ट्रंप ने किया दावा, Corona virus चीन की वुहान प्रयोगशाला से पैदा हुआ

शुक्रवार, 1 मई 2020 (10:43 IST)
वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को पूरे यकीन के साथ दावा किया कि दुनियाभर में 2,30,000 से अधिक लोगों की जान लेने वाले और अर्थव्यवस्थाओं को तबाह करने वाले कोरोना वायरस की उत्पत्ति चीन के वुहान शहर की एक विषाणु विज्ञान प्रयोगशाला से हुई है।
ALSO READ: Corona के प्रसार के लिए ट्रंप ने ठहराया चीन को जिम्मेदार
ट्रंप से पत्रकारों ने पूछा कि क्या उन्हें ऐसा कुछ मिला है जिससे वे यकीन के साथ कह सकते हैं कि यह वायरस वुहान के विषाणु विज्ञान संस्थान से पैदा हुआ? इस पर उन्होंने व्हाइट हाउस में कहा कि हां, मेरे पास है। हालांकि उन्होंने कोई भी जानकारी देने से इंकार करते हुए कहा कि जांच चल रही है और जल्द ही यह सामने आएगा।
ALSO READ: ट्रंप ने किए चीन पर हमले तेज, कहा- चीन के कारण दुनिया के 184 देश नर्क से गुजर रहे
यह पूछने पर कि उन्हें ऐसा क्या मिला है जिससे वे विश्वास के साथ यह कह सकते हैं? इस पर ट्रंप ने कहा कि मैं आपको नहीं बता सकता, बहरहाल उन्होंने इसके लिए चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को जिम्मेदार नहीं ठहराया। उन्होंने कहा कि मैं यह नहीं कहना चाहता लेकिन निश्चित तौर पर इसे रोका जा सकता था। यह चीन से पैदा हुआ और इसे रोका जा सकता था और काश! वे इसे रोकते।
 
उन्होंने कहा कि वे या तो इसे रोकने में सक्षम नहीं थे या वे रोकना नहीं चाहते थे और दुनिया को इसका भारी खामियाजा उठाना पड़ा। ट्रंप ने इस संक्रामक रोग से सबसे ज्यादा प्रभावित यूरोपीय देश इटली का उदाहरण देते हुए कहा कि एक और स्थिति यह है कि उन्होंने चीन में आने से सभी विमानों और यातायात को कैसे रोका लेकिन उन्होंने अमेरिका तथा यूरोप से आने वाले विमानों को नहीं रोका।
ALSO READ: कोरोना वायरस पर ट्रंप का बड़ा बयान, अमेरिका पर हमला हुआ
उन्होंने कहा कि यह देश (अमेरिका) बहुत भाग्यशाली है और मैं बहुत भाग्यशाली हूं कि मैंने चीन पर बहुत जल्दी प्रतिबंध लगा दिया। जनवरी में हमने चीन पर प्रतिबंध लगाया। इसके बाद हमने यूरोप में प्रतिबंध लगाया। 
 
ट्रंप ने कहा कि वे उन्हें जवाबदेह ठहराने से पहले यह पता लगाना चाहते हैं कि क्या हुआ था? उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि हम यह पता लगा लेंगे कि असल में हुआ क्या था? हम इस पर दृढ़ता से काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि लेकिन वे इसे रोक सकते थे। उनका देश वैज्ञानिक एवं अन्य रूप से प्रतिभाशाली है। वे इसे रोक सकते थे लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया।
ALSO READ: ट्रंप ने कहा, अमेरिका में कोरोना वायरस से 70 हजार लोगों की मौत का अंदेशा
यह पूछने पर कि क्या राष्ट्रपति जिनपिंग ने उन्हें गुमराह किया, इस पर ट्रंप ने कहा कि कुछ तो हुआ। मैं नहीं कहूंगा कि गुमराह किया या नहीं किया। मैं आपको बताऊंगा। मेरा मतलब है कि उम्मीद है कि निकट भविष्य में आपको इसका जवाब दूंगा। राष्ट्रपति ने कहा कि इस बीमारी के कारण पूरी दुनिया को भुगतना पड़ा है। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख लॉकडाउन : अप्रैल में नहीं बिकी मारुति की एक भी कार