अब राष्‍ट्रपति की जाति पर राजनीति, गहलोत के बयान पर मचा बवाल

बुधवार, 17 अप्रैल 2019 (13:42 IST)
जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत ने एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, 'क्योंकि गुजरात के चुनाव आ रहे थे और वे घबरा चुके थे कि सरकार गुजरात में नहीं बनने जा रही। मेरा ऐसा मानना है कि रामनाथ कोविंद जी को राष्ट्रपति जातीय समीकरण बैठाने के लिए बनाया गया और आडवाणी साहब छूट गए।'
 
गेहलोत के बयान पर बवाल मच गया। भाजपा प्रवक्ता जीवीएलएन राव ने कहा कि आज हम बहुत दुःख के साथ ये बात पूरे देश के सामने रखना चाहते हैं कि आज कांग्रेस पार्टी ने बहुत ही निचले स्तर पर जाकर चुनावी मर्यादा का उल्लंघन किया है।
 
उन्होंने कहा कि भारत के राष्ट्रपति, जो देश में सर्वोच्च पद है, उन पर भी कांग्रेस ने राजनीति करने की कोशिश की है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत देश के राष्ट्रपति जी को लेकर गलत बयानबाजी कर रहे हैं।

भाजपा नेता ने कहा ‍कि कांग्रेस क्या गरीब तबके, दलित समाज से आने वाले राष्ट्रपति जी के खिलाफ है। एक काबिल व्यक्ति और ज्ञानी व्यक्ति होने के बावजूद केवल समाज का नाम लेकर कांग्रेस राष्ट्रपति जी के साथ पूरे समाज और देश को बदनाम कर कर रही है। उन्होंने चुनाव आयोग से राष्ट्रपति पर इस तरह का बयान देने के मामले को संज्ञान लेने की अपील की।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख नरेन्द्र मोदी का जाति दांव, पिछड़ा हूं इसलिए मिल रही हैं गालियां