Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

बैंगलोर से करो या मरो के मैच में भिडे़गी पंजाब किंग्स

हमें फॉलो करें webdunia
शुक्रवार, 13 मई 2022 (00:00 IST)
मुम्बई: आईपीएल इस समय ऐसे दौर में पहुंच चुका है जहां अब हर मुकाबला प्लेऑफ की रेस में टीमों की दावेदारी तय करता दिखाई देता है। शुक्रवार को पंजाब किंग्स का रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ ब्रेबोर्न स्टेडियम में होने वाला मुकाबला पंजाब के लिए करो या मरो का मैच होगा।

11 मैचों में पांच जीत और 10 अंकों के साथ आठवें स्थान पर मौजूद पंजाब के लिए इस मैच में सिर्फ जीत से ही बात बनेगी। हारने की सूरत में पंजाब होड़ से बाहर हो जाएगा। दूसरी तरफ बेंगलुरु के खाते में 12 मैचों में सात जीत के साथ 14 अंक हैं। इस मुकाबले में जीत बेंगलुरु के लिए प्लेऑफ के लिए उसकी दावेदारी को पुख्ता कर देगी।

हेड टू हेड रिकॉर्ड

हेड टू हेड रिकॉर्ड की बात करें तो पंजाब का पलड़ा बैंगलोर पर भारी है। कुल 29 मैचों में से 16 मैच पंजाब ने जीते हैं वहीं 13 मैच बैंगलोर ने जीते हैं। इसके अलावा पिछले 5 मैचों में बैंगलोर सिर्फ 1 मैच जीत पायी है। यही नहीं इस सत्र के पहले मैच में भी पंजाब ने बैंगलोर को 3 विकेटों से मात दी थी।

बैंगलोर के गेंदबाजों ने किया है बेहतरीन प्रदर्शन

बैंगलोर के गेंदबाजों ने पिछले कुछ मैचों में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। फिर चाहे वह जोश हेजलवुड हो, हर्षल पटेल हो या फिर वानिंदू हसरंगा हो। गेंदबाजी बैंगलोर की कभी ताकत नहीं रही लेकिन इस सत्र में यह ताकत बनकर उभर रही है।

बैंगलोर ने की है लचर बल्लेबाजी

इसके ठीक उलट यह कहा जा सकता है कि हमेशा बल्लेबाजी बैंगलोर की ताकत रही है लेकिन अब कमजोरी बनकर उभर रही है। आरसीबी ने सत्र का न्यूनतम स्कोर 68 रन अपने नाम किया और एक अन्य मैच में 145 रन के आसान लक्ष्य का पीछा नहीं कर सके। 68 रन बैंगलोर ने हैदराबाद के खिलाफ ही बनाए थे। इसके बाद भी टीम बल्लेबाजी की पिच पर भी सिर्फ 2 बार 170 और 173 रन बना सकी।हालांकि हैदराबाद से हुए पिछले मैच में बैंगलोर 190 रनों का आंकड़ा छूने में कामयाब रही थी।

पंजाब किंग्स का शीर्ष क्रम है मजबूत

पंजाब किंग्स की एक ताकत दिखती है कि उनका शीर्ष क्रम मजबूत है। शिखर धवन अच्छे फॉर्म में है मयंक अग्रवाल भी फॉर्म में आ चुके हैं। लियाम लिविंग्सटन ने भी कुछ बेहतरीन पारियां खेली है।

निचला क्रम है पंजाब की सबसे बड़ी कमजोरी

पंजाब की सबसे बड़ी कमजोरी की बात करें तो वह निचले क्रम की बल्लेबाजी है। पांचवे छठवें नंबर पर जैसे ही लियाम लिविंग्सटन आउट होते हैं वैसे ही ऐसा लगता है कि गेंदबाजों की बल्लेबाजी आ गई है। लखनऊ से हुए पिछले मैच में पंजाब की यह कमजोरी उभर कर सामने आ गई थी।
webdunia

इन खिलाड़ियों पर रहेंगी निगाहें

बेंगलुरु के कप्तान कप्तान फ़ाफ़ डुप्लेसी उन खिलाड़ियों में से हैं जो पंजाब किंग्स के ख़िलाफ़ हमेशा रन बनाते हैं, पंजाब किंग्स के ख़िलाफ़ उन्होंने 10 ​पारियों में 77.63 के औसत और 143.09 के स्ट्राइक रेट से 621 रन बनाए हैं, जिसमें नौ बार 30 से ज़्यादा का स्कोर। वैसे भी इस सीज़न उन्होंने 12 मैच में 389 रन बनाए हैं।

मध्य प्रदेश के बल्लेबाज़ रजत पाटीदार का घरेलू क्रिकेट में बहुत नाम है। उन्होंने पिछले सीज़न आईपीएल में डेब्यू किया लेकिन सफल नहीं हो पाए। हालांकि इस सीज़न उन्हें दोबारा मौक़ा मिला और उन्होंने पिछले दो मैच में 52(32) और 48(38) की पारियां खेली। उन्होंने छह आईपीएल मैचों में पांच बार 20 से अधिक रन बनाए हैं।

बेंगलुरु के ऑस्‍ट्रेलिया के ऑलराउंडर जोश हेजलवुड का यह सीज़न कमाल का रहा है। उन्होंने आठ मैचों में 6.81 के औसत से 13 विकेट लिए हैं। उनका प्रदर्शन पावरप्ले में भी सही रहा है जहां उन्होंने 5.58 के इकॉनमी से चार विकेट लिए हैं। वहीं, मध्य ओवरों में भी उन्होंने 4.75 के इकॉनमी से पांच विकेट लिए हैं।

पंजाब के लियाम लिविंग्स्टन ने नंबर चार पर बल्लेबाज़ी करते हुए पिछले कुछ मैचों में फ‍़िनिशर की भूमिका निभाई है। उन्होंने पंजाब के लिए इस सीज़न 11 मैच में 184.21 के स्ट्राइक रेट से 315 रन बनाए हैं। ऐसे में वह इस टीम के लिए इस सीज़न रन बनाने के मामले में दूसरे नंबर पर खड़े हैं। इसके साथ ही वह इस सीज़न कुछ अर्धशतक भी लगा चुके हैं।
webdunia

पंजाब के तेज गेंदबाज कैगिसो रबादा आईपीएल में अनुभवी तेज़ गेंदबाज़ों में से एक हैं, उन्होंने इस बार 10 मैच में 18 विकेट लिए हैं। इस सीज़न विकेट लेने के मामले में वह तीसरे स्थान पर संयुक्त रूप से खड़े हैं। पावरप्ले में विकेट लेना उनके लिए थोड़ा मुश्किल रहा है, जहां पर उन्होंने पिछले सीज़न के 43 मैच में नौ ही विकेट ​लिए हैं। हालांकि, पिछले 10 मैचों में उन्होंने आठ विकेट पावरप्ले में लिए हैं, जो उनके लिए बेहद अच्छा है।

पंजाब के जॉनी बेयरस्टो के लिए यह सीज़न अच्छा नहीं रहा, लेकिन जब उन्हें इस सीज़न ओपनिंग करने का मौक़ा मिला तो उन्होंने 56 (40) रनों का स्कोर किया और उम्मीद है कि वह इस फ़ॉर्म को जारी रखेंगे। वैसे भी बेंगलुरु के ख़िलाफ़ उन्होंने तीन मैचों में 166.96 के स्ट्राइक रेट से 187 रन बनाए हैं।

टीम इस प्रकार हैं :

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर: फाफ डुप्लेसी (कप्तान), विराट कोहली, ग्लेन मैक्सवेल, मोहम्मद सिराज, हर्षल पटेल, वानिन्दु हसरंगा, दिनेश कार्तिक, जोश हेजलवुड, शाहबाज अहमद, अनुज रावत, आकाश दीप, महिपाल लोमरोर, फिन एलन, शेरफेन रदरफोर्ड, जेसन बेहरेनडॉर्फ, सुयश प्रभुदेसाई, चामा मिलिंद, अनीश्वर गौतम, कर्ण शर्मा, डेविड विली, रजत पाटीदार, सिद्धार्थ कौल।

पंजाब किंग्स: शिखर धवन, मयंक अग्रवाल (कप्तान), अर्शदीप सिंह, कैगिसो रबाडा, जॉनी बेयरस्टो, राहुल चाहर, हरप्रीत बराड़, शाहरुख खान, प्रभसिमरन सिंह, जितेश शर्मा, ईशान पोरेल, लियाम लिविंगस्टोन, ओडियन स्मिथ, संदीप शर्मा, राज अंगद बावा, ऋषि धवन, प्रेरक मांकड़, वैभव अरोड़ा, रितिक चटर्जी, बलतेज ढांडा, अंश पटेल, नाथन एलिस, अथर्व ताएदे, भानुका राजपक्षे, बेनी हॉवेल।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

IPL है या मजाक, बिजली ना होने के कारण चेन्नई का ओपनर नहीं ले पाया रिव्यू, ट्विटर पर उड़ी खिल्ली