पेट्रोल और डीजल के भाव बढ़ने से घटी कारों की बिक्री

सोमवार, 10 दिसंबर 2018 (14:55 IST)
नई दिल्ली। महंगे पेट्रोल-डीजल तथा बैंकों द्वारा वाहन ऋण पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी से नवंबर में घरेलू बाजार में कारों समेत यात्री वाहनों की बिक्री में गिरावट रही। पिछले पांच महीनों में से चौथी बार देश में यात्री वाहनों की बिक्री घटी है।
 
 
वाहन निर्माता कंपनियों के संगठन सियाम द्वारा आज यहां जारी आंकड़ों के अनुसार, नवंबर में कारों की बिक्री 0.91 प्रतिशत घटकर 1,79,783 इकाई रह गयी। पिछले साल नवंबर में 1,81,435 कारें बिकी थीं। उपयोगी वाहनों की बिक्री भी नवंबर 2017 के 77,807 से 10.18 प्रतिशत घटकर 69,884 इकाई पर आ गयी। हालांकि, वैनों की बिक्री 0.83 प्रतिशत बढ़कर 16,333 इकाई पर पहुंच गयी। इस प्रकार यात्री वाहनों की बिक्री 3.43 फीसदी घटकर 2,66,000 रही। यात्री वाहनों में कारें, उपयोगी वाहन और वैन शामिल हैं।
 
 
सियाम के महानिदेशक विष्णु माथुर ने आंकड़े जारी करते हुए कहा, 'यात्री वाहनों की बिक्री में गिरावट की मुख्य वजह बाजार में ग्राहक धारणा का कमजोर रहना है। ब्याज दर और ईंधनों की कीमतें बढ़ रही हैं। बाजार में तरलता की कमी भी इसकी वजह रही है।'
 
 
माथुर ने बताया कि इस बार त्योहारी मौसम भी वाहन उद्योग के लिए उतना अच्छा नहीं रहा जितना आम तौर पर होता है। इसके अलावा साल के अंतिम महीनों में डीलर तथा कंपनियां भी तैयार वाहनों का बेड़ा कम करने की कोशिश में हैं। (वार्ता)
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख मतगणना के पहले ही कांग्रेसियों ने मध्यप्रदेश में सरकार बनाई