भाजपा का कांग्रेस पर करारा प्रहार, जनता मध्यप्रदेश को नहीं बनने देगी 'कमीशननाथ की एटीएम' मशीन

शुक्रवार, 23 नवंबर 2018 (17:01 IST)
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मध्यप्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ को मनमोहन सिंह सरकार के भ्रष्टतम मंत्रियों में से एक बताते हुए शुक्रवार को कहा कि राज्य की जनता मध्यप्रदेश को कांग्रेस की 'एटीएम' (एनी टाइम मनी) मशीन नहीं बनने देगी।
 
 
भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. संबित पात्रा एवं जीवीएल नरसिंहराव ने यहां कहा कि कमलनाथ ने वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री के रूप में वर्ष 2007 से 2009 के बीच गैरबासमती चावलों के निर्यात में जमकर भ्रष्टाचार किया था जिसे कांग्रेस नेतृत्व ने पूरा संरक्षण दिया। टूजी, कोयला आदि घोटालों की केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो से जांच कराई गई लेकिन कमलनाथ के घोटाले को पूरी तरह से दबा दिया गया।
 
डॉ. पात्रा ने नीरा राडिया टेपकांड की याद दिलाते हुए कहा कि भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के तत्कालीन अध्यक्ष तरुण दास ने कहा था कि 2009 में कमलनाथ को उन्होंने ही सड़क परिवहन मंत्री बनवाया था और उन्हें 15 प्रतिशत कमीशन लेने की इजाजत थी। भाजपा प्रवक्ता ने उन टेपों के बातचीत के अंश उद्धृत करते हुए कहा कि 2009 में वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री बने आनंद शर्मा ने संसद में स्वीकार भी किया था कि चावल निर्यात में घोटाला हुआ था।
 
प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा यह चुनाव '15 वर्ष के विकास बनाम 15 प्रतिशत के कमीशन' के आधार पर लड़ रही है और कांग्रेस को पता है कि 15 वर्षों में बिजली, पानी, सड़क, रसोई गैस, पेंशन आदि सबकुछ मिला। 'सबका साथ, सबका सम्मान और सबका विकास' के नारे के साथ हर वर्ग के लोगों का विकास हुआ। इसे कांग्रेस भी मानती है तभी तो कमलनाथ मुसलमान भाइयों से एकजुट होकर सांप्रदायिक आधार पर उसे वोट देने की विनती कर रहे हैं। अन्यथा वे कहते कि भाजपा की सरकार उन्हें कुछ नहीं दे पाई तो कांग्रेस की सरकार देगी। उन्हें तो 90 प्रतिशत मुसलमानों और 15 प्रतिशत बेईमानों के वोट की दरकार है।
 
उन्होंने कहा कि कमलनाथ का सही नाम 'कमीशननाथ' होना चाहिए। कांग्रेस 90 प्रतिशत सीटों पर हार मान चुकी है। केवल 10 प्रतिशत की लड़ाई है। कमलनाथ ने मनमोहन सिंह सरकार ने अपने विभाग को एटीएम बना दिया था यानी 'एनी टाइम मनी' मशीन तथा उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष का संरक्षण था। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उन्हें पार्टी की मध्यप्रदेश इकाई की कमान भी इसीलिए दी है कि वे राज्य को लूटकर पार्टी के खजाने को भरें लेकिन मध्यप्रदेश में जनता ऐसा नहीं होने देगी। जनता राज्य को कांग्रेस की एटीएम मशीन नहीं बनने देगी।
 
डॉ. पात्रा ने हाल ही में कांग्रेस की विज्ञापन एजेंसी में भ्रष्टाचार की रिपोर्टों का उल्लेख करते हुए कहा कि जिस पार्टी के नेता अपनी ही पार्टी के अपने ही पैसे को नहीं छोड़ते हैं, वे मध्यप्रदेश के खजाने को कैसे छोड़ेंगे? कांग्रेस के लोग फेक न्यूज के सहारे अपनी दुकान चला रहे हैं। राव ने कांग्रेस अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि मध्यप्रदेश की जनता ने राहुल गांधी को साफ-साफ संदेश दे दिया है कि 'माफ करो युवराज, मध्यप्रदेश नहीं चाहता लुटेरों का राज।' उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह चौहान ही चौथी बार मुख्यमंत्री बनेंगे। (वार्ता)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख ट्वंटी-20 विश्वकप सेमीफाइनल में मिताली को बाहर बैठाने का पछतावा नहीं : हरमनप्रीत