मोदी बोले, पहले जाति, फिर मां और अब पिता को गाली दी

रविवार, 25 नवंबर 2018 (19:00 IST)
विदिशा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस द्वारा उनकी मां के बाद पिता को भी राजनीति में घसीटे जाने पर कहा कि कांग्रेस अब मुद्दों के अभाव में ऐसी ओछी हरकतें कर रही है।
 
मध्यप्रदेश में 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा के पक्ष में रविवार को यहां एक आमसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बहुत दिक्कत होती है उनको, जब मुद्दे नहीं बचे, तर्क नहीं बचे,जो जनता का विश्वास खो चुके हैं, खुद पर भरोसा उठा चुका है। तब एक ही रास्ता बचा है। गाली गलौज, गाली गलौज।
 
उन्होंने कहा, 'मैं हैरान हूं और ये नामदार कांग्रेस पार्टी के मुखिया। ये जो कुछ भी चल रहा है, उसको वे समर्थन दे रहे हैं।'
 
मोदी ने कहा, 'मैं हैरान था दो दिन पहले कांग्रेस के एक नेता हमारी माताजी को चुनाव में घसीट लाये। हमारी माताजी जिसने बेचारी ने मध्य प्रदेश कहां है, यह भी देखा नहीं। जो राजनीति का ‘‘र’’ नहीं जानतीं। अपने छोटे से कमरे में प्रभु पूजा में जीवन बिता रही हैं। क्या मेरी मां को इस प्रकार से घसीटना उचित था। क्या आपके पास यही मुद्दा बचा है।'
 
प्रधानमंत्री ने आगे कहा, 'मैं सोच रहा था, शायद कांग्रेस पार्टी सबक सीखेगी लेकिन आज मैंने देखा टीवी, सोशल मीडिया में चल रहा है, मेरी मां को घसीटने से कुछ मिला नहीं। आज मेरे पिताजी को घसीटकर ले आए। मेरे पिताजी, जो 30 साल पहले ये दुनिया छोड़कर चले गए। मेरे परिवार की सौ पीढ़ी में भी किसी का राजनीति से संबंध नहीं है। छोटा सा गांव, गरीब परिवार जैसा होता है, वैसी जिंदगी गुजारने वाले हम लोग। क्या कारण है, आज मेरे पिता जी को भी घसीटकर ले आए, जो 30 साल पहले दुनिया छोड़कर चले गए हैं।' 
 
उन्होंने कहा, 'और कांग्रेस के नामदार (कांग्रेस अध्यक्ष) कहते हैं कि मोदी जी भी तो मेरे परिवार के लिए बोलते हैं। अरे नामदार, हम आपके परिवार के किसी भी व्यक्ति के लिए नहीं बोलते हैं। हम देश के भूतपूर्व प्रधानमंत्रियों के लिए बोल रहे हैं। हम देश के भूतपूर्व कांग्रेस नेताओं के खिलाफ बोल रहे हैं। उनके काम का हिसाब मांग रहे हैं। अगर मेरे परिवार का कोई भी व्यक्ति राजनीति में है। सार्वजनिक जीवन में है तो श्रीमान नामदार आपको भी हक है मेरे परिवार के बाल नोंच लेने का। अगर वह राजनीति में है तो, अगर वह सत्ता के गलियारों में है तो। 
 
मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष की ओर इशारा करते हुए कहा कि आपका पूरा परिवार देश के शीर्षस्थ स्थानों पर रहा है, दल के शीर्षस्थ स्थानों पर रहा है, इसलिये जितना मोदी पर आप सवाल पूछ सकते हैं, जितना मोदी जवाबदेह है, उतना ही आपका परिवार भी जवाबदेह है, ये लोकतंत्र है।
 
उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष से कहा कि आप ये तर्क देकर गाली गलौज करने वाले अपने साथियों का बचाव मत कीजिये। और आप मुझे बताइये कांग्रेस में कोई ऐसा है जो नामदार की इच्छा के सिवाय बोल सके। कांग्रेस में गली का कार्यकर्ताओं हो या दिल्ली का, वो नामदार की इजाजत के बिना बोल ही नहीं सकता है। 
 
उल्लेखनीय है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री विलास मुत्तेमवार ने शनिवार को राजस्थान में कांग्रेस की एक जनसभा के दौरान कहा था, 'आपके (मोदी के) प्रधानमंत्री बनने से पहले आपको जानता कौन था? अब भी आपके पिता का नाम कोई नहीं जानता, लेकिन हर कोई (कांग्रेस अध्यक्ष) राहुल गांधी के पिता का नाम जानता है।'
 
विदिशा में आमसभा में मोदी ने कांग्रेस पर आपा खोने का आरोप लगाते हुए कहा कि आपने देखा होगा कि ये झूठ पे झूठ बोले जा रहे हैं, अनाप-शनाप बोले जा रहे हैं। और बोल के चले जाओ सबूत-वबूत कुछ देना नहीं। अब तो आदत ऐसी हो गई है।
 
उन्होंने कहा कि अब तो यहां के युवाओं को भी चोर और नकलची कहना शुरू कर दिया है। पहले मोदी को चोर कहते थे। अब कहते हैं यहां के युवा परीक्षा में चोरी, नकल करते हैं। क्या करते हैं, क्या आप। यह आपका अपमान है, ये पूरे मध्य प्रदेश के नौजवानों का अपमान नहीं है क्या। क्या भाषा बोल रहे हैं ये। मोदी के लिये कुछ भी बोल दिया। अब उससे आपका पेट नहीं भरा तो युवाओं को चोर बोल रहे हैं। कितना संतुलन खो दिया कांग्रेस के नेताओं ने, यह इसका यह जीता जागता उदाहरण है।
 
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भाजपा ने विकास के मुद्दे को ही हमारा मंत्र बनाया है। विकास हमारे लिए चुनावी मुद्दा नहीं है। विकास हमारे लिए आजादी के दीवानों के सपनों का भारत बनाने का एक मजबूत रास्ता है। हम केवल विकास, विकास और तेज विकास करना चाहते हैं। (भाषा) 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख अमिताभ ने इस तरह की बीएमसी की मदद, यूपी के किसानों का चुकाया था कर्ज