जानिए, बच्चों में डायरिया के 5 प्रमुख कारण व घरेलू उपाय

डायरिया वह सेहत समस्या है जिसमें बच्चों को दिन भर में तीन या उससे भी अधिक बार पानी की तरह पतले दस्त होना। इसके अलावा कई बार बुखार और उल्टी भी होती है। ऐसे में बच्चों में पानी और पोषक तत्वों की कमी होने के साथ-साथ अत्यधिक कमजोरी भी हो जाती है। इससे बचने के लिए आपको जरूर जान लेना चाहिए डायरिया के प्रमुख कारण और घरेलू उपाय -
 
ALSO READ: गर्भावस्था में फायदेमंद है टमाटर का सेवन, जानिए कैसे...
 
1 अधिक गर्म या नमीयुक्त वातावरण के साथ-साथ दूषित खानपान डायरिया के प्रमुख कारणों में शामिल हैं।
 
2 डायरिया पैदा करने के लिए प्रमुख रूप से रोटा वायरस जिम्मेदार होता है जिसके इंफेक्शन की वजह से डायरिया होता है।
 
3 पानी का साफ न होना या फिर कई बार बाहर का दूध पिलाने पर बच्चों में डायरिया हो सकता है, अगर दूध मिलावटी हो तो यह संभावना और भी बढ़ जाती है।

ALSO READ: गर्भावस्था में इन चीजों का सेवन कर दें कम, वरना हो सकती है परेशानी
 
4 दांत निकलने के समय भी बच्चों में यह समस्या आती है, क्योंकि इस समय मसूड़ों में संवेदनशीलता के कारण वे चुछ न कुछ चबाते हैं जो कई बार साफ नहीं होता और यह डायरिया का कारण बनता है।
 
5 अगर बच्चों को लंबे समय तक एंटीबायोटिक्स दिया जाता है, तो यह डायरिया का कारण बनता है।

ALSO READ: गर्भावस्था के दौरान लिपस्टिक और मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करना घातक...
 
डायरिया होने पर यह घरेलू उपाय आजमाएं -
 
1 एक गिलास पानी में दो चम्मच शकर और चुटकी भर नमक और नींबू के रस की कुछ बूंदें मिलाकर बच्चे को पिलाएं।
 
2 नारियल पानी पिलाना भी फायदेमंद होगा, अत: कच्चे नारियल का पानी बच्चे को पिलाएं जिससे पोषक तत्व भी मिलें और डायरिया से राहत भी मिले।
 
3 दाल का पानी, चावल का मांड, दही केला, हल्की चाय व हल्का पाचक भोजन दें।

ALSO READ: मक्खी-मच्छर ही नहीं, बरसात में इन 7 जीवों से भी रहें सावधान

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख पति का ऑफिस में एक लड़की से चक्कर चल रहा है : यह चुटकुला मजेदार है