मध्यप्रदेश के चुनावी रण में हिंदू-मुस्लिम सियासत की एंट्री, कमलनाथ के वायरल वीडियो पर बवाल

गुरुवार, 15 नवंबर 2018 (09:24 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश चुनाव में वोटों के ध्रुवीकरण के लिए अब हिंदू-मुस्लिम सियासत की एंट्री हो गई है। सोशल  मीडिया पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का एक विवादित वीडियो वायरल हुआ है। इसमें कमलनाथ संघ को  लेकर ऐसा कुछ कह रहे हैं जिसे मुद्दा बनाकर भाजपा अब कांग्रेस और कमलनाथ पर तुष्टिकरण करने की  राजनीति का आरोप लगा रही है।
 
वायरल वीडियो में कमलनाथ कह रहे हैं कि आज इनका आरएसएस वोटर क्या कर रहा है। आरएसएस के जो  कार्यकर्ता हैं वो क्या कर रहे हैं? मुझे जानकारी है आरएसएस के लोग उन्होंने फैलाए हुए हैं। मैं तो छिंदवाड़ा की बात करूं, मुझे तो उनके लोग आकर बता देते हैं।
 
वीडियो में कमलनाथ कह रहे हैं कि आरएसएस नागपुर से जुड़ा हुआ है। वहां तो उनके लिए सुबह जाओ, रात  को चले आओ और उनका एक ही स्लोगन है, अगर हिंदू को वोट नहीं है तो हिन्दू शेर मोदी को वोट दो, अगर  मुसलमान को वोट देना है तो कांग्रेस को वोट दो, केवल दो लाइन और कोई पाठ पढ़ाने नहीं जाते, ये इनकी  रणनीति है और इसमें आप सबको बड़ा सतर्क रहना पड़ेगा, आपको उलझाने की कोशिश करेंगे, हम निपट लेंगे  इनसे बाद में, लेकिन मतदान के दिन तक आपको सब कुछ सहना पड़ेगा।
 
कमलनाथ के इस वीडियो के वायरल होने के बाद सूबे की सियासत गर्मा गई है। भाजपा ने कमलनाथ पर प्रदेश की फिजा खराब करने का आरोप लगाया है। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि कमलनाथ हिन्दुओं  के सामने मुसलमानों को भला-बुरा और मुसलमानों के समाने हिन्दुओं को भला-बुरा कहते हैं और यही कांग्रेस  का असली चरित्र है।
 
संबित पात्रा ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि वह देश में फूट डालो और राज करो की नीति को लेकर  चल रही है और कमलनाथ जिस प्रकार से चुनाव के बाद हिन्दुओं और आरएसएस को निपटा देने की बात कर  रहे हैं, वह बहुत ही निंदनीय है।
 
बाद में वायरल वीडियो पर सफाई देने के लिए खुद कमलनाथ आगे आए और उन्होंने कहा कि वीडियो तीन  महीने पुराना है जिसमें वे लोगों को समझा रहे हैं और हर समाज की रक्षा का वादा कर रहे हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख बागियों पर भाजपा की सख्ती, 53 बागियों को पार्टी से निकाला