Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

आरोन फिंच ने किया मिशेल स्टार्क का समर्थन, कहा- डरने की जरूरत नहीं

webdunia
मंगलवार, 1 दिसंबर 2020 (18:58 IST)
कैनबरा। भारत के खिलाफ मौजूदा श्रृंखला में दबदबा बनाने वाले ऑस्ट्रेलिया के शीर्ष तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क की फॉर्म चिंता का विषय है लेकिन कप्तान आरोन फिंच ने मंगलवार को इस अनुभवी गेंदबाज का समर्थन करते हुए कहा कि अभी डरने की कोई जरूरत नहीं है।
 
सीमित ओवरों के प्रारूप में नई गेंद से शानदार प्रदर्शन करने वाले बाएं हाथ के तेज गेंदबाज स्टार्क भारत के खिलाफ मौजूदा श्रृंखला में जूझ रहे हैं। पहले 2 एकदिवसीय मैचों में स्टार्क सिर्फ 1 विकेट ही हासिल कर पाए जबकि इस दौरान उन्होंने 18 ओवरों में 147 रन लुटाए। ऑस्ट्रेलिया की टीम हालांकि दोनों मैच जीतने में सफल रही।
फिंच ने तीसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच से पूर्व प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर रहा है और आपको समझना होगा कि उसका स्तर उससे कहीं बेहतर है जिसकी आप अधिकांश लोगों से उम्मीद कर सकते हैं। इसका कारण यह है कि पिछले 8 या 9 साल में उसने अपना दबदबा बनाया है, विशेषकर सफेद गेंद के क्रिकेट में।
 
उन्होंने कहा कि उसे गेंद को स्विंग करना पसंद है लेकिन वास्तविकता यह है कि जब आप बड़े लक्ष्य का बचाव कर रहे हों और अच्छे खिलाड़ियों के खिलाफ खेल रहे हों तो वे आपको निशाना बनाते हैं। स्टार तेज गेंदबाज पैट कमिंस को अंतिम वनडे से आराम दिया गया है और फिंच ने कहा कि उन्होंने चर्चा की है कि स्टार्क का इस्तेमाल कैसे किया जाए। उन्होंने कहा कि आज हम बात करेंगे कि हम क्या चीज अलग कर सकते हैं? यह रणनीतिक चीज होगी या पारी में जब उसका इस्तेमाल होगा, उसे बदला जाएगा।
फिंच ने कहा कि हम इस बारे में आज बात करेंगे लेकिन निश्चित तौर पर मेरे नजरिए से डर की कोई बात नहीं है। पिछले साल विश्व कप से स्टार्क की फॉर्म में गिरावट आई है। उन्होंने इस दौरान 11 मैचों में 12 विकेट चटकाए जबकि 6.28 रन प्रति ओवर की गति से रन दिए। चोटिल स्टार बल्लेबाज डेविड वॉर्नर के अंतिम वनडे से बाहर होने और श्रृंखला पहले ही अपने नाम करने के बाद फिंच ने संकेत दिए कि उनकी टीम शीर्ष क्रम में प्रयोग कर सकती है।
 
फिंच ने कहा कि हमने अब तक टीम का चयन नहीं किया है लेकिन हमारे पास कुछ विकल्प हैं। हम मैथ्यू वेड को टीम में जगह देते हैं या मार्नस (लाबुशेन) पारी का आगाज करता है। एलेक्स कैरी ने अतीत में काफी बार ऐसा किया है लेकिन मध्यक्रम पिछले कुछ समय से काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहा है।
 
उन्होंने कहा कि श्रृंखला में 2-0 से आगे होने का फायदा यह है कि आप प्रयोग कर सकते हो या फिर चाहे तो सुरक्षित विकल्प के साथ खेल सकते हो। वॉर्नर को रविवार को दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान ग्रोइन में चोट लगी थी और वे सीमित ओवरों की श्रृंखला के बाकी मैचों से बाहर हो गए हैं जबकि उनका 4 टेस्ट मैचों की श्रृंखला में खेलना भी संदिग्ध है। (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

पुरुष टीम से पहले 2027 विश्व कप के लिए क्वालीफाई कर सकती है भारतीय महिला टीम : एआईएफएफ