Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Motivation Tips : यदि आपको अपनी जिंदगी बर्बाद करना है तो करें ये 6 कार्य

हमें फॉलो करें webdunia

अनिरुद्ध जोशी

आपने अक्सर पढ़ा होगा कि यदि आपको अपनी जिंदगी संवारना हो या स्वर्ग जैसी बनाना हो तो करें ये कार्य या आजमाएं ये टिप्स। लेकिन क्या आपने कभी सोचा कि किन कारणों से आपकी जिंदगी बर्बाद हो जाती है या नरक बन जाती है? कहते हैं कि जो लोग यह कारण जान लेते हैं वे अपनी जिंदगी को बर्बाद होने से बचा लेते हैं परंतु कई तो ऐसे हैं कि जिंदगीभर जान ही नहीं पाते हैं कि आखिर क्या कारण हैं जिनसे जिंदगी नर्क बन गई है। तो आओ जानते हैं ऐसे ही 6 कारण।
 
 
1. हर बात को काटना और उसमें नकारात्मकता ढूंढ़ना : कई लोग होते हैं जिन्हें कोई कार्य करने का कहें या कोई आइडिया बताएं तो वे कहते हैं कि यह तो असंभव है, हो ही नहीं सकता। ऐसे लोग हर बातों को काटते रहते हैं। ऐसे लोग दूसरों का ही नहीं खुद का भी मोरल डाउन करते रहते हैं। ऐसे लोग जिंदगी में कभी भी कुछ भी नहीं कर पाते हैं। न ढंग की नौकरी और ना व्यापार। ऐसे लोग हरदम नकारात्मक ही सोचते रहते हैं। 
 
2. आमदनी अठन्नी और खर्चा रुपैया : कई लोग होते हैं जो बड़े ही खर्चीले होते हैं चाहे इसके लिए उधार ही क्यों ना लेना पड़े। उनकी जितनी सैलरी होती है उससे ज्यादा ही खर्चा करने में कुशल होते हैं। वे सोचते हैं कि अरे! देख लेंगे सब निपट लेंगे लेकिन वे कभी निपट नहीं पाते हैं। आमदानी से अधिक खर्चा करने की आदत होती है। बेकार की चीजों में खर्चा करते रहते हैं। कई बैंकों के क्रेडिट कार्ड ले रखे हैं और बस जिंदगी रुपयों को इधर से उधर करने में ही उलझी रहती है। इधर की टोपी उधर।
 
3. दूसरों को देखकर जीना : कई लोग ऐसे होते हैं जो हर वक्त यह देखते रहते हैं कि दूसरा क्या कर रहा है? कैसी जिंदगी जी रहा है, सुखी है या दु:खी है। यदि सुखी है तो उसके सुख को देखकर जलते रहते हैं। दिन रात यही सोंचते रहते हैं कि वो सुखी क्यों और कैसे हैं। यही सोच-सोच कर दु:खी होते रहते हैं। 
 
4. दूसरों पर ठीकरा फोड़ना : ऐसे लोग जिनकी जिंदगी में कुछ भी बुरा होता है तो वे कहते हैं कि फलां-फलां के कारण बुरा हुआ। खुद कभी जिम्मेदारी नहीं उठाते हैं। यदि ऐसे लोगों की जिंदगी में कुछ अच्छा हो जाता है तो कहते हैं कि मेरे कारण हुआ या मैंने किया। लेकिन बुरा होने पर कहते हैं कि दूसरों के कारण। जैसे, अच्छी नौकरी नहीं मिली मां बाप के कारण, जीवन में तरक्की नहीं कर पाया पत्नी के कारण। अगर परिवार मेरी बात मान लेता तो आज हालात कुछ और होते। ऐसे लोग अतीत का रोना रोते रहते हैं और हमेशा वही नाकारात्मक बातें सोचते रहते हैं जो कि वह सोचना नहीं चाहते हैं।
 
5. बुरी संगत को नहीं छोड़ना : कई लोग ऐसे होते हैं कि अपने दोस्त और दुश्मन की पहचान तो कर ही नहीं पाते हैं साथ ही वह यह भी कभी नहीं समझ पाते हैं कि मैं जिन लोगों के साथ रह रहा हूं वह कितने बुरे हैं जिसके कारण मेरा जीवन नर्क बना हुआ है। बुरी संगत में पड़ा व्यक्ति कभी भी अपनी संगत नहीं छोड़ पाता है और अधिकतर मौके पर वह उनके द्वारा इस्तेमाल होता रहता है। ऐसे लोग आपसे आपका सबकुछ छीन लेते हैं और आपको पता भी नहीं चलता है।
 
6. अहंकार और क्रोध : आपने देंखे होंगे ऐसे लोग जो छोटी-छोटी बात पर क्रोधित हो जाते हैं और परिवार और समाज का महौल खराब करते हैं। वे होते कुछ भी नहीं है परंतु उनका अहंकार या घमंड भी सातवें आसमान पर होता है। ऐसे लोग चाहते हैं कि हर समय लोग मेरा आदर करें भले ही वे कभी किसी का आदर नहीं करते हों। वे विनम्र नहीं हैं लेकिन चाहते हैं कि दूसरे लोग मुझसे विनम्रता से बात करें।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

अमृतधारा घर में कैसे बनाएं, जानिए 10 फायदे