Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

लखीमपुर हिंसा: सुप्रीम कोर्ट ने लगाई यूपी सरकार को फटकार, क्या हत्या के अन्य मामलों में भी आप ऐसा ही करते हैं...

webdunia
शुक्रवार, 8 अक्टूबर 2021 (14:20 IST)
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि वह लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में सरकार द्वारा उठाए कदमों से संतुष्ट नहीं है। साथ ही, अदालत ने उससे सवाल किया कि जिन आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है, उन्हें गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया है। 3 अक्टूबर को हुई हिंसा की इस घटना में आठ लोग मारे गये थे।
 
प्रधान न्यायाधीश एन वी रमण की अध्यक्षता वाली पीठ ने उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से पेश हुए वकील हरीश साल्वे को शीर्ष पुलिस अधिकारियों को यह बताने को कहा कि मामले में साक्ष्य और संबद्ध सामग्री नष्ट नहीं हों। पीठ में न्यायमूर्ति सूर्यकांत और न्यायमूर्ति हिमा कोहली भी शामिल हैं।
 
पीठ ने कहा कि आप (राज्य) क्या संदेश दे रहे हैं। क्या अन्य आरोपी, जिनके खिलाफ भारतीय दंड संहित की धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज किया जाता है, उसके साथ भी ऐसा ही व्यवहार होता है।
 
पीठ ने कहा कि अगर आप FIR देखेंगे, तो उसमें धारा 302 का जिक्र है। क्या आप दूसरे आरोपियों के साथ भी ऐसा ही व्यवहार करते हैं। शीर्ष न्यायालय ने इसे बेहद गंभीर अरोप बताया। न्यायालय ने मामले की आगे की सुनवाई के लिए 20 अक्टूबर की तारीख तय की है।
 
गौरतलब है कि किसानों का एक समूह उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की यात्रा के खिलाफ तीन अक्टूबर को प्रदर्शन कर रहा था, तभी लखीमपुर खीरी में एक एसयूवी (कार) ने चार किसानों को कथित तौर पर कुचल दिया। इससे गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने भाजपा के दो कार्यकर्ताओं और एक चालक की कथित तौर पर पीट-पीट कर हत्या कर दी, जबकि हिंसा में एक स्थानीय पत्रकार की भी मौत हो गई थी।
 
तिकोनिया थानाक्षेत्र में हुई इस घटना में केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा और अन्य के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है, लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। किसान नेताओं ने दावा किया है कि उस वाहन में आशीष भी थे, जिसने प्रदर्शनकारियों को कुचला था, लेकिन मंत्री ने आरोपों से इनकार किया है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

जोबट उपचुनाव Live Updates : कांग्रेस और भाजपा की सभाओं में उमड़ी नेताओं की भीड़