Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

इंदौर में आंखफोड़वा कांड! मोतियाबिंद ऑपरेशन के बाद 11 मरीजों की आंखों की रोशनी गई

webdunia

विकास सिंह

शनिवार, 17 अगस्त 2019 (12:28 IST)
इंदौर। इंदौर में मोतियाबिंद के ऑपरेशन के बाद 11 मरीजों की आंख की रोशनी चले जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। इंदौर आई हॉस्पिटल में मोतियाबिंद के ऑपरेशन के बाद 11 मरीजों की आंखों में इंफेक्शन के चलते उनकी रोशनी चली गई है।
 
शुरुआती जांच में डॉक्टरों का कहना है कि ऑपरेशन के बाद मरीजों की आंख में जो दवा डाली गई, शायद उसके चलते मरीजों की आंख में इंफेक्शन हुआ है।
 
बताया जा रहा है कि मोतियाबिंद के ऑपरेशन के लिए अस्पताल में 8 अगस्त को एक शिविर लगाया गया था जिसमें मरीजों के ऑपरेशन के बाद धीमे-धीमे उनकी आंख की रोशनी ठीक होने की बजाय चली गई। आई अस्पताल का संचालन एक ट्रस्ट के जरिए हो रहा था। मामला सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने अस्पताल की ओटी को सील कर दिया है।
 
हैरत की बात यह है कि 2010 में इसी अस्पताल में मोतियाबिंद के ऑपरेशन के बाद करीब 20 लोगों की आंखों की रोशनी चल गई थी। इस बार फिर अस्पताल में कैंप लगाया गया और उसके बाद उनकी आंखों में इंफेक्शन हो गया और मरीजों की आंखों की रोशनी चली गई। अस्पताल में मरीजों का कहना है कि ऑपरेशन के बाद उनकी आंख की रोशनी धीमे-धीमे चली गई और अब तक डॉक्टर भी कुछ नहीं कह पा रहे हैं।
 
स्वास्थ्य मंत्री ने दिए जांच के आदेश- अपने गृह जिले में आंखफोड़वा कांड सामने आने के बाद प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने घटना पर दु:ख जताया है। स्वास्थ्य मंत्री ने स्वीकार किया है कि आई हॉस्पिटल में ऑपरेशन के बाद 11 मरीजों की आंखों की रोशनी चली गई है।
 
पूरे मामले की जांच के लिए मंत्री ने 7 सदस्यीय समिति की घोषणा करते हुए कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। पूरे मामले की जांच इंदौर कमिश्नर की अगुवाई में 7 सदस्यीय कमेटी करेगी जिसमें इंदौर कलेक्टर समेत स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी शामिल हैं।
webdunia
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मरीजों की आंख की रोशनी वापस लाने के बाद सरकार पूरी कोशिश करेगी और इसके लिए बाहर के डॉक्टरों की भी मदद ली जाएगी। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अस्पताल का लाइसेंस निरस्त करने के साथ ही पीड़ित परिवार को 20 हजार की फौरन मदद दी जाएगी, वहीं पूरे मामले पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी संज्ञान लिया है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

इंदौर में मोतियाबिंद ऑपरेशन के बाद 11 मरीजों की आंखों की रोशनी गई