Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

IPL में कप्तान के तौर पर अंतिम हडल में विराट की थीं आंखें नम, एबी भी थे भावुक (वीडियो)

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 12 अक्टूबर 2021 (18:41 IST)
दुबई:विश्वक्रिकेट में आईपीएल पिछले दशक के दो धुरंधर बल्लेबाजों को देखने का मंच आईपीएल ही प्रदान कर सकता था। विराट कोहली और एबी डीविलियर्स ने कई पारियां खेली हैं और साथ में कई बड़ी साझेदारियां की है।

विराट कोहली और एबी डीविलियर्स जैसे विस्फोटक बल्लेबाज कल रॉयल चैलेंजर्स बैंगलूरू की हडल में भावुक हो गए थे। कल विराट कोहली का कप्तान के तौर पर आईपीएल का अंतिम मैच था और टीम जब एलिमिनेटर में कोलकाता से हार गई तो अंतिम हडल में विराट कोहली अपने जज्बातों पर काबू नहीं रख सके। उनके साथ एबी डीविलियर्स की भी आंखे नम लग रही थी।


कोहली जितना समझ पाएंगे उससे कहीं ज्यादा टीम पर उनका प्रभाव: डिविलियर्स

विराट कोहली के नेतृत्व में लंबे समय से रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम का हिस्सा रहे दक्षिण अफ्रीका के दिग्गज एबी डिविलियर्स ने कहा कि भारतीय कप्तान यह कभी नहीं समझ पायेंगे कि उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग की इस टीम पर किस तरह का प्रभाव डाला है।

आरसीबी के कप्तान के तौर पर कोहली के नौ साल का सफर सोमवार को एलिमिनेटर मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ शारजाह में चार विकेट की हार के साथ खत्म हुआ।

कोहली ने आईपीएल के यूएई चरण की शुरुआत से पहले कहा था कि वह सत्र के अंत में आरसीबी की कप्तानी छोड़ देंगे।फ्रेंचाइजी के द्वारा जारी वीडियो में डिविलियर्स ने कहा, ‘‘ मैं विराट के कप्तान बनने के बाद यहां कई साल से हूं और मुझे लगता है कि जो शब्द दिमाग में आता है वह ‘शुक्रगुजार’ है। हम बहुत खुशकिस्मत थे कि आप ने हमार नेतृत्व किया।’’
webdunia

उन्होंने कहा, ‘‘ आपने जिस तरह से इस टीम का नेतृत्व किया उसने सभी को प्रेरित किया है। इसने निश्चित रूप से मुझे एक खिलाड़ी और एक व्यक्ति के रूप में बेहतर बनने के लिए प्रेरित किया है। आप जितना समझते हैं टीम पर उससे कहीं अधिक बड़ा प्रभाव पड़ा है।

कोहली 2013 में टीम के कप्तान बने थे और उनके नेतृत्व में आरसीबी चार बार प्लेऑफ में पहुंचने में सफल रही। इसमें पिछले दो सत्र के अलावा टीम 2016 में फाइनल में पहुंची थी।कोहली की कप्तानी में टीम ने 140 मैच खेले, जिसमें से उसे 66 में सफलता मिली। इस दौरान टीम को 70 मैचों में हार का सामना करना पड़ा जबकि चार मैचों का नतीजा नहीं निकला।

डिविलियर्स ने कहा कि कोहली का योगदान कप्तान या बल्लेबाज के रूप में उनके प्रदर्शन से कहीं ज्यादा है।उन्होंने कहा, ‘‘ मैं आपके मैदान के अंदर और बाहर के व्यक्तित्व को जानता हूं। आप लोगों को खुद पर विश्वास दिलाते हैं, जो एक ट्रॉफी जीतने से कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण है। जो मुझे अब भी विश्वास है कि आप इसे जीतेंगे।’’
webdunia

कोहली ने अपनी ओर से टीम के साथियों को धन्यवाद दिया और कहा कि उन्हें ‘निराश होने की जरूरत नहीं हैं’।उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘‘ यह वैसा परिणाम नहीं जो हम चाहते थे, लेकिन मुझे पूरे टूर्नामेंट में खिलाड़ियों द्वारा दिखाए गए जज्बे पर बहुत गर्व है। हमारा सफर निराशाजनक तरीके से खत्म हुआ लेकिन हम खुद पर गर्व कर सकते ह। आपके निरंतर समर्थन के लिए सभी प्रशंसकों, प्रबंधन और सहयोगी कर्मचारियों को धन्यवाद।’’

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

जर्मनी बनी FIFA विश्व कप 2022 के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली फुटबॉल टीम