कमलनाथ सरकार के जुल्म के खिलाफ शिवराज ने किया जंग का ऐलान

मंगलवार, 27 अगस्त 2019 (21:47 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में भाजपा एक बार कमलनाथ सरकार पर हमलावर हो गई है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अब कमलनाथ सरकार के खिलाफ जंग का एलान कर दिया है।
 
शिवपुरी के पिछोर में सरकार के खिलाफ जन आक्रोश रैली और जेल भरो आंदोलन को संबोधित करते हुए शिवराज ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बने आठ महीने हो गए। अब हमारे सब्र का बांध और उनके पापों का घड़ा भर गया है। अब इस घड़े को फोड़ने का समय आ गया है। जब तक किसानों का कर्ज माफ नहीं होगा हम चैन की सांस नहीं लेंगे।
 
उन्होंने कहा कि बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता चाहिए, हमारी योजनाओं का पैसा सरकार जनता को दे, जनता और कार्यकर्ताओं पर जो दबाव बनाया जा रहा है, वह बंद हो। मुख्यमंत्री सुन लें, स्थानीय विधायक भी सुन लें। अब इस अन्याय की हद हो गई है। आज इस जुल्म के खिलाफ मैं जंग का ऐलान करने आया हूं।
 
प्रदेश में अंधेर नगरी, चौपट राजा वाली स्थिति - सरकार के खिलाफ जेल भरो आंदोलन का शंखनाद करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बचपन में हम सबने एक कहानी पढ़ी थी ‘अंधेर नगरी चैपट राजा।’ प्रदेश में आज वैसी ही स्थिति है। 
 
उन्होंने कहा कि राहुल गांधी, सोनिया गांधी और मुख्यमंत्री कमलनाथ जवाब दें, उन्होंने प्रदेश की जनता को जो सपने दिखाए थे, क्या वो पूरे हो गए? इन्होंने 10 दिनों में किसानों कर्ज माफ कर देंगे, ये कहा था, लेकिन कर्ज माफ नहीं हुआ। अब 8 महीने हो गए हैं और अब तक 24 मुख्यमंत्री बदल दिए जाने थे।
 
अब मुख्यमंत्री की अखबारों में बड़ी-बड़ी चिट्ठियां छप रही हैं, लेकिन प्रदेश के किसान डिफाल्टर हो गए। अब किसानों को 14 प्रतिशत ब्याज पर कर्ज लेना पड़ेगा। इन्होंने कहा था कि बिजली बिल माफ करेंगे, लेकिन बिल माफ नहीं हुए। पहले बिजली से करंट लगता था, अब बिजली के बिल झटके मार रहे हैं।
 
हमारी योजनाओं को किया बंद - सभा को संबोधित करते हुए शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस की  सरकार ने किसानों को, गरीबों को लूट लिया। कांग्रेस ने वचन पत्र में कहा था कि नौजवानों को 4 हजार रुपए बेरोजगारी भत्ता देंगे, लेकिन नहीं मिला। इन्होंने संबल योजना बंद कर दी। गरीबों के अंतिम संस्कार के लिए दिए जाने वाले 5 हजार रुपए खा गए। प्रसव के समय गरीब बहनों को दिए जाने वाले 16 हजार रुपए खा गए। गरीबों को बीमारी के इलाज के लिए पैसे नहीं मिलते। बेटियों की शादी पर इस सरकार ने 51 हजार रुपए के चेक दिए, लेकिन खाते में पैसा ही नहीं डाला। अब बेटियां चेक लेकर घूम रही हैं। इन्होंने हमारी सारी योजनाएं बंद कर दीं। बुजुर्गों की तीर्थ यात्रा भी बंद कर दी। आम जनता पर अन्याय हो रहा है। आज प्रदेश में चारों तरफ हाहाकार मची है।
 
झूठे मुकदमे बने, तो भोपाल घेर लेंगे -  इस मौके पर शिवराज ने कहा कि हमारी सरकार ने कभी कांग्रेसियों को तकलीफ नहीं दी, लेकिन कांग्रेस की सरकार हमारे कार्यकर्ताओं पर, आम लोगों पर झूठे मुकदमे बनवा रही है। उन्होंने कहा कि मैं चेतावनी देता हूं, सीएम सुन लें, गृहमंत्री सुन ले, डीजीपी सुन लें, आईजीपी सुन लें। अगर झूठे मुकदमे बने, तो हम भोपाल घेर लेंगे। उन्होंने कहा कि हम डरेंगे नहीं, हम इंदिरा गांधी से नहीं डरे, तो ये किस खेत की मूली हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख पाकिस्तानी एयर स्पेस से आए मोदी, बौखलाए इमरान ने ले लिया बड़ा फैसला