Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

1000 रुपए का एक आम, पेड़ पर ही हो जाती है बुकिंग

webdunia
रविवार, 6 जून 2021 (20:48 IST)
भारत में आम की एक से बढ़कर एक किस्में है। हर किस्म अपने में लाजवाब है। आमों की मल्लिका के रूप में मशहूर 'नूरजहां' किस्म एक ऐसा ही खास आम है। इस आम की खूबी ऐसे समझ सकते हैं कि फल लगते ही प्रति आम के हिसाब से इसकी बुकिंग हो जाती है। यह वजनदार होता है।
 
अपने वजनदार फलों के चलते 'आमों की मलिका' के रूप में मशहूर 'नूरजहां' किस्म के स्वाद के शौकीनों को पिछले साल मायूसी हाथ लगी थी, लेकिन इस बार मौसम की मेहरबानी से इसकी अच्छी फसल हुई है और इसके वजनी आम पकने से पहले ही ऊंचे दामों पर बुक हो चुके हैं।
 
अफगानिस्तानी मूल की मानी जाने वाली आम की प्रजाति नूरजहां के गिने-चुने पेड़ मध्यप्रदेश के अलीराजपुर जिले के कट्ठीवाड़ा क्षेत्र में पाए जाते हैं। यह इलाका गुजरात से सटा है।
 
इंदौर से करीब 250 किलोमीटर दूर कट्ठीवाड़ा के आम उत्पादक शिवराजसिंह जाधव ने बताया कि मेरे बाग में नूरजहां आम के तीन पेड़ों पर कुल 250 फल लगे हैं। इनकी बुकिंग काफी पहले ही हो चुकी है। लोगों ने नूरजहां के एक आम की 500 से 1,000 रुपए के बीच कीमत लगाई है।
 
उन्होंने बताया कि नूरजहां आम की अग्रिम बुकिंग करने वाले लोगों में मध्य प्रदेश के साथ ही पड़ोसी गुजरात के शौकीन शामिल हैं। जाधव ने बताया कि इस बार नूरजहां आम के फलों का वजन दो से साढ़े तीन किलोग्राम के बीच रहने वाला है।
 
इस बीच, कट्ठीवाड़ा में नूरजहां की बागवानी के विशेषज्ञ इशाक मंसूरी ने बताया, "इस बार नूरजहां की फसल तो अच्छी हुई है लेकिन कोविड-19 के प्रकोप के कारण आमों के कारोबार पर थोड़ा असर पड़ा है।
 
उन्होंने बताया कि वर्ष 2020 में नूरजहां के पेड़ों पर संभवतः जलवायु परिवर्तन के दुष्प्रभावों के कारण बौर (आम के फूल) ही नहीं आए थे जिससे शौकीनों को इस आम के खास स्वाद से वंचित रहना पड़ा था। मंसूरी ने बताया कि वर्ष 2019 में नूरजहां के फलों का वजन औसतन 2.75 किलोग्राम के आस-पास रहा था। तब खरीदारों ने इसके केवल एक फल के बदले 1,200 रुपये तक की ऊंची कीमत चुकाई थी।
 
बागवानी के जानकारों ने बताया कि नूरजहां के पेड़ों पर आमतौर पर जनवरी-फरवरी से बौर आने शुरू होते हैं और इसके फल जून की शुरुआत में पककर बिक्री के लिए तैयार हो जाते हैं। उन्होंने बताया कि नूरजहां के भारी-भरकम फल तकरीबन एक फुट तक लम्बे हो सकते हैं और इनकी गुठली का वजन 150 से 200 ग्राम के बीच होता है। (Photo courtesy : Madhya Pradesh Tourism twitter)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

कर्नाटक : 'बिकनी' पर झंडे के रंग को लेकर बवाल, मंत्री बोले- सरकार करेगी कानूनी कार्रवाई...