Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

मैच के बाद फिटनेस के बारे में यह कहा धोनी ने, संजू हुए निराश (वीडियो)

webdunia
मंगलवार, 20 अप्रैल 2021 (00:50 IST)
मुंबई:चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि बल्लेबाजी करते हुए उन्हें लगा कि उन्होंने कम रन बनाए हैं लेकिन गेंद स्पिन हो रही थी जिससे वे इंडियन प्रीमियर लीग में सोमवार को यहां राजस्थान रॉयल्स को 45 रन से हराने में सफल रहे।
 
रॉयल्स की टीम एक समय अच्छी स्थिति में थी लेकिन 10वें ओवर में जोस बटलर ने रविंद्र जडेजा पर छक्का जड़ा जिसके बाद गेंद बदलनी पड़ी। गीली गेंद की जगह सूखी गेंद आते ही स्पिनरों ने रॉयल्स को फिरकी के जाल में उलझा दिया और सुपरकिंग्स की टीम का पलड़ा भारी कर दिया।
 
सुपरकिंग्स के 189 रन के लक्ष्य का पीछा करती हुई रॉयल्स की टीम मोईन अली (सात रन पर तीन विकेट) और जडेजा (28 रन पर दो विकेट) की बलखाती गेंदों के अलावा सैम कुरेन (24 रन पर दो विकेट) की उम्दा गेंदबाजी के सामने नौ विकेट पर 143 रन ही बना सकी। रॉयल्स की ओर से सलामी बल्लेबाज जोस बटलर ने सर्वाधिक 49 रन बनाए।
 
चेन्नई सुपरकिंग्स ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए लेकिन चेतन सकारिया (36 रन तीन विकेट) और क्रिस मौरिस (33 रन पर दो विकेट) की धारदार गेंदबाजी के बावजूद नौ विकेट पर 188 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया। सुपरकिंग्स का कोई बल्लेबाज अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में नहीं बदल पाया। फाफ डु प्लेसिस 33 रन बनाकर टीम के शीर्ष स्कोरर रहे जबकि अंबाती रायुडू (27) और मोईन (26) भी अच्छी शुरुआत का फायदा नहीं उठा पाए।
 
धोनी ने जीत का श्रेय स्पिनरों को दिया
 
धोनी ने मैच के बाद कहा, ‘‘गीली गेंद भी स्पिन हो रही थी। मुझे जोस के रिवर्स स्वीप खेलने से कोई परेशानी नहीं थी। अगर गीली गेंद टर्न हो रही थी तो संभावना अधिक थी कि सूखी गेंद भी स्पिन करेगी। मोईन का टीम में होना अच्छा है, वह गेंद को अच्छी स्पिन करा रहा था।’’
 
उन्होंने कहा, ‘‘अच्छा है कि हमने 190 (188 रन) रन बनाए, मुझे लगा था कि हम और रन बना सकते थे। मैंने पहली छह गेंद जिस तरह खेली (पांचवीं गेंद में एक रन से खाता खोला) उससे अगर कोई और मैच होता तो हम उसे गंवा सकते थे।’’
धोनी ने स्वीकार किया कि उम्र बढ़ने के साथ फिटनेस बरकरार रखना आसान नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘उम्र बढ़ना और फिट रहना दो सबसे मुश्किल चीजे हैं। जब आप खेल रहे होते हैं तो नहीं चाहते कि कोई आपको अनफिट कहे। मुझे युवा खिलाड़ियों की बराबरी करनी होती है, वे काफी दौड़ते हैं लेकिन यह हमेशा चुनौतीपूर्ण होता है।’’

 
लक्ष्य का पीछा ना कर पाने पर संजू सैमसन निराश 
रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन ने कहा कि इस लक्ष्य को हासिल किया जा सकता था।उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि इस लक्ष्य को हासिल किया जा सकता था लेकिन हमने बीच के ओवरों में काफी विकेट गंवा दिए। मुझे लगता है कि हमारे गेंदबाजों ने काफी अच्छी गेंदबाजी की लेकिन उनकी बल्लेबाजी में काफी गहराई है। शायद अंत में हमने 10 से 15 रन अधिक दे दिए।’’
सैमसन ने कहा कि उन्होंने उम्मीद नहीं की थी कि पिच से स्पिनरों को टर्न मिलेगा।उन्होंने कहा, ‘‘हमने कभी यह उम्मीद नहीं की थी। ओस नहीं पड़ी, गेंद टर्न कर रही थी और यह थोड़ा स्तब्ध करने वाला था। चेतन सकारिया ने काफी अच्छी गेंदबाजी की। हम हार गए लेकिन मैच में काफी सकारात्मक पक्ष रहे।’’(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

IPL 2021 का चौथा मैच जिसमें कोई बल्लेबाज नहीं बना सका 50 रन, जानिए RR vs CSK मैच की 10 बड़ी बातें