वेबदुनिया के समाचार संपादक वृजेन्द्रसिंह झाला सम्मानित

मंगलवार, 9 अप्रैल 2019 (15:29 IST)
इंदौर। युवा पत्रकार एकता मंच और मालवा श्रमजीवी पत्रकार संघ द्वारा आयोजित कार्यक्रम में वेबदुनिया के समाचार संपादक वृजेन्द्रसिंह झाला एवं अन्य पत्रकारों को सम्मानित किया गया। इस अवसर 'विकास के आईने में इंदौर और संभावनाएं' विषय पर परिसंवाद का आयोजन भी किया गया। 
 
हाईकोर्ट के पूर्व न्यायाधीश सुशील कुमार गुप्ता ने कहा कि शहर का विस्तार, चौड़ी सड़कें, समृद्धि, बड़ी-बड़ी कोचिंग संस्थाएं ही विकास नहीं है। विकास का संबंध संवेदनशीलता और सिविलाइजेशन से होता है। विकास के नाम पर अंधाधुंध भागदौड़ उचित नहीं है। 
 
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के कुलपति नरेन्द्र धाकड़ ने कहा कि इंदौर की आबादी 5 लाख से बढ़कर 35 लाख के करीब पहुंच गई है। बढ़ते इंदौर का विकास भी उसी के अनुरूप होना चाहिए। इसमें कोई संदेह नहीं कि लोगों मकान विकास की भेंट चढ़े, लेकिन उसी अनुपात में लोगों की जमीनों के भाव भी बढ़े हैं। शहर में उद्योग और व्यवसाय बढ़ेगा तो रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे और यहां के युवाओं को बाहर नहीं जाना पड़ेगा। इसके लिए इंडस्ट्रीज और इंस्टीट्‍यूशन को आपस में जोड़ना होगा ताकि कुशल लोग तैयार हो सकें।
वरिष्ठ समाजसेवी और अधिवक्ता अनिल त्रिवेदी ने कहा कि यहां बेतरतीब विकास के साथ मनमानी और फिजूलखर्ची बढ़ी, लेकिन जनभागीदारी घटी। यदि यह विकास है तो हमें यह नहीं चाहिए। सिटी स्मार्ट हो जाएगी और मनुष्य गेल्या हो जाएगा तो कैसे काम चलेगा। हमें इन मुद्दों पर अपनी बात मजबूती से रखनी चाहिए। शहर की ट्रैफिक व्यवस्था के बुरे हाल हैं। दुर्घटनाओं में हर दिन औसत तीन लोगों की मौत हो जाती है, इतनी तो पाक और चीन सीमा पर भी नहीं होती। आधा इंदौर झुग्गियों में रह रहा है। इस तरह का विकास नहीं चाहिए। स्मार्ट सिटी और विकास के पागलपन का पोस्टमार्टम होना चाहिए। समस्याओं को लेकर शहर नागरिकों को भी अपनी जुबान खोलना चाहिए। 
 
वरिष्ठ पत्रकार प्रतीक श्रीवास्तव ने कहा कि इंदौर में विकास की अनंत संभावनाएं हैं, लेकिन पिछले 15 सालों में यहां जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा हुई है। विकास होना चाहिए मगर उसमें राजनीतिक भागीदारी होनी चाहिए। आज शहर में गायों के लिए जगह नहीं हैं, लेकिन कुत्ते खुले घूम रहे हैं। हमें संवेदनशील और भावनात्मक शहर चाहिए। स्मार्टनेस के साथ जज्बातों की भी कद्र होनी चाहिए।
 
इंदौर प्रेस क्लब के महासचिव नवनीत शुक्ला ने कहा कि हमने विकास की प्रारंभिक प्रसव पीड़ा देखी है। शहर में तेजी से विकास तो हुआ लेकिन लोगों का सड़कों से रोजगार खत्म हो गया। इस अवसर पर प्रेस क्लब अध्यक्ष अरविन्द तिवारी और ज्योतिषी डॉ. घनश्याम ठाकुर भी उपस्थित थे। 
अभिनंदन समारोह : इस अवसर पर आयोजित अभिनंद समारोह में वरिष्ठ पत्रकार प्रतीक श्रीवास्तव, वृजेन्द्रसिंह झाला, जयसिंह रघुवंशी, कार्टूनिस्ट वीरेन्द्रसिंह को अभिनंदन पत्र, अंगवस्त्र और श्रीफल देकर सम्मानित किया गया। अनके अलावा भूपेश यादव, घनश्यामसिंह (अधीक्षक रेडियो वायरलेस), उपनिरीक्षक अफजल खान, उपनिरीक्षक भंवरलाल जायसवाल, स.उपनिरीक्षक देवेन्द्रसिंह सिसोदिया, प्रधान आरक्षक आकाश विनायक, आरक्षक नरेश सैयाम आदि को भी सम्मानित किया गया। 
 
कार्यक्रम का प्रारंभ दीप प्रज्जवलन और सरस्वती वंदना से हुआ। स्वागत कुंवर विजयसिंह, सोहराब पटेल, शकील खान, विजय त्रिवेदी और केशव गोयल ने किया किया। संचालन एवं आभार प्रदर्शन ज्योति सिंह ने किया। 
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख भाजपा के पिछले घोषणा पत्र में थे 11 चेहरे, अब केवल मोदी