बंगाली खिचड़ी : संक्रांति पर खासतौर पर बनाया जाता है मटर-गोभी का यह लाजवाब व्यंजन

सामग्री : 250 ग्राम बासमती चावल, 100 ग्राम मूंग की दाल, एक फूल गोभी (छोटे साइज में), 100 ग्राम मटर दाना, 2 मध्यम आकार के आलू। 
 
मसाला सामग्री (खिचड़ी के लिए) : 1 टुकड़ा अदरक, 2 हरी मिर्च, आधा चम्मच हल्दी, थोड़ी-सी शक्कर, 2 खड़ी लाल मिर्च, आधा चम्मच जीरा, चुटकीभर हींग, 1 चम्मच सफेद तिल, 1 टुकड़ा दालचीनी, तेजपान के पत्ते 2, 3 लौंग, 2 छोटी इलायची, एक बड़ा चम्मच देशी घी, स्वादानुसार नमक, घी में तले हुए कुछेक काजू के टुकड़ें, हरा धनिया।
 
विधि : 
 
बंगाली स्टाइल में भूनी खिचड़ी बनाने के लिए सबसे पहले चावल दो-तीन बार पानी बदल कर हाथ से मसलकर धो लें। अब आलू को छीलकर लंबे टुकड़ों में काट लें। फूल गोभी को भी बड़े-बड़े टुकड़ों में काट कर रख लें। अदरक कद्दूकस कर लें और हरी मिर्च काटकर रख लें।
 
 
अब एक कड़ाही में मूंग की दाल को धीमी आंच पर गुलाबी होने तक भून लें। भूनते समय घी न डालें। अब इसमें घी, खड़ी लाल मिर्च, जीरा एवं हींग को छोड़कर बाकी सारी सामग्री और धुले हुए चावल मिलाकर आधा लीटर गरम पानी में धीमी आंच पर पका लें। (पानी अपनी जरूरत के अनुसार कम-ज्यादा कर सकते हैं) ध्यान रहें कि इसे ढंककर पकाएं। इस दौरान बीच-बीच में चलाती रहे। पूरी तरह पक जाए तो समझ लीजिए की आपकी खिचड़ी तैयार हैं।

 
इसे परोसने से पहले एक अलग बर्तन में घी गर्म करके खड़ी लाल मिर्च, जीरा, सफेद तिल और हींग का छौंक लगाकर खिचड़ी में ऊपर से डाल दें। अच्छी तरह मिलाएं और हरा धनिया और काजू के टुकड़ें बुरकाकर तैयार लाजवाब बंगाली मटर-गोभी की खिचड़ी गरमा-गरम पेश करें। 

ALSO READ: मकर संक्रांति पर बनाएं बच्चों के मनपसंद चॉकलेटी-तिल लड्डू
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख बुध प्रदोष व्रत से पूर्ण होती हैं सर्व मनोकामनाएं, पढ़ें व्रत कथा