वायुसेना अधिकारी वाघा बॉर्डर पहुंचे, 'अभिनंदन' के लिए उमड़ा हिंदुस्तान

शुक्रवार, 1 मार्च 2019 (12:40 IST)
वाघा। विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान पाकिस्तान की हिरासत से रिहा होकर भारत-पाकिस्तान की यहां स्थित संयुक्त सीमा से शुक्रवार को स्वदेश पहुंचेंगे। पाकिस्तान स्थित भारतीय उच्चायोग में तैनात ग्रुप कैप्टन जेडी कूरियन उन्हें यहां लेकर आएंगे। इस बीच, वायुसेना के अधिकारी भी अभिनंदन को रिसीव करने के लिए वाघा बॉर्डर पहुंच गए हैं। 
 
 
इस बीच सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान सरकार ने अभिनंदन को सायं चार बजे भारतीय उच्चायोग अधिकारियों को सौंपने का ऐलान किया है। इसके बाद ही उनके यहां वाघा सीमा पर पहुंचने की संभावना है।
 
  
उधर, अपने अपने रियल टाइम ‘हीरो‘ अभिनंदन की स्वदेश वापसी पर उनके स्वागत के लिए देशवासी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। पंजाब समेत देश के विभिन्न हिस्सों से बड़ी संख्या में लोगों का यहां पहुंचना शुरू हो गया है। वाघा सीमा पर सुबह चार बजे से ही देश के दूरदराज से हिस्से से लोग यहां पहुंच रहे हैं।
 
 
इनमें ज्यादातर अमृतसर और पंजाब के विभिन्न जिलों से हैं। सीमा पर भारतीय क्षेत्र में इस समय जश्न का माहौल है। अभिनंदन के भारतीय क्षेत्र में प्रवेश करने पर ढोल-नगाड़ों और फूल मालाओं के साथ उनका भव्य स्वागत होगा। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदरसिंह भी इस मौके पर यहां पहुंच सकते हैं।
 
   
भारतीय वायुसेना ने भी विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई की घोषणा का स्वागत करते शुक्रवार को कहा कि वह पायलट की वतन वापसी देखना चाहता है। वायुसेना के सूत्रों के अनुसार विंग कमांडर अभिनंदन के स्वागत के लिए उसकी एक टीम वाघा सीमा पर पहुंचेगी।
 
 
उल्लेखनीय है कि भारत के किसी भी शर्त को न मानने तथा उसके और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के बढ़ रहे दबाव के आगे झुकते हुए पाकिस्तान ने अभिनंदन को वापस भेजने का गुरुवार को ऐलान किया था। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने संसद का आपात सत्र बुलाकर उसमें ‘शांति की खातिर‘ तथा दोनों देशों के बीच तनाव घटाने के लिए अभिनंदन को बिना शर्त वापिस भारत भेजने की घोषणा की थी।
 
 
हालांकि इससे पहले पाकिस्तान ने बातचीत की टेबल पर आने की शर्त के साथ अभिनंदन को भारत को सौंपने की जिद की थी। भारत की ओर से इस पेशकश पर कोई प्रतिक्रिया नहीं होने, नई दिल्ली में बढ़ती हलचल, भारत की ओर से अभिनंदन को छुड़ाने के लिए किसी बड़ी कार्रवाई की आशंका तथा अंतरराष्ट्रीय समुदाय में अलग-थलग पड़ जाने पर पाकिस्तान ने बातचीत करने की रट छोड़ दी और अभिनंदन की बिना शर्त रिहाई की घोषणा की थी।
 
 
बालाकोट तथा अन्य क्षेत्रों में भारतीय वायुसेना के हवाई हमले से बौखलाए पाकिस्तान ने बुधवार सुबह भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की हिमाकत की थी। उसके विभिन्न हवाई ठिकानों से युद्धक विमान उड़ान भरकर भारत के पुंछ और राजौरी क्षेत्रों में घुस आए थे। रेडार की पकड़ में आते ही भारत ने अपने मिग-21 बाईसन और सुखोई-30 विमानों को इनसे मुकाबले के लिए भेजा था।

 
इस दौरान ‘डॉग फाईट‘ में पाकिस्तान का एफ-16 विमान मार गिराया गया, लेकिन एक मिग-21 बाईसन विमान भी इस दौरान क्रैश हो गया और इसे चला रहे विंग कमांडर अभिनंदन पैराशूट से सुरक्षित कूद गए। उनका पेराशूट सीमा पार उतरा और दुश्मन की जमीन पर होने का अहसास होते ही और वहां के सुरक्षा बलों के हिरासत में लिए जाने से पहले ही उन्होंने अपने पास मौजूद संवेदनशील दस्तावेजों को नष्ट कर दिया।
 
 
बताया जाता है कि इनमें से कुछ को तो वह चबा गये। हिरासत में लिए जाने के बाद पाकिस्तानी सुरक्षा बलों और स्थानीय लोगों ने अभिनंदन के साथ बदसलूकी और मारपीट की थी। पाकिस्तान की ओर से जारी किए गए पूछताछ के वीडियो में भी अभिनंदन बेखौफ नजर आए थे तथा उन्होंने पूछताछ में कोई भी संवेदनशील जानकारी देने से मना किया था। 
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख ममता बनर्जी को नहीं विश्‍वास, मांगे एयर स्ट्राइक के सबूत, मोदी से पूछा- कितने आतंकी मारे?