Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

22 साल के सरफराज खान ने Ranji Trophy में बैक टू बैक बनाए ये रिकॉर्ड

webdunia
मंगलवार, 28 जनवरी 2020 (20:45 IST)
धर्मशाला। एचपीसीए स्टेडियम पर रणजी ट्रॉफी मैच में यहां मुंबई के युवा बल्लेबाज सरफराज खान की 226 रनों की पारी आकर्षण का केंद्र रही। हिमाचल प्रदेश के खिलाफ खेली गई इस पारी में उन्होंने 32 चौकों के अलावा 4 छक्के उड़ाए, जिसकी बदौलत मुंबई 5 विकेट खोकर 372 रन बनाने में सफल रहा। सरफराज खान की उम्र केवल 22 बरस है और उन्होंने रणजी ट्रॉफी में बैक टू बैक लगातार 2 रिकॉर्ड बना दिए, जिसे बीसीसीआई ने भी सलाम किया। 
 
सरफराज ने इसी महीने की 22 जनवरी 2020 को तिहरा शतक जड़ा था और इसके बाद उन्होंने 27 जनवरी 2020 को दोहरा शतक जमा डाला। 31 साल बाद ऐसा पहला प्रसंग आया है, जब किसी क्रिकेटर ने रणजी ट्रॉफी में ऐसा कारनामा किया है। यह कारनामा करने वाले वे भारतीय क्रिकेट इतिहास के दूसरे क्रिकेटर हैं। उनसे पहले यह कमाल तमिलनाडु के पूर्व ओपनर डब्ल्यू वी रमन ने किया था। 
 
1989 में रमन ने प्रथम श्रेणी मैचों तिहरे शतक जड़ने के बाद दोहरा शतक बनाया था। रमन ने पहले नाबाद 313 और फिर नाबाद 200 का स्कोर बनाकर यह उपलब्धि हासिल की थी। 
 
सरफराज ने 22 जनवरी 2020 को उत्तर प्रदेश के खिलाफ 301 रन की पारी खेली थी, तब वे छठे नंबर पर उतरे थे लेकिन हिमाचल प्रदेश के खिलाफ कल जब उन्होंने दोहरा शतक बनाया, तब वे तब वे पांचवें नंबर पर उतरे। वे देश के ऐसे पहले बल्लेबाज हैं, जिन्होंने पांचवें नंबर पर मैदान में उतरकर यह उपलब्धि अपने नाम की है। 
 
मेजबान हिमाचल ने पहले गेंदबाजी करते हुए मुंबई के शुरुआती 3 विकेट जल्दी गिरा दिए। मुंबई का स्कोर एक समय 3 विकेट पर 16 रन था। जय बिस्टा (12) और भूपेन लालवानी (1) के अलावा हार्दिक तामोर (2) भी सस्ते में आउट हो गए थे। इसके बाद सरफराज मौर्चा संभाला और रनों की बारिश कर डाली। 
 
सरफराज ने सिद्धेश लाड (20) के साथ 55 रन की साझेदारी की। लाड के आउट होने के बाद उन्होंने आदित्य तारे (62) के साथ पांचवें विकेट के लिए 143 रन जोड़े। सरफराज और शुभम रंजने (नाबाद 44) ने भी 158 रन की साझेदारी की। खराब रोशनी के कारण खेल 75 ओवर के बाद ही रोक दिया गया था। 
 
उल्लेखनीय है कि रणजी ट्रॉफी में तिहरा शतक लगाने वाले सरफराज मुंबई के 7वें बल्लेबाज हैं। वह मुंबई के बल्लेबाजों के स्पेशल क्लब में शामिल हैं, जिसमें सुनील गावस्कर, संजय मांजरेकर, वसीम जाफर, रोहित शर्मा, विजय मर्चेंट और अजीत वाडेकर शामिल हैं। 
 
सरफराज रणजी ट्रॉफी के इतिहास में करूण नायर के बाद छठे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए तिहरा शतक जड़ने वाले सिर्फ दूसरे बल्लेबाज हैं। सरफराज से पहले मुंबई की ओर से पिछला तिहरा शतक दिग्गज बल्लेबाज रोहित शर्मा ने लगाया था।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

4th Test में द. अफ्रीका को लगा बड़ा झटका, 6 अंक और 60 फीसदी जुर्माना देना पड़ा