Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

मप्र : पिछले 1 वर्ष में 10 से ज्यादा मॉब लिंचिंग की घटनाएं, बच्चा चोर की अफवाह में उन्मादी भीड़ का शिकार बने मासूम लोग

webdunia
गुरुवार, 6 फ़रवरी 2020 (11:49 IST)
मनावर। मनावर में मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है। बच्चा चोरी की अफवाह में उन्मादी और हिंसक भीड़ ने 6 लोगों की लाठियों और डंडों से पिटाई की। पुलिस का कहना है कि पैसों के लेन-देन में भीड़ ने लोगों को मारा। कभी बच्चा चोर तो कभी गाय के नाम पर प्रदेश में मॉब लिंचिंग की घटनाएं सामने आईं। 
इस मामले में 45 लोगों को आरोपी बनाया गया है और 3 की गिरफ्तारी की गई है। इसमें 1 व्यक्ति की मौत हो गई है। मध्यप्रदेश में बच्चा चोरी के शक में मारपीट में पिछले 1 साल में 10 से ज्यादा घटनाएं सामने आई हैं।
 
पिछले 5 साल में देश में मॉब लिंचिंग की कई घटनाएं हुईं। इनमें 48 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी, वहीं 252 लोग गिरफ्तार हुए।
 
सोशल मीडिया पर बच्चा चोरी की अफवाह फैलने के बाद मॉब लिंचिंग की घटनाएं भोपाल, इंदौर, उज्जैन, नरसिंहपुर, गाडरवारा, रायसेन, मंडला, बालाघाट, छिंदवाड़ा, बैतूल कई जिलों में सामने आई थीं।
 
इस अफवाह से निर्दोष लोग उन्मादी हिंसक भीड़ के शिकार बने थे। बैतूल के शाहपुर थाना क्षेत्र में कार में सवार कांग्रेस के 2 नेता और एक सामाजिक कार्यकर्ता को भीड़ ने बच्चा चोर समझकर पीट डाला था। रायसेन में तो इस अफवाह में भीड़ ने 1 व्यक्ति की जान ले ली थी।
 
गौरक्षा के नाम पर भी प्रदेश में निर्दोष लोगों को हिंसक भीड़ का शिकार होना पड़ा। गाय के नाम मॉब लिंचिंग की घटना सामने आने के बाद कमलनाथ सरकार ने 5 साल की जेल का कड़ा कानून बनाया था।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

निर्भया मामला : हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ केंद्र की अपील पर शुक्रवार को सुनवाई