'विराट जीत' के बाद कप्तान कोहली ने अपने लक्ष्य का खुलासा किया

रविवार, 13 अक्टूबर 2019 (17:55 IST)
पुणे। भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका को दूसरे टेस्ट मैच में रविवार को यहां पारी और 137 रनों से हराने तथा उनके खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में सबसे बड़ी जीत हासिल करने के बाद कहा कि उनका लक्ष्य हमेशा केवल टीम को मजबूत करना रहा है। 
 
विराट ने मैच की पहली पारी में नाबाद 254 रन बनाएथे जिससे भारत ने 601 रनों का विशाल स्कोर बनाने के बाद अपने इतिहास में दक्षिण अफ्रीका को पहली बार फॉलोऑन खेलने के लिए मजबूर किया था। उनकी इस पारी के लिए उन्हें 'मैन ऑफ द मैच' पुरस्कार से नवाजा गया। 
 
मैच समाप्त होने के बाद विराट ने अपने दोहरे शतक पर कहा, कप्तान के तौर पर आपको जिम्मेदारी लेनी होती है। मेरी मानसिकता हमेशा टीम के लिए बड़ा स्कोर करने की होती है। मुझे लगता है कि जब आप अपने बजाएटीम के बारे में सोचते है तब आपके ऊपर से दबाव हट जाता है।
 
कप्तान ने कहा, मैं अपने करियर के उस पड़ाव पर हूं जहां मैं अपने खेल और टीम के लिए स्कोर करने पर खुश हूं। टीम को हमेशा मजबूत करना मेरा एकमात्र लक्ष्य है।
 
अपनी पारी को लेकर उन्होंने कहा, नई गेंद के खिलाफ शुरू में थोड़ा संभल कर खेलना होता है। मुझे अजिंक्य रहाणे के साथ बल्लेबाजी करना बेहद पसंद है। रहाणे की मानसिकता बेहद सकारात्मक है। हम विकेटों के बीच में काफी अच्छी तरीके से दौड़ते हैं। हम शायद सबसे सफल भारतीय जोड़ी हैं और इसका एकमात्र कारण यही है कि हम दोनों टीम के लिए खेलते हैं।
 
टेस्ट चैंपियनशिप को लेकर रन मशीन नाम से मशहूर विराट ने कहा, जब हमने टेस्ट चैंपियनशिप का आगाज किया तो हम सातवें नंबर थे। हमारे पास केवल इसमें सुधार करना का विकल्प था। पिछले 3-4 वर्षों में हमने देखा है कि खिलाड़ियों के भीतर हमेशा अच्छे करने की ललक है जो टीम के लिए बेहद सकरात्मक है।
 
टीम के प्रदर्शन पर उन्होंने कहा, रिद्धिमान साहा ने विकेट के पीछे शानदार काम किया जैसे वह हमेशा करते हैं। पहला टेस्ट में हालांकि साहा थोड़ा परेशान लग रहे थे। रविचंद्रन अश्विन ने लाजवाब गेंदबाजी की। खिलाड़ी टीम हित के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं और यह देखना बेहद सुखद है।
 
टेस्ट सीरीज के आखिरी मैच को लेकर उन्होंने कहा कि हम सीरीज को 3-0 से जीतना का पूरा प्रयास करेंगे और आखिरी मुकाबले में भी आराम करने की कोई गुंजाइश नहीं है। उन्होंने कहा कि किसी भी स्तर पर कोई भी आराम नहीं करेगा, यह मेरा आश्वासन है।
 
भारत की दक्षिण अफ्रीका पर यह सबसे बड़ी जीत है और इसके साथ ही भारत ने फ्रीडम ट्रॉफी पर कब्ज़ा कर लिया है। आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप में भारत की यह लगातार चौथी जीत है। भारत को इस जीत से 40 अंक मिले और अब उसके 200 अंक हो गए हैं। टेस्ट चैंपियनशिप में 200 अंकों का आंकड़ा छूने वाली भारत पहली टीम बन गई है। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख भारत की द. अफ्रीका पर सबसे बड़ी जीत, एक पारी और 137 रन से हराया, लगातार 11वीं सीरीज जीती