Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

जॉर्डन की राजशाही के खिलाफ साजिश रचने के 2 दोषियों को 15-15 साल कारावास की सजा

हमें फॉलो करें webdunia
सोमवार, 12 जुलाई 2021 (15:55 IST)
अम्मान (जॉर्डन)। जॉर्डन की एक अदालत ने देश की राजशाही के खिलाफ शाह अब्दुल्ला द्वितीय के सौतेले भाई की संलिप्तता वाली साजिश के मामले में 2 पूर्व अधिकारियों को 15-15 साल कैद की सजा सुनाई है। सेना के एक न्यायाधीश लेफ्टिनेंट कर्नल मुवाफक अल-मसाइद ने शाह अब्दुल्ला द्वितीय के शीर्ष सहयोगी रहे एवं अमेरिकी नागरिकता रखने वाले बस्सेम अवदल्लाह और शाही परिवार के सदस्य शरीफ हसन बिन जैद को राजद्रोह और उकसाने के मामले में दोषी पाया। दोनों को 15-15 साल कारावास की सजा सुनाई गई।

 
अवदल्लाह और शरीफ को शाह के सौतेले भाई प्रिंस हमजा के साथ साजिश रचने और विदेशी सहायता मांगने के मामले में 2 षी पाया गया। एक बंद कमरे में सुनवाई के बाद सोमवार को यह फैसला सुनाया गया। शरीफ के वकील अला अल-खसावनेह ने आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि वे फैसले को चुनौती देंगे। उन्होंने इस बारे में कोई और टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। इन दोनों लोगों को अप्रैल में गिरफ्तार किया गया था और हमजा को नजरबंद रखा गया थ। जॉर्डन में सत्तारूढ़ राजशाही के भीतर कलह का यह दुर्लभ सार्वजनिक मामला है।

 
हमजा ने अप्रैल में जारी एक वीडियो संदेश में किसी भी साजिश का हिस्सा होने से इनकार किया था। उन्होंने कहा था कि उन्हें सत्ता के भ्रष्टाचार एवं अक्षमता के खिलाफ बोलने के लिए चुप कराया जा रहा है। शाही परिवार से जुड़े इस नाटकीय घटनाक्रम ने देश में गहरी जड़ें जमा चुकी आर्थिक एवं सामाजिक चुनौतियों को उजागर किया।
 
शाही परिवार ने कहा कि उसने हमजा के साथ विवाद सुलझा लिया है। हमजा की सटीक स्थिति की जानकारी नहीं है, लेकिन उन पर औपचारिक रूप से कभी आरोप नहीं लगाए गए। अवदल्लाह के अमेरिकी वकील ने कहा कि उनके मुवक्किल ने आरोप लगाया है कि जॉर्डन में हिरासत में उनका उत्पीड़न किया गया और उनके जीवन को खतरा है। अब्दुल्ला 19 जुलाई को वॉशिंगटन जाएंगे। वह व्हाइट हाउस में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन से मिलने वाले पहले अरब नेता होंगे। जॉर्डन पश्चिम एशिया में अमेरिका का निकट सहयोगी है।(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

जूही चावला 5G मामले में नया मोड़, जज ने सुनवाई से खुद को अलग किया