Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

साइबर फोरेंसिक विज्ञान के छात्रों का पुलिस कंट्रोल रूम भ्रमण

हमें फॉलो करें webdunia
शुक्रवार, 24 जून 2022 (19:35 IST)
इंदौर। आज़ादी का अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य तहत कमिश्नर इंदौर हरिनारायणचारी मिश्र के निर्देशन और रजत सकलेचा, डीसीपी इंटेलिजेंस व सुरक्षा, इंदौर के मार्गदर्शन मे श्री वैष्णव विद्यापीठ विश्वविद्यालय इंदौर के फोरेंसिक विज्ञान के बीएससी और एमएससी साइबर फोरेंसिक के छात्रों द्वारा राष्ट्रीय स्तर के साइबर एक्सपर्ट प्रो. गौरव रावल के नेतृत्व में पुलिस कंट्रोल रूम इंदौर कमिश्नरेट का शैक्षिक भ्रमण किया।
 
पुलिस विभाग द्वारा विभिन्न सुविधाओं के सभी व्यावहारिक पहलुओं के साथ पूरी कार्यप्रणाली और प्रक्रियाओं को समझने के लिए छात्रों ने डायल-100 व सीसीटीवी सर्विलेंस सेवा केंद्र का दौरा किया। छात्रों ने असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर सुधीर थोटे के साथ सेंट्रलाइज सीसीटीवी निगरानी प्रणाली से परिचित होने के लिए सीसीटीवी नियंत्रण कक्ष का दौरा किया और शहर के विभिन्न बिंदुओं पर लगाए गए सभी 184 सीसीटीवी कैमरा स्थानों और इसकी निगरानी प्रणाली के पीछे की तकनीकों के बारे मे जाना। 
 
उन्हें एसीपी और इंचार्ज कंट्रोल रूम, सुभाष सिंह के साथ बातचीत करने का भी मौका मिला। साइबर एक्सपर्ट व ट्रेनर प्रो. गौरव रावल ने बताया की छात्र व छात्राएं अपने साथ हुई कोई भी ऑनलाइन दुर्व्यवहार व साइबर ठगी की शिकायत स्थानीय पुलिस, क्राइम ब्रांच, साइबर पुलिस स्टेशन के माध्यम से या ऑनलाइन साइबर हेल्पलाइन पोर्टल www.cybercrime.gov.in के द्वारा गुप्त रूप से भी दर्ज करा सकते हैं।
webdunia
कंट्रोल रूम इंचार्ज, एसीपी सुभाष सिंह ने अपने संवाद सत्र में छात्रों को बताया इंदौर में डायल-100 अनुपालन की स्थिति  93 प्रतिशत है इसके साथ ही एक नया राष्ट्रीय हेल्पलाइन नं 112 सभी प्रकार की आपात स्थितियों (अपराध, आग और दुर्घटना) के लिए भारत सरकार द्वारा लांच किया गया है, नागरिकों को इसके लिए ऐप डाउनलोड करना चाहिए। आप वालेंटियर के रूप में इस ऐप (112) में अपना केवाईसी अपडेट करें, इससे आपको पुलिस बल के साथ-साथ उनके आस-पास किए गए किसी भी अपराध के बारे में भी सूचित किया जा सकता है। आप पुलिस बल के के पहले भी पहुंच सकते हैं और उसके लिए आवश्यक कार्रवाई कर सकते हैं।
 
फोरेंसिक साइन्स विभाग की ओर से प्रो. नंदिनी बंसोड़ और प्रो. दिनेश कामले ने सुभाष सिंह, एसीपी एवं कंट्रोलरूम इंचार्ज कमिश्नरेट इंदौर को स्मृति चिन्ह के रूप में एक फोल्डर के साथ स्वागत किया। प्रो. रावल ने विभाग की और से इस सफल दौरे के लिए पुलिस कंट्रोल रूम व डीसीपी इंटेलिजेंस व सुरक्षा, इंदौर को आभार व्यक्त किया।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

तपन कुमार डेका खुफिया ब्यूरो के प्रमुख नियुक्त, रॉ प्रमुख सामंत गोयल का कार्यकाल बढ़ा