Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

जावड़ेकर ने किया एशिया के सबसे लंबे और दुनिया के 5वें सबसे लंबे हाईस्पीड ट्रैक का उद्घाटन

webdunia
बुधवार, 30 जून 2021 (15:45 IST)
इंदौर। भारी उद्योग एवं लोक उद्यम मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज बुधवार को पीथमपुर में एनएटीआरएएक्स-हाईस्पीड ट्रैक (एचएसटी) का वर्चुअल उद्घाटन किया, जो एशिया का सबसे लंबा ट्रैक है। एनएटीआरएएक्स को 1,000 एकड़ भूमि के क्षेत्र में विकसित किया गया है। जहां पर दोपहिया वाहनों से लेकर भारी ट्रैक्टर ट्रेलरों तक के सभी प्रमुख श्रेणी वाले वाहनों के हाईस्पीड परीक्षण हो सकेंगे, जो कि वाहनों के लिए सभी प्रकार के हाईस्पीड परीक्षण का एक प्रमुख केंद्र होगा।

 
विश्वस्तरीय 11.3 किमी लंबे हाईस्पीड ट्रैक के ई-उद्घाटन पर बोलते हुए जावड़ेकर ने कहा कि भारत का ऑटोमोबाइल और स्पेयर पार्ट्स का मैन्युफैक्चरिंग केंद्र बनना तय है। मंत्री ने कहा कि हम तेजी से 'आत्मनिर्भर भारत' की ओर बढ़ रहे हैं और इस दिशा में चौतरफा प्रयास किए जा रहे हैं। उनका मंत्रालय प्रधानमंत्री के सपने को पूरा करने के लिए के लिए प्रतिबद्ध है जिसके तहत भारत ऑटो मैन्युफैक्चरिंग का केंद्र बनेगा। उन्होंने कहा कि ऑटोमोबाइल और मैन्युफैक्चरिंग उद्योगों के विस्तार से नए रोजगार पैदा करने में भी सहयोग मिलेगा।

 
मंत्री ने कहा कि रेलवे, राजमार्ग और जलमार्ग क्षेत्र की कई परियोजनाएं वर्षों से लटकी हुई थीं, जो आज मजबूत राजनीतिक इच्छाशक्ति के कारण पूरी हो रही हैं। इस अवसर पर भारी उद्योग एवं लोक उद्यम राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कि सरकार मैन्युफैक्चरिंग और ऑटोमोबाइल उद्योग को बढ़ावा दे रही है, क्योंकि इससे देश को बड़े पैमाने पर सशक्त बनाने में मदद मिलेगी।
 
एनएटीआरएएक्स केंद्र में कई परीक्षण क्षमताएं हैं, जैसे अधिकतम गति को आंकना, एक्सीलरेशन, तय गति पर ईंधन की खपत क्षमता, रीयल रोड ड्राइविंग सिमुलेशन के माध्यम से उत्सर्जन परीक्षण, लेन बदलने के दौरान के दौरान वाहन की स्थिरता, उच्च गति की निरंतरता परखने की सुविधा है। इसके अलावा यह वाहनों के डायनेमिक्स का एक उत्कृष्टता केंद्र है।
 
एचएसटी का इस्तेमाल बीएमडब्ल्यू, मर्सिडीज, ऑडी, फेरारी, लेम्बोर्गिनी, टेस्ला आदि जैसी हाई-एंड कारों की अधिकतम हाईस्पीड क्षमता को मापने के लिए किया जाता है जिसे किसी अन्य भारतीय परीक्षण ट्रैक पर नहीं मापा जा सकता है। मध्यप्रदेश में स्थित होने के कारण यह अधिकांश ओईएम के लिए सुलभ है। विदेशी ओईएम भी भारतीय परिस्थितियों के लिए प्रोटोटाइप कारों के विकास के लिए एनएटीआरएएक्स एचएसटी के इस्तेमाल पर विचार करेंगे। वर्तमान में विदेशी ओईएम हाईस्पीड परीक्षण जरूरतों के लिए विदेश में उच्च गति वाले ट्रैक पर परीक्षण करते हैं।
 
यह सभी प्रकार के हाईस्पीड परीक्षणों के लिए एक प्रमुख स्थान है, जो दुनिया में सबसे बड़े ट्रैकों में से एक है। यह सभी तरह की श्रेणी वाले वाहनों की जरूरत को पूरा कर सकता है। दोपहिया वाहनों से लेकर सबसे भारी ट्रैक्टर ट्रेलरों तक के वाहनों का इस ट्रैक पर परीक्षण किया जा सकता है। ट्रैक के घुमावों पर वाहनों की स्टेयरिंग का नियंत्रण 375 किलोमीटर प्रति घंटे की अधिकतम गति पर भी किया जा सकता है। इसके लिए ट्रैक को कम अंडाकार बनाया गया है, जो इसे वैश्विक स्तर पर सबसे सुरक्षित परीक्षण ट्रैक में से एक बनाता है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

चीन सरकार ऑस्ट्रेलिया में निवासरत लोकतंत्र समर्थक चीनी विद्यार्थियों को धमका रही