अगर आप बीड़ी, सिगरेट या तंबाकू के शौकीन हैं, तो आपके बच्चे में हो सकती है ये कमी

धूम्रपान या स्मोकिंग करना सेहत के लिए कितना खतरनाक हो सकता है, ये खुद इन चीजों का विज्ञापन देने वाली कंपनियां भी मानती हैं। अब तक आपने सिर्फ धूम्रपान करने वाले लोगों पर इसके दुष्परिणामों के बारे में सुना या देखा होगा, लेकिन यह उनके बच्चों के लिए भी खतरनाक है।
 
जी हां, अगर आप भी धूम्रपान के शौकीन या आदत के शिकार हैं, तो यह आदत न केवल आपके लिए घातक है, बल्कि आपके बच्चों के लिए भी बेहद नुकसानदायक साबित हो सकती है।
 
रिसर्च में इस बात का खुलासा हो चुकी है, कि जो लोग धूम्रपान करते हैं उनके बच्चे, खास तौर ये बेटों में यह सीधे तौर पर प्रभाव डालता है। यह लड़कों में शुक्राणुओं के कमी के रूप में घातक हो सकता है। 
 
शोध बताते हैं कि अगर आप धूम्रपान के आदि हैं तो आपके बेटे में शुक्राणुओं की कमी हो सकती है और अगर आपके पिता धूम्रपान की आदत के शिकार हैं, तो इसका खामियाजा शुक्राणुओं की कमी के रूप में आपको भुगतना पड़ सकता है। 
 
यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि जो पुरुष अपने साथी के गर्भकाल के दौरान धूम्रपान करते हैं, उनके बच्चों में अन्य बच्चों की तुलना में शुक्राणु संख्या 50 फीसदी तक कम हो सकती है। स्वीडन की एक यूनिवर्सिटी के अनुसंधानकर्ताओं ने स्वीडन के 17 से 20 वर्ष आयुवर्ग के 104 लोगों पर यह अध्ययन किया। 
 
अनुसंधानकर्ताओं के अनुसार जब उन्होंने गर्भवती महिला के निकोटिन के संपर्क में आने, सामाजिक आर्थिक कारक और भावी पिता की धूम्रपान की आदत के बीच संबंध देखा तो पता चला कि धूम्रपान करने वाले व्यक्ति के बच्चों में उन बच्चों की तुलना में शुक्राणु संख्या 51 फीसदी कम थी जिनके पिता धूम्रपान नहीं करते थे। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख सिर्फ 1 मिनट में, चम्मच से जानिए अपनी सेहत का हाल