Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

इस देश का सरकारी चैनल क्यों सिखा रहा गाड़ियों से पेट्रोल-डीजल चुराना?

हमें फॉलो करें webdunia
सोमवार, 27 जून 2022 (17:01 IST)
Photo - Twitter
एथेंस, ग्रीस। रूस-यूक्रेन के बीच पिछले 4 महीनों से जारी युद्ध ने दुनिया के सामने कई बड़ी समस्याएं पैदा कर दी हैं। कई देशों  में लोग आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं। अधिकतर देशों में इस वक्त सबसे बड़ी समस्या पेट्रोल-डीजल की किल्लत और बढ़ते दाम  हैं। पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों की समस्या से ग्रीस भी जूझ रहा है। यहां आम लोगों को ईंधन मुश्किल से मिल पा रहा है।  दूसरी ओर पेट्रोल-डीजल के रेट भी बढ़ते जा रहे हैं। इसी बीच ग्रीस के एक सरकारी चैनल पर कार से ईंधन चोरी करने के  तरीके बताए जा रहे हैं, जिसकी चर्चाएं दुनियाभर में हो रही हैं।    
 
कहा जा रहा है कि ग्रीस सरकार से संबद्ध चैनल ERT टीवी पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम सिंडेसिस में कुछ दिनों पहले  दर्शकों को वाहनों से पेट्रोल-डीजल चुराने का तरीका सिखाया गया। कार्यक्रम को प्रस्तुत करने वाले एंकर ने बताया कि किस  तरह बिना ट्यूब के सिर्फ एक नली की मदद से कारों में से पेट्रोल-डीजल चुराया जा सकता है। बाद में एंकर द्वारा कार्यक्रम में  एक मैकेनिक को भी बुलाया गया, जिसने लोगों को किसी भी कार से आसानी से पेट्रोल और डीजल चुराने के आसान तरीके  बताए। 
 
इस कार्यक्रम के छोटे-छोटे वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर बहुत वायरल हो रहे हैं। ट्विटर पर लोगों ने इस कार्यक्रम की  जमकर आलोचना की। यूजर्स ने सरकार पर चोरी को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। 
 
उल्लेखनीय है कि ज्यादातर पश्चिमी देशों को रूस से ही सबसे ज्यादा ईंधन मिलता था। लेकिन रूस-यूक्रेन युद्ध के चलते अमेरिका और उसके सहयोगी देशों ने रूस पर कई प्रतिबंध लगाए हुए हैं, जिसकी जवाबी कार्रवाई के तहत रूस ने भी इन सभी देशों को तेल सप्लाई करना बंद कर दिया। ग्रीस का नाम भी इन देशों की सूची में शुमार है, जिसकी वजह से यहां पेट्रोल-डीजल के दामों में अभूतपूर्व वृद्धि आई है। ग्रीस की राजधानी एथेंस में पेट्रोल-डीजल की कीमत औसतन 2.30 यूरो या 190 रुपए लीटर है, जबकि रोड्स शहर में ईंधन की कीमत 210 रुपए लीटर से भी ज्यादा हो गई है। 
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Amarnaath Yatra: अमरनाथ यात्रा में मौसम बनेगा विलेन, अब तक हुआ 3 लाख से ज्यादा का पंजीकरण, सुरक्षा व्यवस्था कड़ी