लोकसभा चुनाव 2019 : दूसरे चरण में 12 राज्यों की 95 सीटों पर हुआ 66 प्रतिशत मतदान

गुरुवार, 18 अप्रैल 2019 (23:53 IST)
नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में गुरुवार को 12 राज्यों की 95 सीटों पर शाम 6 बजे तक मतदान का स्तर 66 प्रतिशत रहा। पहले चरण के मतदान की तुलना में यह 3 प्रतिशत कम रहा। 
 
उप चुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा ने बताया कि मतदान के अंतिम आंकड़ों के मुताबिक दूसरे दौर में सर्वाधिक 78 प्रतिशत मतदान पुडुचेरी की एक लोकसभा पर रहा।
 
उन्होंने बताया कि 70 प्रतिशत से अधिक मतदान वाले राज्यों में पुडुचेरी के अलावा पश्चिम बंगाल (76 प्रतिशत), मणिपुर (74.3 प्रतिशत), असम (73.32 प्रतिशत), और तमिलनाडु (72 प्रतिशत) शामिल हैं। ज्ञात हो कि पहले चरण में 11 अप्रैल को 20 राज्यों की 97 सीटों पर 69.4 प्रतिशत मतदान हुआ था।
 
दूसरे चरण में तमिलनाडु की 39 में से 38 सीटों पर मतदान हुआ। इस चरण में तमिलनाडु की वेल्लोर और त्रिपुरा की पूर्वी त्रिपुरा सीट पर मतदान स्थगित किया गया है, वहीं कर्नाटक की 28 में से 14 सीटों पर 61.84 प्रतिशत तथा महाराष्ट्र की 10 सीटों पर 62 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। 
 
उन्होंने बताया मतदान के ये अंतिम आंकड़े नहीं हैं। अभी तमाम लोकसभा सीटों पर मतदान जारी है। उल्लेखनीय है कि 2014 के लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में 69.62 प्रतिशत मतदान हुआ था। 
 
सिन्हा ने बताया कि उत्तरप्रदेश और बिहार में दूसरे चरण में, पिछले लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण की तुलना में मतदान लगभग 1 प्रतिशत बढ़ा है जबकि उड़ीसा में मतदान में गिरावट दर्ज की गई है। आयोग के आंकड़ों के मुताबिक शाम 6 बजे तक उत्तरप्रदेश की 8 सीटों पर 62.3 प्रतिशत और बिहार की 5 सीटों पर 62.53 प्रतिशत मतदान हो चुका था। 
 
उड़ीसा की पांच लोकसभा सीटों पर 64 प्रतिशत, पश्चिम बंगाल की तीन सीटों पर 76 प्रतिशत और जम्मू-कश्मीर की दो सीटों (उधमपुर और श्रीनगर) पर सबसे कम 43.4 प्रतिशत मतदान हुआ। मतदान के लिहाज से संवेदनशील इलाकों में शुमार छत्तीसगढ़ की तीन सीटों (राजनंदगांव, महासमंद और कांकेर) पर 71 प्रतिशत मतदान हुआ। 
 
उन्होंने बताया कि उड़ीसा और पश्चिम बंगाल में कुछ स्थानों पर मामूली घटनाओं को छोड़कर सामान्य रूप से मतदान शांतिपूर्ण रहा। मतदान के दौरान तीन मतदानकर्मियों और एक मतदाता की मौत की जानकारी मिली है। इनमें एक मतदान अधिकारी की उड़ीसा में दिल का दौरा पड़ने से मौत की घटना शामिल है। इसके अलावा मणिपुर में ईवीएम क्षतिग्रस्त किये जाने का भी मामला सामने आया है। 
 
उल्लेखनीय है कि दूसरे चरण के मतदान वाली सीटों पर सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक मतदान होना था। कुछ सीटों पर शाम 6 और कुछ पर 7 बजे तक मतदान का समय निर्धारित किया गया था।
 
सिन्हा ने बताया कि दूसरे चरण का मतदान पूरा होने तक 14 राज्यों की सभी सीटों पर मतदान हो चुका है। इस चरण में उड़ीसा की 35 विधानसभा सीटों पर भी मतदान हुआ। इसके अलावा तमिलनाडु में 18 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए वोट डाले गए। मतदान के दौरान ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतों पर 1.45 प्रतिशत वीवीपेट मशीनें बदलनी पड़ीं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख नैनो के बाद भारतीय बाजार में एक और सस्ती कार की एंट्री