Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

दो नए कप्तान होंगे आमने सामने, कोलकाता का है पंजाब पर पलड़ा भारी

हमें फॉलो करें webdunia
शुक्रवार, 1 अप्रैल 2022 (00:00 IST)
कोलकाता नाईट राइडर्स (केकेआर) को कल रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु से आखिरी ओवर में मिली हार के बाद शुक्रवार को होने वाले आईपीएल मुकाबले में पंजाब किंग्स से सतर्क रहना होगा।

कोलकाता ने अपने दो मैचों में से एक जीता है जबकि पंजाब की टीम पहला मैच जीतने के बाद लगातार दूसरी जीत के इरादे से उतरेगी। कोलकाता ने बेंगलुरु के खिलाफ डीवाई पाटिल स्टेडियम में खेले गए मुकाबले में रणनीतिक चूक की थी जिससे उसके पास आखिरी दो ओवर में गेंदबाज नहीं रह गए थे। 19वें ओवर में हर्षल पटेल ने वेंकटेश अय्यर की गेंदों पर दो चौके मारे जबकि आखिरी ओवर में दिनेश कार्तिक ने आंद्रे रसेल पर छक्का-चौका मारकर मैच ही समाप्त कर दिया।

हेड टू हेड रिकॉर्ड

हेड टू हेड रिकॉर्ड की बात करें तो शाहरुख का कोलकाता प्रीति के पंजाब  पर काफी भारी पड़ी है। कुल 29 मैचों में से 19 में कोलकाता ने बाजी मारी है जबकि पंजाब सिर्फ 10 मैच ही जीत पाई है।

हार के बाद भी कोलकाता दिख रही है दमदार

पहले मैच से ही दिख गया कि कोलकाता साल 2021 का पिछला फॉर्म लेकर मैदान पर उतरी है। गेंदबाजी से लेकर बल्लेबाजी तक टीम ने सबकुछ परफेक्ट किया। गेंदबाजी में कमजोर कड़ी माने जा रहे उमेश यादव ने तो 4 ओवरों में 20 रन देकर चेन्नई के दोनों ओपनर्स को सस्ते में आउट कर मैन ऑफ द मैच का पुरुस्कार जीता। बैंगलोर के खिलाफ भी उन्होंने 2 विकेट लिए।

इसके अलावा श्रेयस अय्यर की कप्तानी में कहीं लगा ही नहीं कि वह अपरिपक्व हैं। आईपीएल 2022 का पहला मैच श्रेयस अय्यर की कप्तानी के लिए खासा शानदार रहा। सबसे पहले तो उन्होंने टॉस जीता उसके बाद उन्होंने पॉवरप्ले से पहले स्पिनर्स को नहीं लाया। फील्ड पर भी वह चुस्त फील्डर रहे और उन्होंने एक रन आउट किया। बैंगलोर के खिलाफ भले ही बल्लेबाजों ने निराश किया लेकिन वह 128 के स्कोर पर भी मैच को अंतिम ओवर तक ले गए यह उनकी कप्तानी का कौशल है।

पंजाब की है सशक्त बल्लेबाजी

पंजाब किंग्स के पास शिखर धवन और नए कप्तान मयंक अग्रवाल के रूप में एक अनुभवी सलामी जोड़ी है।किंग्स की बल्लेबाज़ी लाइन अप एक टी20 टीम की परफ़ेक्ट लाइन अप है, और बल्लेबाज़ी सलाहकार के रूप में पावर हिटिंग विशेषज्ञ जूलियन वुड की नियुक्ति इस बात का एक और संकेत है कि वे इस सीज़न में कैसा खेलना चाहते हैं।

शाहरुख ख़ान और ओडिन स्मिथ सुनिश्चित करते हैं कि विस्फोटक बल्लेबाज़ी जारी रहेगी, जबकि हरप्रीत बराड़ और रबादा गहराई प्रदान करते हैं। दूनिया भर में घूम-घूम कर क्रिकेट खेलने वाले ऑलराउंडर बेनी हॉवेल, स्मिथ का बैक-अप हैं।फिनिशर्स की बदौलत ही टीम ने पहले मैच में 205 रनों का स्कोर पा लिया था।

राहुल चाहर और बराड़ स्पिन विभाग की ज़िम्मेदारी संभालेंगे। चाहर अपने तेज़ लेगब्रेक से बल्लेबाज़ों को परेशान कर सकते हैं, जबकि आईपीएल 2021 में दस ओवर से अधिक गेंदबाजी करने वालों में बराड़ (6.04) की इकॉनमी सबसे अच्छी थी।

कोलकाता की टीम ने जिस तरह पहले दो मैचों में प्रदर्शन किया उसमें कोई कमजोरी ढूंढना बाल की खाल निकालने के जैसा होगा। ज्यादा से ज्यादा इतना कहा जा सकता है कि कुछ बड़े नामों को बेहतर खेल दिखाने की जरुरत है।

बैंगलोर के खिलाफ पंजाब किंग्स की गेंदबाजी की कलई खुल गई थी। राहुल चाहर को छोड़ कर कोई भी गेंदबाज किफायती साबित नहीं हुआ था। यह टीम को याद रखना चाहिए कि हर बार बल्लेबाजी मैच नहीं जिताएगी, गेंदबाजी भी सटीक होनी चाहिए।
webdunia

इन खिलाड़ियों पर रहेंगी निगाहें

पिछले टूर्नामेंट के सितारे रहे वैंकटेश अय्यर पिछले 2 मैचों में फ्लॉप रहे हैं। उन्होंने चेन्नई के खिलाफ 16 तो बैंगलोर के खिलाफ 10 रन बनाए। उनके प्रदर्शन पर काफी कुछ निर्भर करता है। पिछले सीजन के दूसरे भाग में उनके धुंआधार बल्लेबाजी के कारण ही कोलकाता फाइनल तक का सफर तय कर पायी थी।

वैंकटेश अय्यर की तरह ही एक बड़ा नाम है नीतीश राणा जो अब तक अपने छवि के अनूरूप इस आईपीएल में प्रदर्शन नहीं कर पाया है।  चेन्नई के खिलाफ उन्होने 17 गेंदो में 2 चौके और 1 छक्के लगाए तो सही लेकिन 21 रन पर आउट हो गए तो बैंगलोर के खिलाफ राणा  सिर्फ 10 रन बना पाए। अब उन पर भी फ्रैंचाइजी बड़ी पारी खेलने का दबाव डालने वाली है।

कोलकाता की मजबूत बल्लेबाजी के बीच में एक नाम ऐसा है जिसे खुद को साबित करना है। विकेटकीपर शेल्डन जैक्सन को रणजी ट्रॉफी में रनों का अंबार लगाने वाले बाबा इंद्रजीत की जगह तरजीह दी गई। लेकिन जब तक उनकी बल्लेबाजी आयी तब तक कोलकाता जीत की दहलीज पर थी। वह नाबाद 3 रन बना पाए।
वहीं बैंगलोर के खिलाफ वो खाता तक नहीं खोल पाए थे।
webdunia

शाहरुख़ ख़ान को पहले भी पंजाब किंग्स ने पिछले सीजन में नीलामी में खरीदा था और इस सीजन में भी वह ऐसा करने में सफल रहे। शाहरुख खान ने कुल 11 मैचों में 153 रन बनाए, लेकिन यह रन 134 की स्ट्राइक रेट से बनाए गए थे। सैयद मुश्ताक ट्रॉफी में वह अपनी टीम चेन्नई को अंतिम गेंद पर 6 मारकर जिता चुके हैं। ऐसे में वह अपने आप को एक फिनिशर के रूप में स्थापित कर चुके हैं तो सभी की निगाहें उन पर होंगी।बैंगलोर के खिलाफ भी शाहरुख ने 20 गेंदो में 1 चौक और 2 छक्के की मदद से 24 रन बनाए थे। वह हमेशा ऐसी पारी खेलेंगे या नहीं यह देखने वाली बात होगी।

बाएं हाथ के मध्य-क्रम के बल्लेबाज़ और दाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ राज बावा इस अंडर -19 विश्व कप फ़ाइनल में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ 31 रन पर 5 विकेट लेकर प्लेयर ऑफ़ द मैच बने थे। इससे पहले उन्होंने युगांडा के ख़िलाफ़ टूर्नामेंट का सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर नाबाद 162 भी बनाया था। विश्व कप में भारत के कोच हृषिकेश कानितकर के अनुसार सभी प्रकार की स्थितियों में शांतचित रहना बावा का विशिष्ट गुण है। आईपीएल उस विशेषता का पूरी तरह से परीक्षण करेगा।हालांकि बैंगलोर से हुए मैच में वह अपना खाता नहीं खोल पाए थे लेकिन उनको एक मौका फ्रैंचाइजी और देना चाहेगी।

12 करोड़ की राशी में खरीदे गए लियाम लिंग्वस्टोन ने पहले मैच में कुछ खास प्रदर्शन नहीं किया था। गेंदबाजी में वह 1 ओवर में 14 रन देने के बाद जब बैंगलोर के खिलाफ बल्लेबाजी के लिए उतरे तो 2 छक्के लगाकर 10 गेंदो में 19 रन बना पाए। लेकिन एक लंबी पारी नहीं खेल पाए। उन्होंने झलकियां तो दिखा दी हैं लेकिन अब उन्हें कुछ बड़ा करना होगा।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

6 ओवर में ही जड़े रिकॉर्ड 73 रन, मोईन और उथप्पा के कमाल के कारण चेन्नई पहुंची 200 पार