Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

फ्रांस गिरजाघर हमला : घटना की वीडियो देखता चाहता है हमलावर का परिवार

webdunia
शनिवार, 31 अक्टूबर 2020 (21:31 IST)
स्फैक्स (ट्यूनीशिया)। फ्रांस के नीस गिरजाघर हमला मामले के संबंध में तीसरा संदिग्ध फ्रांसीसी पुलिस की हिरासत में है। वहीं संदिग्ध ट्यूनिशियाई हमलावर के परिवार वालों ने यह जानने के लिए वीडियो फुटेज देखने की मांग की है कि उस समय क्या हुआ था?

इस बीच, फ्रांस, इटली और ट्यूनीशिया के अधिकारी यह पता लगाने का प्रयास कर रहे हैं कि मुख्य संदिग्ध इब्राहिम ईसाओई का उद्देश्य क्या था और उसने इस हमले को अकेले अंजाम दिया अथवा यह कोई सोची-समझी साजिश थी।

अधिकारियों ने गिरजाघर पर हुए हमले को इस्लामिक आतंकवाद करार दिया है क्योंकि इसे फ्रांस के एक अखबार द्वारा पैगंबर मोहम्मद का कार्टून प्रकाशित किए जाने के बाद उपजे तनाव से जोड़कर देखा जा रहा है। इब्राहिम पिछले महीने इटली होते हुए फ्रांस पहुंचा था

गिरजाघर में तीन लोगों की हत्या के मामले में आरोपी हमलावर इब्राहिम पुलिस की कार्रवाई में गंभीर रूप से घायल हुआ था और वह गंभीर स्थिति में अस्पताल में भर्ती है।

एक जांच अधिकारी ने शनिवार को बताया कि नीस में इब्राहिम से मुलाकात करने वाले 35 वर्षीय एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। वहीं, हमले से पहले वाली रात इब्राहिम से मिलने वाला 47 वर्षीय व्यक्ति पहले ही पुलिस की हिरासत में था। ऐसे में अब तक इस मामले में तीन आरोपी पुलिस की गिरफ्त में हैं। हालांकि हमले से उनका संबंध स्पष्ट नहीं हो सका है।

पूर्व में ट्यूनीशिया के एक चरमपंथी समूह ने हमले की जिम्मेदारी ली थी। ट्यूनीशिया एवं फ्रांस के अधिकारी इन दावों की जांच कर रहे हैं। इब्राहिम के पैतृक शहर स्फैक्स में उसके परिवार ने इसे चौंकाने वाला बताया और शांति की अपील की।

इब्राहिम की मां गामरा ने रोते हुए कहा, हम सच जानना चाहते हैं कि कैसे मेरे बेटे ने इस आतंकवादी हमले को अंजाम दिया? मैं यह देखना चाहती हूं कि निगरानी कैमरों में क्या दिखाई दे रहा है। मुझे अपना बेटा चाहिए, जीवित या मृत।
उसके पिता और भाई ने कहा कि अगर सच में इब्राहिम ने हमला किया है तो उसे न्याय का सामना करना चाहिए।उसके भाई विसेम ने कहा, हम मुसलमान हैं। हम आतंकवाद के खिलाफ हैं और हम गरीब हैं। मुझे यह दिखाया जाए कि मेरे भाई ने हमला किया है और उसे आतंकवादी की तरह सजा दीजिए।(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

चीन के मुद्दे पर राहुल गांधी को राजनाथ सिंह का जवाब- मैं खुलासा कर दूं तो चेहरा दिखाना मुश्किल हो जाएगा