Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

नए IT नियमों के तहत Google और Facebook ने पेश की पहली रिपोर्ट, रवि शंकर प्रसाद बोले- पारदर्शिता की दिशा में बड़ा कदम

webdunia
शनिवार, 3 जुलाई 2021 (17:33 IST)
नई दिल्ली। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने नए IT नियमों के तहत गूगल, फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया मंचों द्वारा आपत्तिजनक पोस्ट स्वत: हटाने पर अपनी पहली अनुपालन रिपोर्ट प्रकाशित करने के लिए उनकी तारीफ की और इसे पारदर्शिता की दिशा में बड़ा कदम बताया।
 
नये सूचना प्रौद्योगिकी (IT) नियमों के तहत 50 लाख से अधिक यूजर्स वाले बड़े डिजिटल मंचों को हर महीने अनुपालन रिपोर्ट प्रकाशित करनी होगी जिसमें प्राप्त शिकायतों और उन पर की गयी कार्रवाई का उल्लेख हो।
 
प्रसाद ने ट्वीट किया कि गूगल, फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे महत्वपूर्ण सोशल मीडिया मंचों को नये आईटी नियमों का पालन करते देखना सुखद है। उनके द्वारा नये आईटी नियमों के अनुसार आपत्तिजनक पोस्ट को स्वत: हटाने पर पहली अनुपालन रिपोर्ट का प्रकाशन पारदर्शिता की दिशा में बड़ा कदम है।
 
उक्त तीनों मंचों द्वारा अनुपालन रिपोर्ट जारी करने से ट्विटर पर दबाव बढ़ सकता है जिसका नये नियमों को लेकर केंद्र सरकार के साथ गतिरोध बना हुआ है। सरकार ने देश के नये आईटी नियमों का अनुपालन नहीं करने पर तथा इसके लिए अधिकारियों की नियुक्ति नहीं करने पर ट्विटर से नाराजगी जताई थी।
 
फेसबुक ने शुक्रवार को अपनी पहली मासिक अनुपालन रिपोर्ट में कहा कि उसने देश में 15 मई से 15 जून के बीच उल्लंघन की 10 श्रेणियों में तीन करोड़ से अधिक सामग्रियों पर कार्रवाई की। इंस्टाग्राम ने इसी अवधि में नौ श्रेणियों में करीब 20 लाख पोस्ट , तस्वीर, वीडियो और टिप्पणी आदि पर कार्रवाई की।
 
गूगल ने बताया कि उसे और यूट्यूब को इस साल अप्रैल में भारत के उपयोगकर्ताओं से 27,762 शिकायतें स्थानीय कानूनों या निजी अधिकारों के कथित हनन की मिली थीं और उन्होंने परिणामस्वरूप 59,350 सामग्रियों (पोस्ट, तस्वीर, वीडियो और टिप्पणी) आदि को हटाया। भारतीय सोशल मीडिया कंपनी कू ने भी इस संबंध में अपनी रिपोर्ट दी है। (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

हिरासत में लिए गए भगवंत मान, पंजाब में बिजली कटौती के विरोध में कर रहे थे प्रदर्शन