नसीरुद्दीन शाह के बयान पर बवाल के बाद भाजपा ने पाकिस्तान को दी यह सीख...

सोमवार, 24 दिसंबर 2018 (16:56 IST)
नई दिल्ली। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की मोदी सरकार को अल्पसंख्यकों के साथ व्यवहार की पाठ पढ़ाने वाली टिप्पणी के एक दिन बाद रविवार को भाजपा ने कहा कि पाकिस्तान 'टेरररिस्तान' है और वह भारत को नसीहत न दें।


भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि पाकिस्तान ने 9/11 हमले के मास्टरमाइंड ओसामा बिन लादेन को शरण दी थी और वह तालिबान को अपना दोस्त मानता है। पात्रा ने कहा कि पाकिस्तान, जो कि टेरररिस्तान है, ने ओसाबा बिन लादेन को अपने यहां शरण दी थी। उसे हमें कुछ सिखाने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि इमरान खान कांग्रेस को बहुत कुछ सिखा सकते हैं क्योंकि यह पुरानी पार्टी पाकिस्तान को देवदूत के समान समझती है।

प्रवक्ता ने यह बात पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा पाकिस्तानी प्रधानमंत्री की बार-बार प्रशंसा किए जाने को लेकर की। इससे पूर्व केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी पाकिस्तान पर करारा हमला करते हुए कहा था कि टेरर नेशन को भारत को यह शिक्षा देने की जरूरत नहीं है कि धार्मिक अल्पसंख्यकों से कैसा व्यवहार किया जाए। सिंह ने कहा कि अब पाकिस्तान जैसा आतंकी देश हिन्दुस्तान को बताएगा कि अल्पसंख्यकों के साथ कैसे बर्ताव किया जाता है।

उन्होंने कहा कि आजादी के बाद पाकिस्तान में हिन्दुओं की आबादी 23 प्रतिशत से दो प्रतिशत पर आ गई है, जबकि भारत में मुसलमानों की आबादी आठ प्रतिशत से 20 प्रतिशत हो गई है। उन्होंने कहा कि भारत में सब फलफूल रहे हैं। दोनों देशों के बीच शब्दों के बाण का सिलसिला नसीरुद्दीन शाह की एक टिप्पणी पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के मोदी सरकार को अल्पसंख्यकों के साथ बर्ताव करने की नसीहत वाले बयान पर शुरू हुआ।

भारत ने मंगलवार को भी पाकिस्तान को चेताया था कि वह आंतरिक मामलों में हस्ताक्षेप नहीं करे और बेहतर होगा कि वह अपने देश में मची उथल-पुथल पर ध्यान दे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा था कि पाकिस्तान अपने घर पर ध्यान दे तो बेहतर होगा। उसके यहां अराजकता का माहौल है। भारत की यह टिप्पणी शाह के उस बयान पर आई थी, जिसमें उन्होंने कश्मीर में हिंसा के लिए सुरक्षाबलों को दोषी ठहराया था।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING