Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia

Reliance Jio का शुद्ध लाभ बढ़ा, 13 प्रतिशत बढ़कर 5,337 करोड़ हुआ

कंपनी का शुद्ध लाभ 20,466 करोड़ रुपए हुआ

हमें फॉलो करें Reliance Jio का शुद्ध लाभ बढ़ा, 13 प्रतिशत बढ़कर 5,337 करोड़ हुआ

वेबदुनिया न्यूज डेस्क

, सोमवार, 22 अप्रैल 2024 (19:23 IST)
Reliance Jio : देश की सबसे बड़ी दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी रिलायंस जियो (Reliance Jio) का एकल आधार पर शुद्ध लाभ (net profit) बीते वित्त वर्ष 2023-24 की मार्च तिमाही में सालाना आधार पर 13 प्रतिशत बढ़कर 5,337 करोड़ रुपए रहा। कंपनी की परिचालन आय चौथी तिमाही में 11 प्रतिशत बढ़कर 25,959 करोड़ रुपए रही।

 
शेयर बाजार को दी सूचना : रिलायंस जियो ने सोमवार को शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि 2023-24 की जनवरी-मार्च तिमाही में उसका शुद्ध लाभ 13.16 प्रतिशत बढ़कर 5,337 करोड़ रुपए रहा, जो इससे वित्त वर्ष 2022-23 की समान तिमाही में 4,716 करोड़ रुपए था।

 
कंपनी का शुद्ध लाभ 20,466 करोड़ रुपए हुआ : समूचे वित्त वर्ष 2023-24 में कंपनी का शुद्ध लाभ इससे पूर्व वित्त वर्ष के मुकाबले 12.4 प्रतिशत बढ़कर 20,466 करोड़ रुपए हो गया। आलोच्य वित्त वर्ष में रिलायंस जियो की आय सालभर पहले की तुलना में 10.2 प्रतिशत बढ़कर 1,00,119 करोड़ रुपए हो गई।
 
नतीजों की खास बातें...
 
रिलायंस ने रिकॉर्ड वार्षिक कंसोलिडेटेड राजस्व 1,000,122 करोड़ ($119.9 बिलियन) दर्ज किया, जो सालाना आधार पर 2.6% अधिक है, यह उपभोक्ता व्यवसायों और अपस्ट्रीम व्यवसाय में निरंतर विकास के दम पर हुआ है।
 
सभी प्रमुख ऑपरेटिंग सेगमेंट के सकारात्मक योगदान से रिलायंस का वार्षिक कंसोलिडेटेड EBITDA 16.1% (Y-o-Y) बढ़कर 178,677 करोड़ ($ 21.4 बिलियन) हो गया। रिलायंस का साल का कन्सोलिडेटेड टैक्स पूर्व मुनाफा 100,000 करोड़ रहा।
 
रिलायंस का कर पश्चात वार्षिक कंसोलिडेटेड लाभ 7.3% वर्ष-दर-वर्ष बढ़कर 79,020 करोड़ ($9.5 बिलियन) हो गया। जियो प्लेटफॉर्म्स का सालाना शद्ध लाभ 20,000 करोड़ को पार कर गया है जबकि रिलायंस रिटेल का सालाना शुद्ध लाभ 10,000 करोड़ का आंकड़ा पार कर गया है।
 
मार्च 2024 को समाप्त वित्त वर्ष के लिए पूंजीगत व्यय 131,769 करोड़ ($15.8 बिलियन) रहा।
 
RIL का कंसोलिडेटेड शुद्ध ऋण 31 मार्च 2024 तक थोड़ा कम होकर 116,281 करोड़ हो गया है। 31 मार्च 2023 तक यह 125,766 करोड़ था।
 
वर्ष 2024 की आखिरी तिमाही में रिलायंस का सकल राजस्व 264,834 ($31.8 billion) रहा, जो साल दर साल 10.8% ज्यादा है। ऑइल टू केमिकल्स और कन्ज्यूमर व्यवसाय में बेहतरीन वृद्धि के कारण ये संभव हो सका। KG D6 ब्लॉक से ज्यादा उत्पादन होने के कारण ऑइल और गैस सेगमेंट के राजस्व में 42.0% की शानदार वृद्धि दर्ज की गई।
 
सारे व्यवसायों के अच्छे योगदान के दम पर रिलायंस का इस तिमाही का EBITDA 14.3% बढ़कर (Y-o-Y) 47,150 करोड़ ($5.7 billion) रहा।
 
टैक्स के बाद मुनाफा (Y-o-Y) थोड़ा बढ़कर 21,243 crore ($2.5 billion) रहा।
 
31 मार्च 2024 को खत्म हुई तिमाही में रिलायंस का कन्सोलिडेटेड पूंजीगत व्यय 23,207 करोड़ ($2.8 billion) रहा। 
 
मार्च 2024 को खत्म हुई तिमाही में जियो प्लेटफॉर्म्स का EBIDTA 12.5% (Y-o-Y) बढ़कर 14,360 करोड़ रहा।
 
तिमाही में जियो का शुद्ध लाभ 12.0% (Y-o-Y) बढ़कर 5,583 करोड़ हो गया। इस वित्त वर्ष में जियो ने अपने उपभोक्ताओं की संख्या में 4 करोड़ 24 लाख की बढ़ोतरी की, जो सारी टेलीकॉम कंपनियों में सबसे ज्यादा है।
 
इस तिमाही में भी सभी अन्य कंपनियों के मुकाबल जियो ने सबसे ज्यादा 1 करोड़ 9 लाख उपभोक्ता जोड़े।
 
जियो का ARPU बढ़कर अब Rs 181.7 हो गया है। जियो अपने उपभोक्ताओं को 5G कनेक्टिविटी दे रहा है जिसके लिए वो अलग से पैसे नहीं ले रहा है।
 
15/n Q4 FY2023-24 तिमाही में जियो का कुल डेटा ट्रैफिक साल-दर-साल 35.2% बढ़कर 40.9 अरब GB रहा। वॉइस ट्रैफिक 9.7% (Y-o-Y) बढ़कर 1.44 खरब मिनट हो गया है।
 
Jio True5G नेटवर्क से 10 करोड़ 80 लाख से अधिक ग्राहक जुड़ चुके हैं। Jio True 5G नेटवर्क पर डेटा ट्रैफिक अब कुल Jio के वायरलेस डेटा ट्रैफिक का लगभग 28% हो गया है।
 
वित्त वर्ष 2023-24 में रिलायंस रिटेल का सकल राजस्व 3,00,000 करोड़ का आंकड़ा पार कर गया। कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स और फैशन एंड लाइफस्टाइल में वृद्धि के कारण मार्च 2024 तिमाही के लिए राजस्व 10.6% सालाना बढ़कर 76,627 करोड़ हो गया।
 
चौथी तिमाही में रिलायंस रिटेल का तिमाही EBITDA साल-दर-साल 18.5% बढ़कर 5,823 करोड़ रहा। 
 
रिटेल ने मार्च तिमाही के दौरान 7.8 मिलियन वर्ग फुट क्षेत्र में फैले 562 नए स्टोर खोले। तिमाही के अंत में रिटेल के कुल स्टोर्स की संख्या 18,836 हो गई, जो 79.1 मिलियन वर्ग फुट क्षेत्रफल में फैले हैं।
 
इस तिमाही में सभी प्रारूपों में 27 करोड़ 20 लाख फुट फॉल दर्ज किए गए, जो कि वर्ष-दर-वर्ष 24.2% अधिक हैं।
 
वित्त वर्ष 2023-24 के अंत तक रिलायंस रिटेल की रजिस्टर की गई उपभोक्ता संख्या 30 करोड़ 4 लाख पार कर गई है। पिछले साल के मुकाबले ये 22.2% ज्यादा है। कुल मिलाकर रिलायंस रिटेल ने 1.26 अरब ट्रांजेक्शन किए, जो पिछले साल के मुकाबले 22.0% अधिक हैं।
 
इस तिमाही में रिलायंस के ऑइल टू केमिकल्स व्यवसाय का राजस्व साल-दर-साल 10.9% बढ़कर 142,634 करोड़ ($17.1 billion) रहा।
 
साल की आखिरी तिमाही में रिलायंस के ऑइल टू केमिकल्स व्यवसाय का EBITDA 3.0% (Y-o-Y) बढ़कर 16,777 करोड़ ($ 2.0 अरब) रहा।
 
तिमाही में रिलायंस के ऑइल एंड गैस व्यवसाय का राजस्व पिछले साल की चौथी तिमाही के मुकाबले 42.0% ज्यादा रहा।
 
तिमाही में ऑइल और गैस व्यवसाय का EBITDA 5,606 crore रहा, जो साल-दर-साल 47.5% अधिक है EBITDA मार्जिन 86.7% रही।
 
ब्लॉक के जी डी 6 से प्रतिदिन 30 MMSCMD गैस और 23,000 Bbls तेल/ कंडेन्सेट का उत्पादन हो रहा है। 'आर' और 'सैट क्लस्टर'- तेल के 2 और कुओं में इंक्रीमेंटल उत्पादन के लिए डेवेलपमेंट प्लैन को सरकार की मंजूरी मिल गई है।
 
रिलायंस इंडस्ट्रीज ने प्रति शेयर Rs 10 के लाभांश यानी डिविडेंड की घोषणा की है।
 
Edited by: Ravindra Gupta


Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

महिला पुलिस अफसर की कार्डियक अरेस्ट से मौत, इंदौर से चेकअप कराकर लौट रही थी भोपाल