तेजपत्ते का काढ़ा दूर करेगा कई सेहत समस्याओं को, जानिए इसे बनाने की विधि

सभी की रसोई में मसालों की सामग्री में तेजपत्ता प्रमुखता से रहता है। ये केवल भोजन का जायका ही नहीं बढ़ाता बल्कि इसका काढ़ा बनाकर पीने से आपको कई सेहत समस्याओं में भी आराम मिलता है।
 
तेजपत्ते में कॉपर, पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, सेलेनियम और आयरन काफी मात्रा में मौजूद होता है। इसमें कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट्स होते है जो कैंसर, ब्लड क्लॉटिंग और दिल संबंधित कई गंभीर बीमारियों से बचाने में भी मदद करते हैं। आइए, जानते हैं कि तेजपत्ते का काढ़ा कैसे बनाना है-
 
* आप 10 ग्राम तेजपत्ता, 10 ग्राम अजवायन और 5 ग्राम सौंफ को एक साथ पीसकर मिश्रण तैयार कर लें। अब इस मिश्रण को 1 लीटर पानी में डालकर अच्छी तरह से उबाल लें। जब पानी उबलने के बाद 100-150 मिलीलीटर बच जाए तो गैस बंद कर दें। कुछ देर बाद जब ये मिश्रण ठंडा जाएगा तो आपका काढ़ा पीने के लिए तैयार है।
 
आइए, जानते हैं तेजपत्ते का काढ़ा पीने के फायदे -
 
1 अगर किसी को काफी समय से कमर दर्द हो, तो इस काढ़े को पीने से जल्दी आराम मिलता है। आप चाहें तो कमर पर तेजपत्ते के तेल से मालीश भी कर सकते है।
 
2 शीत लहर से होने वाले शारीरिक दर्द को भी ये काढ़ा दूर करने में मदद करता है।
 
3 अगर कही पर मोच आ गई हो, तो सूजन और दर्द से राहत देने में तेजपत्ते का काढ़ा सहायक होता है। आप चाहें तो तेजपत्ता को पीसकर उसका लेप भी दर्द वाली जगह पर लगा सकते हैं इससे भी राहत मिलती है।
 
4 अगर नसों में सूजन हो या नसों में खिंचाव, तो भी तेजपत्ते का काढ़ा आराम पहुंचाता है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख साबुत धनिये में छिपा है सेहत का खजाना, जानें इसके सेवन से होने वाले फायदे