सिद्धगंगा मठ के मठाधीश शिवकुमार स्वामी का 111 वर्ष की आयु में निधन, मंगलवार को होगा अंतिम संस्कार

सोमवार, 21 जनवरी 2019 (18:00 IST)
तुमकुरु। प्रसिद्ध समाज सुधारक और सिद्धगंगा मठ के शतकवीर मठाधीश शिवकुमार स्वामीजी का सोमवार को यहां निधन हो गया। पद्मभूषण से सम्मानित स्वामीजी 111 वर्ष के थे। उनका अंतिम संस्कार मंगलवार को किया जाएगा। राज्य सरकार ने तीन दिनों के राजकीय शोक की घोषणा की है।
 
 
महान मानवतावादी और 'टहलने वाले भगवान' के तौर पर अपने अनुयायियों के बीच लोकप्रिय स्वामीजी ने सोमवार को पूर्वाह्न 11.44 बजे आखिरी सांस ली। मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी ने दोपहर बाद उनके निधन की घोषणा की।
 
कर्नाटक की राजनीति में सिद्धगंगा मठ का काफी प्रभाव रहता है। शिवकुमार स्वामी लिंगायत समुदाय के मुख्य मठ सिद्धगंगा के प्रमुख थे। ये मठ बेंगलुरु से 80 किलोमीटर दूर तुमकुरु में है। कर्नाटक में इनके मठों की संख्या 400 से ज्यादा है।
 
 
स्वामीजी के निधन को लेकर आशंकित बड़ी संख्या में लोग शहर में एकत्र हो गए थे तथा तुमकुरु जाने वाले सभी मार्ग वाहनों के कारण जाम हो गए थे। पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था के व्यापक इंतजाम किए थे तथा पास के जिलों के सुरक्षाकर्मियों को भी इस काम में लगाया गया है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक दयानंद ने बताया कि अब तक राज्य में कहीं से किसी अप्रिय वारदात की सूचना नहीं है।
 
स्वामीजी का जन्म एक अप्रैल 1907 को एक गरीब किसान परिवार में हुआ था। उन्हें वर्ष 1930 में मठ में शामिल किया गया तथा सोमवार को आखिरी सांस लेने तक वह इससे जुड़े रहे।
 
स्वामीजी की अंत्येष्टि तीन दशक पहले तय किए गए 'क्रिया समाधि' पर मंगलवार को की जाएगी। कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी ने कहा कि स्वामीजी का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ मठ परिसर में किया जाएगा।
 
स्वामीजी पिछले कई दशकों से समाज के हर वर्ग के लोगों के लिए नि:स्वार्थ सेवा के कारण लोकप्रिय थे। इनमें से कई लोगों ने देश तथा विदेशों में महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की थीं। ऐसे लोग बार-बार मठ का दौरा कर स्वामीजी का आशीर्वाद लेने आते रहते थे।
 
राज्य में पिछले आठ दशकों के दौरान जाति, पंथ और लिंग से ऊपर उठकर लोगों की मानवता के लिए स्वामीजी की सेवा की सराहना की गई है। सिद्धगंगा मठ प्रमुख ने सिद्धगंगा मठ में गरीब बच्चों को मुफ्त शिक्षा, भोजन के साथ-साथ परिसर में आश्रय देने के साथ-साथ बड़ी संख्या में लोगों को सशक्त बनाया।
 
 
तुमकुरु जिले के क्याथसांड्रा गांव स्थित मठ का राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई दिग्गज राजनेता दौरा कर चुके हैं तथा समाज के गरीब वर्गों के लिए किए जा रहे मठ के प्रयासों की सराहना की है।
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख ग्वालियर में भाजपा नेता के चचेरे भाई की हत्या, नदी से शव बरामद