Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Pulwana Attack दोहराने की साजिश, जम्मू-कश्मीर पुलिस ने किए सिलसिलेवार खुलासे

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
रविवार, 14 फ़रवरी 2021 (23:10 IST)
जम्मू। जम्मू-कश्मीर के जम्मू में भीड़भाड़ वाले एक बस स्टैंड के नजदीक से एक नर्सिंग छात्र के पास से रविवार को शक्तिशाली आईईडी बरामद किया गया। विस्फोटक की बरामदगी होने से एक बड़ी घटना टल गई और पुलवामा हमले की दूसरी बरसी पर विस्फोट करने की आतंकवादियों की साजिश नाकाम हो गई। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि छात्र और 3 अन्य को गिरफ्तार कर लिया गया है।
 
जम्मू रेंज के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) मुकेश सिंह ने बताया कि एक अलग अभियान में सांबा जिले से 6 पिस्तौलें और 15 छोटे आईईडी जब्त किए गए हैं।
 
उन्होंने यहां पत्रकारों को बताया कि पिछले चार दिनों में हम हाईअलर्ट पर थे क्योंकि सामान्य खुफिया सूचना थी कि आतंकी समूह पुलवामा हमले की दूसरी बरसी पर जम्मू शहर में एक बड़ा विस्फोट की फिराक में हैं। सभी महत्वपूर्ण स्थानों की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी और जांच तेज कर दी गई थी। 
 
सिंह के साथ पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह भी थे। उन्होंने बताया कि एक युवक को बस स्टैंड क्षेत्र में एक बैग के साथ संदिग्ध रूप से घूमते पाया गया। उसके पास से करीब 7 किलोग्राम आईईडी बरामद किया गया। हालांकि अभी विस्फोटक को सक्रिय नहीं किया गया था।
 
आईजी ने आरोपी की पहचान पुलवामा के नेवा गांव निवासी सुहैल बशीर शाह के तौर पर बताई है जो चंडीगढ़ के एक कॉलेज से नर्सिंग का पाठ्यक्रम कर रहा है। पाकिस्तान में बैठे आतंकी संगठन अल बद्र से संबद्ध उसके आकाओं ने उसे जम्मू में आईईडी रखने का काम सौंपा था।
उन्होंने बताया कि उसे चार लक्ष्य दिए गए थे जिनमें (प्रसिद्ध) रघुनाथ मंदिर, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और लखदाता बाजार शामिल थे और उसे अपना काम पूरा करने के बाद एक उड़ान से श्रीनगर जाना था।'
 
सिंह ने बताया कि अल बद्र का सक्रिय सदस्य अतहर शकील खान उसे श्रीनगर हवाई अड्डे पर लेने आता। खान को गिरफ्तार कर लिया गया है। आईजी ने बताया कि कश्मीर के उसके साथी छात्र काज़ी वसीम को इस योजना के बारे में पता था और उसे चंडीगढ़ से हिरासत ले लिया गया है जबकि उसके एक अन्य सहयोगी आबिद नबी को श्रीनगर से गिरफ्तार किया गया है।'
webdunia
उन्होंने बताया कि बम निष्क्रिय दस्ता आईईडी की जांच कर रहा है और अभी यह स्पष्ट नहीं है कि उपकरण बनाने में आरडीएक्स का इस्तेमाल किया गया है या नहीं। बहरहाल, उन्होंने कहा कि वक्त पर आईईडी की बरामदगी से जम्मू क्षेत्र में बड़ी घटना टल गई है।
 
सिंह ने बताया कि एक अन्य सफल अभियान में पुलिस ने 13 और 14 फरवरी की दरमियानी रात को सांबा जिले में रामगढ़ के जंग इलाके में गश्त के दौरान 6 पिस्तौल, बड़ी मात्रा में गोला-बारूद और 15 छोटे आईईडी जब्त किए हैं। उन्होंने कहा कि वे इस बात की जांच कर हैं कि यह हथियार और गोला-बारूद कहां से आए थे और कहां जा रहे थे।
 
आईईडी की बरामदगी से कुछ दिन पहले ही जम्मू के कुंजवानी और सांबा के बारी ब्राह्मना से दो शीर्ष आतंकवादियों की गिरफ्तारी की गई थी। गौरतलब है कि 'द रिज़िस्टन्स फ्रंट ' (टीआरएफ) के शीर्ष आतंकवादी जहूर अहमद राठेर को शनिवार को सांबा के बारी ब्राह्मना से गिरफ्तार किया गया। वह पिछले साल भाजपा के तीन नेताओं और एक पुलिस कर्मी की हत्या के सिलसिले में वांछित था।
 
इससे पहले 6 फरवरी को पुलिस ने लश्कर-ए-मुस्तफा के स्वयंभू कमांडर हिदायतुल्लाह मलिक उर्फ हसनैन को जम्मू के कुंजवानी से गिरफ्तार किया था। 14 फरवरी 2019 को पाकिस्तान प्रायोजित जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर दिया था जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे। (भाषा) 

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
गुजरात के CM विजय रूपाणी की तबीयत बिगड़ी, मंच पर अचानक गिरे