क्या आपको भी होती है सांस फूलने की परेशानी? तो ये जानकारी है आपके लिए...

आपने आस-पास, परिवार या रिश्तेदार में किसी न किसी को सांस फूलने की समस्या का सामना करते जरूर देखा होगा। सांस फूलना यानी उसे लेने में दिक्कत होना, ये समस्या नीचे बताए गए कारणों में से किसी वजह से हो सकती है। आइए, जानें -
 
1 जिन महिलाओं को पीरियड्स में अधिक रक्तस्राव (ब्लीडिंग) होती हैं व जो लोग खून की कमी से पीड़ित हो, यानी कि जिन्हें अनीमिया की शिकायक हो, तो ये सांस फूलने एक बहुत बड़ा कारण हो सकता है।
 
2 अक्सर मोटे लोगों को यह शिकायत करते सुना गया है कि जरा सी सीढ़ी चढ़ने पर उनकी सांस फूलने लगती है। इसलिए मोटापे को कंट्रोल करके भी इस सांस फूलने की परेशानी से बचा जा सकता है।
 
3 श्वास नली व उस की शाखाओं में सूजन भी सांस फूलने की परेशानी का एक कारण है।
 
4 फेफड़ों संबंधी किसी तरह की समस्या होने पर भी सांस फूलने की परेशानी हो सकती है। कई बार फेफड़ों की बाहरी औक्सीजन सोखने की क्षमता कम हो जाती है और जरा सा चलने पर सांस फूलने लगती है।
 
5 दिल संबंधित समस्या होना भी सांस फूलने के कारणों में से एक है।
 
सांस फूलने की परेशानी से बचने के लिए इन बातों को अपनाएं -
 
1 कोशिश करें कि नियमित व्यायाम को अपनी दिनचर्या में शामिल करें, जिनती कम उम्र में व्यायाम को अपना लेंगे, उतना ही अच्छा होगा।
 
2 कुछ देर धूप जरूर लें, और धूल-धक्कड़ से दूर रहें।
 
3 मोटापा किसी भी हालत में न पनपने दें।
 
4 रोज तकरीबन 350 ग्राम सलाद व 350 ग्राम फलों का सेवन करें। प्रोटीन भरपूर मात्रा में लें। पत्तेदार सब्जियों का नियमित सेवन करें. किसी तरह के धूम्रपान व तंबाकू के सेवन से बचें और शराब न पीएं।
 
नोट : सांस फूलने की परेशानी में अपनी ओर से एहतियात बरतने के अलावा, डॉक्टर से परामर्श करना कतई न भूलें।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख देवशयनी एकादशी 2019 : इस विशेष हरिशयन मंत्र से सुलाएं भगवान विष्णु को,सोते-सोते भी देव देंगे आशीर्वाद