CEO की मौत के साथ ही लॉक हुई अरबों की क्रिप्टोकरेंसी, निवेशकों को लगा बड़ा झटका

बुधवार, 6 फ़रवरी 2019 (11:03 IST)
क्रिप्टोकरेंसी कंपनी क्वाड्रिगा सीएक्स के सीईओ जेराल्ड कॉटन की भारत में बीमारी के चलते मौत हो गई। कॉटन की मौत के बाद निवेशकों को उस समय बड़ा झटका लगा जब पता चला कि केवल उनके पास ही 190 मिलियन डॉलर यानी 1350 करोड़ रुपए की क्रिप्टोकरेंसी को एक्सेस करने का पासवर्ड था। अब कस्टमर अपने एकाउंट को एक्सेस नहीं कर पा रहे हैं।
 
पिछले हफ्ते जब क्वाड्रिगा ने कनाडा के कोर्ट में क्रेडिट प्रोटेक्शन की अर्जी दाखिल की तो क्रिप्टोकरंसी लॉक होने की जानकारी सामने आई। दरअसल, जेराल्ड का लैपटॉप, ईमेल एड्रेस और मैसेजिंग सिस्टम सब कुछ एनक्रिप्टेड है। उनके अलावा पासवर्ड की और किसी को जानकारी भी नहीं है। सारे फंड्स वह अकेले ही हैंडिल करते थे।
 
क्वाड्रिगा के जरिए बिटकॉइन, लाइटकॉइन और इथ्रीरियम कॉइन जैसी क्रिप्टोकरंसी में ट्रेडिंग में की जा सकती है। इसके लॉक होने से 1.15 लाख यूजर पर असर पड़ा है। कंपनी के 3.63 लाख रजिस्टर्ड यूजर हैं। 
 
कंपनी के सोशल मीडिया पेज के माध्यम से बताया गया है कि जेराल्ड भारत की यात्रा पर थे उसी दौरान 9 दिसंबर 2018 को उनकी मौत हो गई। यह भी बताया गया कि वह भारत में अनाथ बच्चों के लिए एक अनाथालय खोलने वाले थे।
 
जेराल्ड की पत्नी जेनिफर ने बताया कि वो कोटेन के बिजनेस में शामिल नहीं थीं। इसलिए, उन्हें पासवर्ड और रिकवरी-की के बारे में पता नहीं है। जेनिफर का कहना है कि घर में काफी तलाश करने के बाद भी पासवर्ड कहीं लिखा हुआ नहीं मिला। 
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख पाकिस्तान के इस दिग्गज क्रिकेटर ने भी विराट कोहली की तुलना इमरान से की, कही यह बड़ी बात