की कमी से आपके शरीर में सेरोटोनिन का बनना कम हो जाता है। इससे मस्तिष्क को सही मात्रा में खून नहीं पहुंच पाता।

ALSO READ: आयुर्वेद में बताए हैं आम खाने के यह 5 'खास' फायदे, क्या आप जानते हैं?
 
4. नींद की कमी : मैग्नीशियम की कमी से आपको कम नींद आने लगती है। मैग्नीशियम की कमी से स्ट्रेस हो सकता है, दिल की धड़कने बढ़ सकती है और आपको सोने में मुश्किल आ सकती है।
 
5. तेज आवाज से तकलीफ : यूं तेज आवाज किसी को भी सहन नहीं होती लेकिन मैग्नीशियम की कमी आपको ज्यादा ही सेंसिटिव बना देती है। कम मैग्नीशियम के कारण आपका नर्वस सिस्टम कमजोर हो जाता है और आप अधिक सेंसिटिव हो जाते हैं।
 
6. कब्ज होना : सिर्फ आपकी डाइट में फायबर की कमी नहीं बल्कि मैग्नीशियम की कमी से भी आपका हाजमा बिगड़ सकता है। आपको इस बात पर भरोसा तब होगा जब आपको पता चलेगा कि हाजमे की अधिकतर दवाओं में मैग्नीशियम होता है।
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख roop chaturdashi 2019 : रूप चौदस को क्यों कहते हैं काली चौदस? क्यों करें काली आराधना