Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

दुनिया के इन महान लोगों की प्रेरणा हैं महात्मा गांधी

webdunia

अनिरुद्ध जोशी

महात्मा गांधीजी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। उनका जन्म 2 अक्टूबर को पोरबंदर में हुआ था। भारत में गांधी को चाहने वाले जितने हैं उतने ही उनकी आलोचना करने वाले भी हैं। हालांकि महात्मा गांधी से कई महान लोगों ने प्रेरणा लेकर उनके रास्ते पर चलने का प्रयास किया और वे सफल भी हुए हैं। आओ जानते हैं इस संबंध में संक्षिप्त में।
 
 
महात्मा गांधी ही ऐसे पहले शख्स थे जिन्होंने आजादी को हासिल करने के लिए अहिंसक मार्ग को अपनाया, जो कि दुनिया में सबसे पहला, अनूठा और प्रेरणादायी उदाहरण था। उसी से प्रेरित होकर कई लोगों ने अहिंसा को अपनाकर महानतम कार्य किए हैं।
 
1. मार्टिन लूथर किंग : अमेरिका के महात्मा गांधी कहे जाने वाले मार्टिन लूथर किंग जूनियर भी महात्मा गांधी से प्रेरित थे। अपनी आत्मकथा में मार्टिन लूथर किंग जूनियर ने अपने विचारों और कार्यों पर महात्मा गांधी के प्रभाव के बारे में काफी विस्तार से लिखा है। 1955-56 में किंग जूनियर की भागीदारी वाला प्रसिद्ध मांटगोमरी बस बहिष्कार आंदोलन महात्मा गांधी के असहयोग आंदोलन और सत्याग्रह से ही प्रेरित था।
 
2.लियो टॉलस्टॉय : यो टॉलस्टॉय भी महात्मा गांधी से प्रभावित थे और महात्मा गांधी भी उनसे प्रभावित थे। गांधीजी उनसे लगातार पत्र व्यवहार करते रहते थे। गांधीजी ने दक्षिण अफ्रीका के सत्याग्रह संघर्ष के दौरान, जोहांसबर्ग से 21 मील दूर एक 1100 एकड़ की छोटी सी कालोनी में टॉलस्टॉय फार्म स्थापित किया था।
 
3. अल्बर्ट आइंस्टीन : महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन को दो लोग पसंद थे महान मानवतावादी अल्बर्ट श्वाइटज़र और अहिंसा के समर्थक महात्मा गांधी। आइंस्टीन ने कहा था- ‘पश्चिम में अकेले अल्बर्ट श्वाइटज़र ही ऐसे हैं जिनका इस पीढ़ी पर उस तरह का नैतिक प्रभाव पड़ा है, जिसकी तुलना गांधी से की जा सकती हो। आइंस्टीन और महात्मा गांधी में थोड़ा बहुत पत्राचार भी होता था।
 
4. नेल्सन मंडेला : नोबेले पुरुस्कार विजेता साउथ अफ्रीका का नेल्सन मंडेला भी गांधी से प्रभावित थे। महात्मा गांधी ने रंगभेद के खिलाफ अगर अपना संघर्ष दक्षिण अफ्रीका में शुरू किया, तो नेल्सन मंडेला ने उसी जमीन पर गांधी की विरासत को आगे बढ़ाया। नेल्सन मंडेला को इसीलिए भारत रत्न दिया गया था। भारत का सबसे बड़ा सम्मान पाने वाले नेल्सन मंडेला भारतीय उप महाद्वीप के बाहर के पहले शख्स हैं जिन्हें 1990 में सम्मान दिया गया था।
 
5. रबींद्रनाथ टैगोर : नोबेले पुरुस्कार विजेता रवींद्रनाथ टैगोर भले ही गांधी के कुछ विचारों से सहमत नहीं थे परंतु वे उनसे प्रभावित थे। उन्होंने गांधीजी को कई खत लिखे जिसमें उन्होंने उनकी तारीफ की थी। उन्होंने कहा थ कि महात्मा गांधी भारत के निराश्रित लाखों लोगों के द्वार पर आकर खड़े हो गए। उन्होंने भारतीय जनता के विशाल जनसमूह को उनके मांस और रक्त के रूप में स्वीकार कर लिया है। सत्य ने सत्य को जागृत किया है।
 
6. दलाई लामा : तिब्बत के निर्वासित बौद्ध भिक्षु नोबेले पुरुस्कार विजेता दलाई लामा भी गांधी के विचारों से बहुत प्रभावित थे। उन्होंने कई बार यह कहा भी है कि वे महात्मा गांधी के अनुयायी हैं।
 
7. जॉर्ज बर्नार्ड शॉ : नोबेल पुरस्कार विजेता आयरिश नाटककार और समाजवादी जॉर्ज बर्नार्ड शॉ भी गांधी के काफी प्रभावित थे। उन्होंने कहा था कि गांधी का प्रभाव क्या है? यह ऐसा है जैसे हिमालय का किसी पर छाप क्या है।
 
8. पर्ल एस बक : अमेरिका के प्रसिद्ध लेखक पर्ल एस बक भी गांधीजी के विचारों से काफी प्रभावित थे। महात्मा गांधी की हत्या के बाद उन्होंने कहा था कि वह सही थे, वह जानते थे कि वह सही हैं, हम सभी जानते हैं कि वह सही थे। जिस आदमी ने उन्हें मारा था वह भी जानता था कि गांधी सही हैं। हालांकि लंबे समय तक हिंसक प्रदर्शन जारी रहे, लेकिन उन्होंने साबित किया कि गांधी सही थे हिंसा की दुनिया बीमार है। ओह, भारत, आपके गांधी के योग्य होने का सब साहस करते हैं।
 
9. आंग सान सू की : बर्मा की स्वतंत्रता सेनानी नोबेल पुरस्कार विजेता आंग सान सू की ने महात्मा गांधी से प्रेरित होकर ही अपने देश में लोकतंत्र हेतु आंदोलन चलाया था। उन्होंने 2012 में न्यूयॉर्क में कोलंबिया विश्वविद्यालय में छात्रों को संबोधित करते हुए कहा था, ''मेरे जीवन में प्रमुख प्रभावों में से एक गांधी हैं।''
 
10. नरेंद्र मोदी : हमारे वर्तमान के प्रधानमंत्री नरेंद्रो मोदी भी महात्मा गांधी से प्रेरित होकर ही स्वच्छ भारत मिशन, जनभागीदारी के कार्य, पर्यावरण संवरक्षण के कार्य और गरीबों के लिए जनहितेशी कार्य कर रहे हैं। वे अपने भाषणों में कई बार इसका उल्लेख भी कर चुके हैं। 
 
11. बराक ओबामा : 2009 में जब पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा अमेरिका में वेकफील्ड हाई स्कूल का दौरा कर रहे थे तब एक नौवी कक्षा के छात्र ने उनसे पूछा कि अगर वह किसी मृत या जीवित व्यक्ति के साथ डिनर करना चाहेंगे तो वह कौन होगा। इसके जवाब में ओबामा ने कहा, ''मुझे लगता है कि वह सिर्फ गांधी हो सकते हैं क्योंकि वह मेरे असली हीरो हैं।''
 
12. अमर्त्य सेन : अमर्त्य सेन ने गांधी जी के बारे में कहा था कि वह एक महान व्यक्ति हैं जिनके विचारों और कार्यों का दुनिया पर एक स्थायी प्रभाव पड़ा है।
 
इसके अलावा खास लोगों में पंडित जवाहरलाल नेहरू, जे.बी. कृपलानी, सरदार वल्लभभाई पटेल, खान अब्दुल गफ्फार खान, जयप्रकाश नारायण, मौलाना अबुल कलाम आजाद, डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद, कमलादेवी चट्टोपाध्याय, जे.सी. कुमारप्पा, मीरा बेन, मृदुला साराभाई, सी. राजगोपालाचारी, विनोभा भावे, बाबा आमटे और खान अब्दुल खान गफ्‍फार का नाम प्रमुखता से लिया जाता है। 
 
इसके अलावा जेम्स लाव्सन, स्टीव बिको, रोमां रोलां, मारिया लासर्दा दे मौरा, लांजा देल वस्तो, मदलीन स्लेड या मीराबेन, जॉन लेनन, अल गोर, , जमनालाल बजाज, धरमपाल, डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, जे.बी.॰ कृपलानी, ठक्कर बापा, रविशंकर महाराज, नानाभाई भट्ट, राजकुमारी अमृत कौर, सुशीला नायर, आशादेवी, आर्यनायकम, कमलादेवी चट्टोपाध्याय, मृदुला साराभाई आदि अनेक कई महान लोग हैं, जो महात्मा गांधी से प्रभावित थे।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Punjab crisis : नाराज चल रहे G-23 नेताओं की मांगें मानेगी कांग्रेस, जल्द बुलाएगी CWC की बैठक