Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia

आम से खास को संक्रमित करता कोरोना

webdunia

DW

सोमवार, 3 अगस्त 2020 (19:07 IST)
रिपोर्ट आमिर अंसारी
 
कोरोनावायरस का संक्रमण बेहद खतरनाक है और यह देश और विदेश में तेजी से फैल चुका है। भारत में भी कई हाईप्रोफाइल नेता और मंत्री कोविड-19 से संक्रमित हो गए हैं।
 
भारतीय गृहमंत्री अमित शाह कोरोनावायरस की चपेट में आ गए हैं। अमित शाह का इलाज दिल्ली के पास मेदांता अस्पताल में चल रहा है। शाह के अलावा कर्नाटक के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा, तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित भी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना से लड़ने के लिए लोगों को सेहतमंद होना बेहद जरूरी है। उनके मुताबिक मानसिक तौर पर भी बीमारी के खिलाफ लोगों को तैयार होना चाहिए।
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा, तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित भी रविवार को कोरोना पॉजिटिव पाए गए। मंत्री और नेताओं के परिवार के सदस्य भी कोरोना पॉजिटिव पाए जा रहे हैं। बीएस येदियुरप्पा की बेटी पद्मावती की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। नेताओं का कोरोना से संक्रमित होने का सिलसिला जारी है और इस सूची में पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम भी शामिल हो गए हैं। 
 
वहीं रविवार को उत्तरप्रदेश की एक मंत्री की कोरोना से मौत हो गई। यूपी कैबिनेट की मंत्री 62 साल की कमल रानी वरुण का कोरोना के कारण निधन हो गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक वे 18 जुलाई को कोरोना पॉजिटिव पाई गईं थी। उत्तरप्रदेश में किसी मंत्री का कोरोना से मौत का यह पहला मामला है। उत्तरप्रदेश के ही जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह और प्रदेश बीजेपी प्रमुख स्वतंत्र देव सिंह की भी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूपी के 8 अन्य राज्यमंत्री की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है और उनका इलाज चल रहा है।
हाईप्रोफाइल मामले 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बाद देश के सबसे शक्तिशाली कहे जाने वाले नेता और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कल रविवार को खुद ट्वीट कर बताया कि शुरुआती लक्षण के बाद उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि कोरोना के शुरुआती लक्षण दिखने पर मैंने टेस्ट करवाया और रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मेरी तबीयत ठीक है लेकिन डॉक्टर्स की सलाह पर अस्पताल में भर्ती हो रहा हूं। मेरा अनुरोध है कि आप में से जो भी लोग पिछले कुछ दिनों में मेरे संपर्क में आए हैं, वे खुद को आइसोलेट कर अपनी जांच करवाएं। अमित शाह गुडगांव के मेदांता अस्पताल में भर्ती हैं और उनका इलाज चल रहा है।
 
गौरतलब है कि 55 साल के शाह ने पिछले बुधवार को कैबिनेट की बैठक में भाग लिया था। इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण सहित सभी वरिष्ठ मंत्री मौजूद थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन किया गया था और सभी ने मास्क का इस्तेमाल किया था। एक रिपोर्ट के मुताबिक अमित शाह का पिछले हफ्ता काफी व्यस्त था और वे कई नेताओं से मुलाकात के साथ-साथ कुछ कार्यक्रम में भी शामिल हुए थे।
5 अगस्त को प्रधानमंत्री मोदी अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण की आधारशिला भी रखेंगे। आयोजन में अमित शाह को भी आमंत्रित किया गया है लेकिन वे इस कार्यक्रम में शामिल होंगे या नहीं, यह अब तक साफ नहीं हो पाया है। सांस फांउडेशन के संस्थापक और श्वसन विशेषज्ञ डॉक्टर पीपी बोस कहते हैं कि कोरोना को हराने के लिए शारीरिक और मानसिक तंदुरुस्ती सबसे अहम हथियार है। डॉक्टर बोस के मुताबिक अगर पहले से कोई बीमारी मौजूद है, जैसे कि डायबिटीज तो सार्वजनिक जीवन में गतिविधियां कम कर देनी चाहिए। जो लोग शारीरिक तौर पर फिट हैं, उनको यह बीमारी नहीं पकड़ेगी। कोविड-19 से बचने के लिए नियमित तौर पर व्यायाम को अपनी दिनचर्या में शामिल करना होगा। 
 
दूसरी ओर कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण के मामले को देखते हुए बीजेपी की वरिष्ठ नेता उमा भारती ने एक बयान में कहा है कि वे अयोध्या में भूमिपूजन कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगी। उन्होंने ट्वीट कर कार्यक्रम के समय उपस्थित समूह की सूची से अपना नाम अलग कर देने को कहा है। उमा भारती ने अपने ट्वीट में लिखा है कि जब से मैंने अमित शाह और यूपी के बीजेपी नेताओं के बारे में कोरोना पॉजिटिव होने का सुना, तभी से मैं अयोध्या में मंदिर के शिलान्यास में उपस्थित लोगों के लिए खासकर पीएम मोदी के लिए चिंतित हूं।
 
डॉक्टर बोस कहते हैं कि कोविड-19 एक युद्ध की तरह है और यह युद्ध वही जीतेगा, जो शारीरिक तौर पर फिट रहेगा। डॉक्टर बोस के मुताबिक अगर लोग मेहनत नहीं करेंगे और पसीना नहीं बहाएंगे तो उनको बीमारी पकड़ेगी ही। जीवन में संघर्ष कोरोनावायरस से लड़ाई में अहम योगदान देगा।
 
कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने अपनी रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर एक ट्वीट कर कहा है कि वे ठीक हैं लेकिन डॉक्टर की सलाह पर अस्पताल में भर्ती हुए हैं। येदियुरप्पा ने शुक्रवार को ही कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई बाला से मुलाकात की थी। पिछले महीने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोरोना संक्रमित हो गए थे, उसके बाद से ही वे अस्पताल में भर्ती हैं। उनकी तीसरी रिपोर्ट भी रविवार 2 अगस्त को पॉजिटिव आई है। वे बीते 9 दिनों से भोपाल के चिरायु अस्पताल में भर्ती हैं।

कई राज्यों के विधायक भी कोरोना से बच नहीं पाए हैं। बाढ़ की मार झेल रहा असम अब कोरोनावायरस की भी चपेट में आ गया और राज्य के 7 विधायक कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए हैं। रविवार को ही कांग्रेस विधायक रकीबुल हुसैन की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

असम: बाढ़ के पानी में एक महीने से डूबा है गांव, खाने तक के लाले पड़े