Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

आज भोपाल में जनजातीय गौरव दिवस सम्मेलन में पीएम मोदी आदिवासियों को देंगे सौगात,पढ़ें पूरा कार्यक्रम

webdunia
webdunia

विकास सिंह

सोमवार, 15 नवंबर 2021 (09:00 IST)
भोपाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज जनजातीय गौरव दिवस के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए राजधानी भोपाल आ रहे है। प्रधानमंत्री जंबूरी मैदान में जनजातीय गौरव दिवस के मुख्य कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री की आगवानी के लिए पूरा भोपाल सज चुका है और आदवासी रंग में रंगा नजर आ रहा है।

कोरोना काल के बाद देश का संभवतः सबसे बड़ा आयोजन जहां एक मंच के नीचे 2 लाख से ज्यादा लोग मौजूद रहेंगे। तय कार्यक्रम के मुताबिक प्रधानमंत्री जनजातीय गौरव दिवस के  कार्यक्रम स्थल जम्बूरी मैदान दोपहर 1.10 पर पहुंचेगे जहां वह सबसे पहले जनजातीय समुदाय के शहीद जननायकों और स्व सहायता समूहों एवं वन धन समूहों के उत्पादों की प्रदर्शनी का अवलोकन करेंगे। 
 
इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंच पर पहुंचेंगे और भगवान बिरसा मुंडा के चित्र पर पुष्पांजलि आर्पित करेंगे। मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत आदिवासी परंपरा से जैकेट, बैगामाला, पगड़ी, तीर कमान से होने के साथ प्रधानमंत्री को रानी कमलापति की मूर्ति भेंट की जाएगी। जनजातीय कलाकारों पद्मश्री भूरी बाई और पद्मश्री भज्जू सिंह श्याम प्रधानमंत्री को चित्रकला भेंट करेंगे। वहीं मंच पर मुख्यमंत्री द्वारा अमृत माटी कलश प्रधानमंत्री को दिया जाएगा। इसके बाद जनजाति लोक कलाकारों द्वारा लोक नृत्य की प्रस्तुति दी जाएगी।
 
मंच से ही प्रधानमंत्री राशन आपके ग्राम योजना पर आधारित लघु फिल्म का प्रदर्शन और योजना का शुभारंभ व दो वाहन चालकों को राशन वाहन की चाबी का प्रदान करेंगे। इसके साथ मध्य प्रदेश सिकलसेल मिशन पर लघु फिल्म का प्रदर्शन और तीन व्यक्तियों को जेनेटिक काउंसलिंग कार्ड प्रदाय कर प्रोजेक्ट का शुभारंभ करेंगे। वहीं 20 नवनियुक्त पर्टिकुलरली ग्रेवल ट्राईबल ग्रुप (PVTG) शिक्षकों में से 3 शिक्षकों को नियुक्ति प्रमाण पत्र सौंपेगे।
 
प्रदेश में टीकाकरण उपलब्धि तथा शत-प्रतिशत कोविड-19 करण उपलब्धि वाले जनजातीय बहुल गांव नरसिंह अरोड़ा जिला झाबुआ पर आधारित लघु फिल्म का प्रदर्शन और 50 एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों का वर्चुअल भूमि पूजन भी प्रधानमंत्री करेंगे। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यक्रम को संबोधित करेंगे।
 
14 योजनाओं को आदिवासियों को देंगे सौगात-आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जनजातीय सम्मेलन के मंच से  चौदह बड़ी योजनाएं आदिवासियों को समर्पित करेंगे। ‘राशन और पानी आपको द्वार’ समेत सीएम शिवराज की 14 योजनाओं से प्रदेश के 89 जनजातीय बाहुल्य विकासखंडों को लाभ मिलेगा, इनमें घर-घर पेयजल पहुंचाने के लिए नल-जल योजना भी शामिल है।
 
‘राशन आपके द्वार’ योजना- मध्यप्रदेश सरकार की प्रदेश में 'मुख्यमंत्री राशन आपके ग्राम योजना' प्रारंभ की जा रही है। योजना में राशन वितरण वाहनों के माध्यम से ग्राम में ही राशन वितरित किया जायेगा। जनजातीय हितग्राहियों को अब उचित मूल्य राशन लेने के लिये पंचायत मुख्यालय पर नहीं जाना पड़ेगा। इससे उन्हें राशन प्राप्त करने में सुविधा और समय की बचत भी होगी। आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भोपाल के जम्बूरी मैदान में जनजातीय गौरव दिवस समारोह में इस योजना की विधिवत शुरूआत करेंगे।
 
योजना के संचालन के लिये प्रदेश में 485 वाहन अनुबंधित किये गये हैं। इनके माध्यम से प्रदेश के 16 जिलों के 74 जनजातीय विकासखण्डों में उचित मूल्य राशन वितरित किया जायेगा। योजना से 6 हजार 575 गाँवों के 7 लाख 43 हजार परिवार लाभांवित होंगे। प्रतिमाह लगभग 16 हजार 944 मीट्रिक टन राशन का वितरण किया जायेगा। राशन वाहनों को कस्टमाइज कर उन पर तौल काँटा, बैठक व्यवस्था, माईक, पंखा, लाईट एवं सामग्री की सुरक्षा के प्रबंध किये जायेंगे। वाहन पर महत्वपूर्ण शासकीय योजनाओं का प्रचार-प्रसार भी किया जायेगा।
 
योजना के संचालन के लिये अनुसूचित जनजाति के युवाओं के वाहन अनुबंधित किये जायेंगे। एक टन खाद्यान्न क्षमता वाले वाहन के लिये 24 रूपये तथा 2 टन क्षमता वाले वाहन के लिये 31 हजार रूपये प्रतिमाह किराया प्रदान किया जायेगा। हर चार महिने में किराये की दर को पुनरीक्षित किया जा सकेगा।
 
आदिवासियों के लिए प्रमुख योजनाएं
सिकेल सेल एनीमिया बीमारी से निजात पाने के लिए मिशन शुरु होगा
छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय का नाम राजा शंकर शाह होगा
मध्य प्रदेश औषधीय पादप बोर्ड का गठन होगा
देवारण्य औषधीय पादप बोर्ड का गठन होगा
सामुदायिक वन प्रबंधन का अधिकार आदिवासी समाज को दिया जाएगा
आदिवासी स्टूडेंट्स के लिए NEET, JEE मेंस की परीक्षाओं को लेकर स्मार्ट क्लासेस शुरु होंगी
हर गांव में 4 व्यक्तियों को ग्रामीण इंजीनियर के रूप में ट्रेनिंग दी जाएगी
आदिवासी युवाओं को पुलिस और सेना में भर्ती के लिए ट्रेनिंग
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

महाराष्ट्र के बीड में नाबालिग से 6 माह में 400 लोगों ने किया बलात्कार, 3 गिरफ्तार