Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कानपुर टेस्ट का अंतिम ओवर खेलने वाले कीवी स्पिनर एजाज पटेल की जन्मभूमि है मुंबई, गेंद से दिखाना चाहते हैं कमाल

हमें फॉलो करें webdunia
बुधवार, 1 दिसंबर 2021 (17:48 IST)
मुंबई:भारत में जन्में न्यूजीलैंड के स्पिनर एजाज पटेल ने बुधवार को कहा कि वह और उनके साथी स्पिनर पहले टेस्ट में सटीक लाइन और लेंथ से गेंदबाजी नहीं कर पाने के दोषी हैं और शुक्रवार से यहां शुरू हो रहे दूसरे टेस्ट में उन्हें सटीक गेंदबाजी करने की जरूरत है।

पटेल ने वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा, ‘‘मुझे लगता है कि स्पिन गेंदबाजी इकाई के रूप में संभवत: हम दोषी थे कि हमने लंबे समय तक स्टंप पर गेंदबाजी नहीं की। साथ ही वे (भारतीय बल्लेबाज) स्पिन के अच्छे खिलाड़ी हैं। उन्होंने हमें अधिक मौके नहीं दिए।’’

पटेल ने तीन विकेट चटकाए जबकि रचिन रविंद्र और विलियम समरविले के खाते में एक भी विकेट नहीं गया।इसके विपरीत अक्षर पटेल, रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा की स्पिन तिकड़ी ने पहले टेस्ट में मिलकर 17 विकेट हासिल किए।

पटेल ने कहा, ‘‘हमें सुनिश्चित करना होगा कि हम सटीक लाइन और लेंथ के साथ गेंदबाजी करें। मुझे यकीन है कि खिलाड़ी सबक लेंगे और अगले मैच में सामंजस्य बैठाएंगे लेकिन उसके लिए विकेट अलग होगा।’’
उन्होंने कहा, ‘‘बल्लेबाजी के नजरिए से, हमारे बल्लेबाजों ने उनके जैसे क्षमतावान स्पिनरों के खिलाफ उस विकेट पर शानदार प्रदर्शन किया, यह सामंजस्य बैठाने और सीखने तथा हमारे सामने जो परिस्थितियां हैं उनके अनुसार खेलने से संबंधित है।’’
webdunia

पटेल ने कहा कि उनकी टीम उलटफेर करने में सक्षम हैं और दूसरे टेस्ट में जीत दर्ज करने के इरादे से उतरेगी।
उन्होंने कहा, ‘‘यह सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेलने से जुड़ा है और सभी को पिछले मैच की तरह योगदान देना होगा। हम इसी तरह खेलना चाहते हैं, यह टीम प्रयास है। फिलहाल हम अच्छा क्रिकेट खेल रहे हैं और सहज रहते हुए आगे भी ऐसा ही करना चाहते हैं।’’

पटेल ने कहा कि उन्हें विश्वास हैं कि वे किसी भी हालात में प्रदर्शन कर सकते हैं।उन्होंने कहा, ‘‘हमें पता है कि वे अच्छे स्पिनर हैं लेकिन साथ ही हमें विश्वास है कि हमारे पास स्पिन खेलने वाले अच्छे खिलाड़ी हैं।’’

इस स्पिनर ने कहा, ‘‘हमने पिछले मैच में देखा, टॉम लैथम और विल यंग ने जिस तरह बल्लेबाजी की।’’
पटेल और भारत में जन्में रचिन रविंद्र ने पहले टेस्ट के अंतिम दिन नौ विकेट गिरने के बावजूद न्यूजीलैंड को हार से बचा लिया।

मुंबई में जन्में पटेल ने कहा कि उन दोनों के लिए अपने जन्मस्थल की टीम के खिलाफ संघर्ष करके मैच ड्रॉ कराना शानदार था।उन्होंने कहा, ‘‘यह हमारे लिए शानदार लम्हा था। मुझे लगता है कि विडंबना यह है कि भारतीय विरासत वाले दो लड़के जो न्यूजीलैंड में पले-बढ़े, वे सबसे बड़े क्रिकेट देशों में से एक के खिलाफ यहां खेल रहे थे और ड्रॉ के लिए संघर्ष कर रहे थे।’’

पटेल ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि यह अपने आप में शानदार कहानी है, हमारे लिए यहां आना विशेष था और मुझे लगता है कि यह शानदार रहा।’’तैंतीस साल के पटेल ने कहा कि उनके लिए उस शहर में खेलना भावनात्मक लम्हा है जहां उनका जन्म हुआ।
webdunia

उन्होंने कहा, ‘‘यह भावुक पल है। मैं इस बारे में सोच रहा था, कितनी बार मैं इस हवाई अड्डे से गया लेकिन इस बार मैं न्यूजीलैंड का प्रतिनिधित्व कर रहा हूं।’’उन्होंने कहा, ‘‘जब मैं हवाई अड्डे पर पहुंचा तो मेरे जहन में पहली बार मुंबई से जाने और पहली बार वापस आन की यादें ताजा हो गई। यह मेरे लिए विशेष लम्हा था जिसे मैं भविष्य में सहेजकर रखूंगा।’’(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

जापान में कमाल दिखाने के बाद भारतीय महिला हॉकी टीम चैंपियन्स ट्रॉफी के लिए कोरिया रवाना