इंडोनेशिया में 7.5 तीव्रता का शक्तिशाली भूकंप, पालू शहर में सुनामी से मची तबाही

शनिवार, 29 सितम्बर 2018 (00:15 IST)
जकार्ता। इंडोनेशिया के साढ़े तीन लाख की आ‍बादी वाला शहर पालू शहर शुक्रवार को आए शक्तिशाली भूकंप के बाद आई सुनामी से भी प्रभावित हुआ है। आपदा एजेंसी ने इसकी जानकारी दी। इस भयंकर भूकंप ने इमारतों को तबाह करने के बाद परेशान निवासियों को अपना घर छोड़कर बाहर सड़क पर खड़े रहने को मजबूर कर दिया। सुलावेसी द्वीप में शुक्रवार को 7.5 तीव्रता का शक्तिशाली भूकंप आया है।
 
आपदा एजेंसी के भूकंप एवं सुनामी प्रभाग के अध्यक्ष रहमत त्रियोनो ने कहा कि पालू में सुनामी आई है। इस शहर में करीब 3,50,000 लोग रहते हैं, जो भूकंप के केंद्र से करीब 80 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है लेकिन सुनामी की वजह से लोगों की परेशानियां काफी बढ़ गई हैं।
 
ऊंची लहरों की वजह से कई घरों को नुकसान : इंडोनेशिया की डिजास्टर एजेंसी के प्रवक्ता सुतोपो पुरवो ने बताया कि पालू शहर में ऊंची लहरों की वजह से कई घरों को नुकसान पहुंचा और कई परिवार भी लापता हैं। सुतोपो के अनुसार सुलावेसी द्वीप में कई इलाकों का संपर्क टूट गया है। अंधेरे की वजह से राहत और बचाव कार्य में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। एजेंसी द्वारा जारी की गई तस्वीरों में क्षतिग्रस्त हुई इमारतों को देखा गया। लोग परेशान होकर अपने घरों से बाहर निकल गए।
10 किलोमीटर की गहराई पर आया भूकंप : अमेरिकी भूगर्भ सर्वे ने बताया कि मध्य सुलावेसी के डोंग्गाला कस्बे में 10 किलोमीटर की गहराई पर तेज भूकंप आया। इसके कुछ घंटे पहले इसी क्षेत्र में कम तीव्रता का भूकंप आया था जिसमें कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो गई। इस भूकंप की तीव्रता इस वर्ष की शुरुआत में लोमबोक द्वीप में आए भूकंप से कहीं अधिक थी जिसमें सैकड़ों लोग मारे गए थे।

बड़ी मस्जिद जलमग्न : भूकंप के केंद्र से करीब 80 किलोमीटर की दूरी पर स्थित पालू शहर के एक पार्किंग रैंप की सबसे ऊपरी मंजिल से फिल्माए गए एक वीडियो में पानी की लहरें कई इमारतों को अपने लपेटे में लेती हुई और एक बड़ी मस्जिद को जलमग्न करते हुए दिखी। आपदा एजेंसी के भूकंप एवं सुनामी प्रभाग के अध्यक्ष रहमत त्रियोनो ने बाद में पुष्टि की कि शहर में सुनामी की तेज लहरें आई हैं। 
 
पालू शहर से 78 किलोमीटर की दूरी पर भूकंप का केंद्र : शु्क्रवार को आए भूकंप का केंद्र पालू शहर से 78 किलोमीटर की दूरी पर था। यह मध्य सुलावेसी प्रांत की राजधानी है। भूकंप की तीव्रता इतनी अधिक थी कि इसका असर यहां से करीब 900 किलोमीटर दूर दक्षिण में द्वीप के सबसे बड़े शहर माकासर तक महसूस किया गया।
अंतिम झटका बहुत तेज : पालू के दक्षिण में करीब 175 किलोमीटर की दूरी पर तोराजा की निवासी लीसा सोबा पाल्लोन ने कहा कि शुक्रवार को भूकंप के कई झटके महसूस किए गए। अंतिम झटका बहुत तेज था। इंडोनेशिया की भौगोलिक स्थिति के कारण भूकंप का खतरा हरदम बना रहता रहता है।

लंबा ट्रैफिक जाम : फेसबुक लाइव वीडियो में इलाके के कुछ हिस्सों में लंबा ट्रैफिक जाम देखा गया क्योंकि डरे हुए निवासी सुनामी की चेतावनी के बाद ऊंची जगहों पर पहुंचने के लिए कारों, ट्रकों एवं मोटरबाइकों में जा बैठे।
 
भूकंप के कारण 2,20,000 लोग मारे जा चुके हैं : दिसंबर 2004 में पश्चिमी इंडोनेशिया के सुमात्रा में 9.3 तीव्रता का भूकंप आया था। इसके कारण आई सुनामी के कारण हिन्द महासागर क्षेत्र के कई देशों में 2,20,000 लोग मारे गए थे। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING