इथोपियन एयरलाइंस के दुर्घटनाग्रस्त विमान में सवार सभी 157 लोगों की मौत, मृतकों में 4 भारतीय

रविवार, 10 मार्च 2019 (23:20 IST)
अदीस अबाबा। इथोपिया की राजधानी अदीस अबाबा से उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही इथोपियन एयरलाइंस का एक विमान रविवार की सुबह दुर्घटनाग्रस्त हो गया और उसमें सवार 4 भारतीयों समेत सभी 157 लोगों की मौत हो गई।अधिकारियों ने बताया कि शोक संतप्त परिवार अदीस अबाबा और गंतव्य स्थल नैरोबी में हवाईअड्डे पहुंचे। मृतकों में 30 से अधिक देशों के यात्री शामिल हैं।
 
भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी कहा कि इथोपियाई एयरलाइंस विमान दुर्घटना में हमने 4 भारतीय नागरिकों को खो दिया। मैंने इथोपिया में नियुक्त भारतीय उच्चायुक्त से शोक संतप्त परिवारों की हरसंभव मदद करने के लिए कहा है।
 
एयरलाइन के सीईओ ने पत्रकारों को बताया कि अभी इसकी जानकारी नहीं है कि बोइंग 737-8 एमएएक्स विमान दुर्घटनाग्रस्त होने की वजह क्या है। पायलट ने परेशानी में होने की सूचना भेजी थी और उसे लौटने की मंजूरी दी गई थी। यह विमान नया था और नवंबर में ही एयरलाइन को सौंपा गया था।
 
सरकारी इथोपियन एयरलाइंस अफ्रीका में सबसे अच्छी एयरलाइन मानी जाती है। वह अपने आप को अफ्रीका की सबसे बड़ी विमानन कंपनी बताती है। इसे नए विमानों को जल्द ही खरीदने वाली एयरलाइन भी माना जाता है। एयरलाइन ने बताया कि विमान में 149 यात्री और 8 क्रू सदस्य सवार थे। 
 
एयरलाइन सीईओ टी. गेब्रेमरियम ने बताया कि मृतकों में भारत, केन्या, कनाडा, चीन, अमेरिका, इथोपिया, इटली, फ्रांस, ब्रिटेन, मिस्र, स्लोवाकिया और अन्य देशों के नागरिक शामिल हैं। 
 
विमान केन्या की राजधानी जाने के रास्ते पर अदीस अबाबा से उड़ान भरने के 6 मिनट बाद ही सुबह 8 बजकर 44 मिनट पर राजधानी के दक्षिण में करीब 50 किलोमीटर दूर बिशोफ्टू या देबरे जिएत में दुर्घटनाग्रस्त हुआ।एयरलाइन ने बाद में एक तस्वीर प्रकाशित की जिसमें सीईओ विमान के मलबे पर खड़े हैं। 
 
सोशल मीडिया पर पोस्ट किए संदेश में कहा गया है, ‘टी गेब्रेमरियम को यह पुष्टि करते हुए खेद हो रहा है कि कोई भी व्यक्ति जीवित नहीं बचा।’ इसमें कहा गया है, ‘वह इस दुखद घटना में जान गंवाने वाले यात्रियों और क्रू सदस्यों के परिवारों तथा प्रियजनों के प्रति गहरी संवेदना जताते हैं।’
 
वायु यातायात निगरानी फ्लाइटरडार 24 ने टि्वटर में एक पोस्ट में बताया कि विमान ने उड़ान भरने के बाद अस्थिर गति दिखाई थी। दृश्यता स्पष्ट थी। सरकारी प्रसारणकर्ता ईबीसी ने बताया कि पीड़ितों में 33 नागरिकता रखने वाले लोग शामिल हैं। 
 
एयरलाइन के सीईओ ने बताया कि मृतकों में केन्या के 32 और इथोपिया के नौ नागरिक शामिल हैं। अन्य पीड़ितों में कनाडा के 18, चीन, अमेरिका और इटली के आठ, फ्रांस और ब्रिटेन के सात, मिस्र के छह, नीदरलैंड के पांच और भारत तथा स्लोवाकिया के 4 नागरिक शामिल हैं। इथोपिया के प्रधानमंत्री कार्यालय ने अलग से जारी एक बयान में पीड़ित परिवारों के प्रति ‘गहरी संवदेनाएं’ जताई।
 
एयरलाइन ने कहा, ‘खोज एवं बचाव अभियान चल रहा है और हमारे पास किसी के जीवित बचे होने या हताहतों के बारे में कोई पुष्ट सूचना नहीं है।’ केन्या के राष्ट्रपति उहुरु केन्याटा ने कहा, ‘विमान में सवार लोगों के परिवार और उनसे जुड़े लोगों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं।’
 
अदीस अबाबा और नैरोबी में चिंतित परिवारजन एकत्रित हो गए हैं। एक व्यक्ति एग्निस मुइलु ने कहा, ‘मैं अपने भाई को लेने हवाईअड्डे आया था लेकिन मुझे बताया गया कि कोई दिक्कत है।’ गौरतलब है कि इथोपियन एयरलाइंस के यात्री विमान की आखिरी बड़ी दुर्घटना 2010 में हुई थी, जब विमान बेरुत से उड़ान भरने के कुछ मिनटों बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इस हादसे में सवार सभी 90 लोगों की मौत हो गई थी। 
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख ऑस्ट्रेलिया ने वनडे में रचा इतिहास, पहली बार सबसे बड़े लक्ष्य को हासिल करके भारत को 4 विकेट से हराया