राजनाथ सिंह ने राफेल विमान मिलने के बाद 'ओम' लिखकर शस्त्र पूजा की और उड़ान भरी

वेबदुनिया न्यूज डेस्क

मंगलवार, 8 अक्टूबर 2019 (20:23 IST)
पेरिस। फ्रांस से भारत को पहला लड़ाकू विमान राफेल भारत को सौंप दिया गया है। इस मौके पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने यह विमान एक सेरेमनी के बाद ग्रहण किया। जब भारत को राफेल सौंपा गया, तब फ्रांस की रक्षामंत्री के साथ भारतीय वायुसेना के अधिकारी मौजूद थे। आज विजयादशमी का पर्व भी है। लाइव अपडेट...

आधे घंटे की उड़ान के बाद राजनाथ सिंह का राफेल विमान लैंड
जब विमान से बाहर आए तो उन्हें सहारा देने की कोशिश की
राज‍नाथ सिंह ने कहा कि मैं नीचे उतरने में सक्षम हूं
भारत के रक्षामंत्री राफेल में उड़ान भरने के बाद बहुत खुश नजर आए
 
राफेल को BD 001 यानी राकेश भदौरिया नाम दिया गया
आरकेएस भदौरिया भारतीय वायुसेना के एयर चीफ मार्शल हैं
राफेल खरीदी सौदे में भदौरिया ने अहम भूमिका अदा की थी 
 
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने पहले राफेल विमान में उड़ान भरी
आधे घंटे तक राफेल में उड़ान भरेंगे राजनाथ सिंह
उड़ान भरने के ठीक पूर्व राजनाथ सिंह ने 'थम्ब अप' का साइन दिखाया
राजनाथ सिंह पिछली सीट पर पायलट की ड्रेस में नजर आए
कॉकपिट में बैठने के बाद उन्हें विमान की तकनीकी जानकारी दी गई
भारत के रक्षामंत्री को बताया कि उन्हें उड़ान के दौरान क्या करना है
4 विमानों की पहली खेप अगले साल मई में भारत पहुंचेगी
 
पहले राफेल पर 'ओम' लिखा राजनाथ सिंह ने अंगूठे से 
रक्षामंत्री ने कंकू-रोली से विधि विधान से राफेल की पूजा की
राफेल विमान पर नारियल चढ़ाने के बाद अगरबत्ती से आरती की गई 
यह पहला मौका है जब किसी शस्त्र की विदेश में शस्त्र पूजा की गई
राजनाथ सिंह पहले लड़ाकू राफेल विमान को संकल्प सूत्र बांधा

विमान के टायर के नीचे हरे नींबू रखे गए हैं
भारत में जब भी कोई नया वाहन खरीदते हैं तो पूजा के बाद टायर के नीचे नींबू रखे जाते हैं
ऐसा माना जाता है कि नींबू रखने से सारी बलाएं टल जाती हैं
राफेल आज के दिन के लिए मिलना विशेष है 
आज विजयादशमी, मंगलवार और वायुसेना का स्थापना दिवस है

राफेल विमान मिलने के बाद सभी लोग हाई टी के लिए गए
कुछ देर बाद राजनाथ सिंह राफेल में उड़ान भरेंगे
भारतीय रक्षामंत्री करीब आधे घंटे तक आसमान में रहेंगे

फ्रांस के मेरीनेक एयरबेस पर मौजूद हैं राजनाथ सिंह
राजनाथ सिंह ने कहा कि आज का दिन भारतीय वायुसेना के लिए ऐतिहासिक दिन
आज भारतीय वायुसेना 87वां स्थापना दिवस मना रही है

राफेल से भारतीय सेना की ताकत मजबूत होगी
राफेल के सौदे से फ्रांस और भारत के रिश्ते और मजबूत होंगे
राफेल की खेप भारत को समय पर मिल रही है 
लड़ाकू राफेल विमान पर विशेष फिल्म दिखाई गई
राफेल की पूरी यात्रा को फिल्म में दर्शाया गया
पेरिस से 600 किलोमीटर दूर है एयरबेस बरदो, जहां सेरेमनी चल रही
 
पेरिस में हल्की बारिश लेकिन एयरबेस पर खिली हुई धूप 
विमानतल पर ही स्पेशल सेरेमनी का आयोजन
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह राफेल विमान को लेने मेरिनैक एयरबेस पहुंचे
बरदो में राजनाथ सिंह राफेल बनाने वाली दसॉल्ट एविएशन की इकाई का दौरा किया
इसके बाद पहले राफेल लड़ाकू विमान के लिए रस्मी तौर पर फीता काटा

राफेल विमान की विशेषताएं
राफेल 1 मिनट में 60 हजार फीट की ऊंचाई तक जा सकता है
राफेल की उच्चतम रफ्तार 2130 किलोमीटर प्रति घंटा है
हवा से जमीन में मार करने में राफेल को दक्ष माना जाता है

2012 में पहली बार फ्रांस से 126 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने का फैसला हुआ था
मोदी सरकार ने सितंबर 2016 में सिर्फ 36 राफेल विमान खरीदने पर मुहर लगाई
36 राफेल विमान की कुल कीमत 59 हजार करोड़ रुपए होगी 
भारत ने अमेरिका, जर्मन और रूस के बजाय फ्रांस को तरजीह दी 

11 अप्रैल 2015 को मोदी ने फ्रांस के दौरे में 20 समझौतों पर हस्ताक्षर किए
सबसे बड़ा समझौता था 36 राफेल विमान खरीदने का 
नरेंद्र मोदी और फ्रांस के तत्कालीन राष्ट्रपति फ्रांस्वां ओलांद बीच हुआ था यह बड़ा समझौता
तस्वीर सौजन्य : एएनआई

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख अभिनंदन वर्धमान ने नेतृत्व किया मिग-21 बाईसन लड़ाकू विमानों का